ऑस्ट्रेलिया ओपन : फेडरर 15वीं बार सेमीफाइनल में, जोकोविच से होगा  मुकाबला 

मेलबर्न : स्विटजरलैंड के दिग्गज रोजर फेडरर चमत्कार में विश्वास करते हैं और ऐसा ही चमत्कार उन्होंने मंगलवार को यहां आस्ट्रेलियाई ओपन में दिखाया जब इस 38 वर्षीय खिलाड़ी ने सात मैच प्वाइंट बचाकर वर्ष के पहले ग्रैंडस्लैम के सेमीफाइनल में जगह बनायी।
100वीं रैंकिंग वाले सैंडग्रेन को 5 सेटों तक चले मैच में हराया
छह बार के चैंपियन फेडरर ने चौथे सेट में 4.5 के स्कोर पर तीन और फिर टाईब्रेकर में चार मैच प्वाइंट बचाये करारे शॉट जमाने में माहिर और कोर्ट पर चपल टैनिस सैंडग्रेन को पांच सेट तक चले क्वार्टर फाइनल मुकाबले में 6-3, 2-6, 2-6, 7-6 (10-8), 6-3 से हराया। फेडरर की जीत की भूख अब भी पहले की तरह बरकरार है और उन्होंने समय समय पर इसे जाहिर किया था। अपने से दस साल छोटे और 100वीं रैंकिंग के अमेरिकी खिलाड़ी के खिलाफ भी उन्होंने अपने जोश, जज्बे और भरोसे को दिखाकर यादगार वापसी की और 15वीं बार आस्ट्रेलियाई ओपन के अंतिम चार में प्रवेश किया। दिन का दूसरा क्वार्टरफाइनल वर्ल्ड नंबर-1 सर्बिया के नोवाक जोकोविच और कनाडा के मिलोस राओनिक के बीच खेला गया। जोकोविच ने राओनिक को 6-4, 6-3, 7-6(1) से हराकर सेमीफाइनल में अपना स्थान पक्का किया। सेमीफाइनल में जोकोविच का मुकाबला फेडरर से होगा। दोनों 50वीं बार आमने-सामने होंगे।
‘कभी कभी भाग्य भी साथ देता है’
इस बीच फेडरर को अभद्र भाषा का उपयोग करने के लिये चेतावनी भी मिली। इसके बाद तीसरे सेट में वह ग्रोइन की चोट के लिये कोर्ट से बाहर भी गये और बाद में उन्होंने दायें पांव की मालिश के लिये एक ट्रेनर की मदद ली। फेडरर ने बाद में कहा, ‘‘मैं चमत्कार में विश्वास करता हूं। कभी कभी भाग्य भी आपका साथ देता है। ’सैंडग्रेन ने दूसरा और तीसरा सेट जीतने के बाद चौथे सेट में 5.4 से बढ़त बना रखी थी। फेडरर की सर्विस पर उनके पास तीन मैच प्वाइंट थे। पहले पर सैंडग्रेन ने बैकहैंड नेट पर मार दिया। दूसरे में उनका फोरहैंड बाहर चला गया और तीसरे में फोरहैंड नेट पर जा लगा।यह गेम टाईब्रेकर तक खिंचा जिसमें स्कोर एक समय 3-3 से बराबर था। सैंडग्रेन ने अगले तीन अंक जीते और अब उन्हें जीत के लिये एक अंक की जरूरत थी। फेडरर ने दूसरे सेट प्वाइंट पर स्कोर 2-2 से बराबर किया और फिर पांचवां सेट जीतकर सेमीफाइनल में प्रवेश किया।
बार्टी ने पेत्रा क्वितोवा को सीधे सेटों में हराया
इस बीच महिला वर्ग में विश्व की नंबर एक खिलाड़ी एशलीग बार्टी ने पेत्रा क्वितोवा को सीधे सेटों में हराकर सेमीफाइनल में प्रवेश किया जहां उनका सामना अमेरिका की 14वीं वरीयता प्राप्त सोफिया केनिन से होगा। आस्ट्रेलिया की शीर्ष वरीयता प्राप्त बार्टी ने पहले सेट में जूझने के बाद चेक गणराज्य की सातवीं वरीय क्वितोवा को 7-6 (8/6), 6-2 से हराकर यहां पहली बार सेमीफाइनल में जगह बनायी। इस तरह से 23 साल की बार्टी ने दो बार की विंबलडन चैंपियन क्वितोवा से पिछले साल क्वार्टर फाइनल में मिली हार का बदला भी चुकता कर दिया। बार्टी 1978 में क्रिस ओ नील की खिताबी जीत के बाद मेलबर्न में खिताब जीतने वाली पहली आस्ट्रेलियाई महिला खिलाड़ी बनने की कवायद में है। इस बीच सोफिया केनिन ने टूनीशिया की ओनस जाबेर के विजय अभियान पर रोक लगाकर पहली बार किसी ग्रैंडस्लैम के सेमीफाइनल में प्रवेश किया। उन्होंने गैरवरीयता प्राप्त जाबेर को 6-4, 6-4 से हराया।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राजस्थान रॉयल्स के सामने केकेआर की कड़ी परीक्षा

दुबई : कोलकाता नाइटराइडर्स (केकेआर) को अगर आईपीएल में अपना अभियान पटरी पर बनाये रखना है तो उसे बेहतरीन फार्म में चल रहे राजस्थान रॉयल्स आगे पढ़ें »

सनराइजर्स ने रोका दिल्ली का विजय रथ, राशिद-भुवनेश्वर का चला जादू

अबुधाबी : आईपीएल के 13वें सीजन का 11वां मुकाबला दिल्ली कैपिटल्स और सनराइजर्स हैदराबाद के बीच अबुधाबी में खेला गया। इस मुकाबले में दिल्ली के आगे पढ़ें »

ऊपर