आदिल के गोल से भारत ने बांग्लादेश को बराबरी पर रोका

कोलकाता : आदिल खान के आखिरी क्षणों में किये गये गोल की मदद से भारत ने फीफा विश्व कप क्वालीफायर मैच में मंगलवार को यहां बांग्लादेश को 1-1 से ड्रा पर रोका लेकिन इससे उसके क्वालीफाई करने की उम्मीदों को करारा झटका लगा है। कतर के खिलाफ पिछले मैच में गोलरहित ड्रा खेलने वाले भारत को इस मैच में जीत दर्ज करनी चाहिए थी लेकिन उसने गोल करने के कई मौके गंवाये और इस बीच बांग्लादेश को गोल करने का सुनहरा मौका भी प्रदान किया। इस मैच में भी अंक बांटने से भारत की ग्रुप ई में आगे की राह मुश्किल हो गयी है। भारत तीन मैचों में दो अंक लेकर ग्रुप में चौथे स्थान पर है। बांग्लादेश को साद उदीन ने 42वें मिनट में बढ़त दिलायी थी लेकिन आदिल खान ने 89वें मिनट में बराबरी का गोल करके भारतीय टीम को शर्मसार होने से बचा दिया। इस तरह से भारतीय टीम का पिछले 20 वर्षों में बांग्लादेश पर जीत दर्ज करने का इंतजार बना रहा। उसने अपने इस पड़ोसी देश को आखिरी बार 1999 में सैफ खेलों में हराया था। भारतीय टीम ने आक्रामक रवैया नहीं अपना पायी तथा तालमेल नहीं होने के कारण उसने गोल गंवाया। राहुल भेके की बायें छोर से लगायी गयी फ्री किक को बांग्लादेश के कप्तान जमाल भुयां ने अपने कब्जे में किया। उन्होंने उसे भारतीय गोल की तरफ पहुंचाया लेकिन गोलकीपर गुरप्रीत सिंह संधू उसे बाहर नहीं कर पाये और साद ने हेडर से गेंद गोल में पहुंचा दी। भारत ने दूसरे हाफ में अपनी पूरी ताकत गोल करने में लगा दी, इस बीच भारतीय टीम कम से कम तीन अवसरों पर गोल करने के बेहद करीब थी लेकिन उसे नाकामी हाथ लगी। ऐसे समय में जब भारतीय टीम पर हार का खतरा मंडरा रहा था तब आदिल ने महत्वपूर्ण गोल करके टीम को अंक दिलाया। सुनील छेत्री ने इससे ठीक पहले गोल करने का शानदार अवसर गंवाया था लेकिन आदिल ने ऐसी कोई गलती नहीं की। भारत अब 14 नवंबर को अफगानिस्तान और 19 नवंबर को ओमान से उनकी सरजमीं पर भिड़ेगा।

शेयर करें

मुख्य समाचार

Rain of currency

आधे घंटे तक हुई नोटों की बारिश, लूटने के लिए लोगों में होड़

कोलकाता : महानगर में डलहौजी इलाके के बेंटिक स्ट्रीट मेें बुधवार की दोपहर अचानक एक कमर्शियल बिल्डिंग से नोटों की बारिश होने लगी। दरअसल, हुआ आगे पढ़ें »

Hemant Biswa Sarma

असम सरकार ने मोदी सरकार से एनआरसी बिल रद्द करने अपील की

नई दिल्ली : असम सरकार ने केंद्र सरकार से हाल में जारी किए गए नैशनल रजिस्टर ऑफ सिटिजन्स (एनआरसी) बिल को रद्द करने की अपील आगे पढ़ें »

ऊपर