आईपीएल की टाइटल प्रायोजक की दौड़ में शामिल हुई पंतजलि

नई दिल्ली : इंडियन प्रीमियर लीग के टाइटल प्रायोजक की दौड़ में एक और कंपनी का नाम सामने आ रहा है। चीनी मोबाइल कंपनी वीवो के इस साल के लिए टाइटल प्रायोजक से हटने के बाद योगगुरु बाबा रामदेव की कंपनी पंतजलि इस दौड़ में शामिल हो गई है। कंपनी की ओर से इस बात की पुष्टि भी हो गई है। पंतजलि के प्रवक्ता एसके तिजारावाला ने इस बात की पुष्टि भी की है। तिजारावाला ने कहा, ‘हम इस साल आईपीएल की टाइटल प्रायोजक के बारे में सोच रहे हैं, क्योंकि हम पतंजलि ब्रांड को एक वैश्विक मंच पर ले जाना चाहते हैं।’ उन्होंने यह भी कहा कि वह भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड को इसके लिए एक प्रस्ताव भेजने की तैयारी में हैं। सूत्रों के मुताबिक राष्ट्रीय ब्रांड के तौर पर पंतजलि का दावा बहुत मजबूत है लेकिन उसमें एक अंतरयराष्‍ट्रीय ब्रांड के तौर पर स्टार पावर की कमी है। भारत और चीन के बीच तनाव के चलते चीनी मोबाइल फोन निर्माता कंपनी वीवो ने इस साल टाइटल स्पॉन्सरशिप से हटने का फैसला किया था। इसके बाद भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड ने भी इस पर मुहर लगा दी थी। वीवो टाइटल स्पॉन्सशिप के लिए हर साल बीसीसीआई को 440 करोड़ रुपये का भुगतान करता है। हालांकि बोर्ड ने वीवो के अगले साल वापसी का रास्ता खुला रखा है। वीवो और आईपीएल का अनुबंध साल 2022 तक का है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

केएल राहुल दिखाए कि वह जिम्मेदारी संभाल सकते हैं : गावस्कर

नई दिल्ली : जब महेंद्र सिंह धोनी टीम इंडिया के कप्तान थे, यह साफ था कि कप्तानी की दौड़ में अगला शख्स कौन था। विराट आगे पढ़ें »

पायल से जुड़ा मीटू केस : अनुराग के समर्थन में आयीं उनकी पूर्व पत्नी और कई अन्य कलाकार

मुंबई : फिल्म निर्देशक अनुराग कश्यप पर अभिनेत्री पायल घोष के यौन उत्पीड़न के आरोप के बाद उनकी पूर्व पत्नी और फिल्म एडिटर आरती बजाज, आगे पढ़ें »

ऊपर