अंतरराष्ट्रीय लीगों में खेलना चाहता है यह भारतीय बल्लेबाज

अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से ले सकते हैं संन्यास

नई दिल्लीः भारतीय टीम के दिग्गज बल्लेबाज युवराज सिंह ने अब आखिरकार अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट को अलविदा कहने का मन बना लिया है। सीमीत ओवर के धमाकेदार खिलाड़ी युवराज सिंह ने संन्यास लेने का इरादा इसलिए किया है कि अब वे फ्रीलांस क्रिकेट करियर चाहते हैं। युवराज चाहते हैं कि वे आईसीसी द्वारा स्वीकृत टी20 लीग में खेल सकें।

भारतीय टीम के लिए खेलने की संभावना बेहद कम

इसके लिए युवराज को घरेलू और अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट को अलविदा कहना होगा। इसके बाद ही बीसीसीआई इन टी-20 लीग्स में खेलने की इजाजत देगी। पंजाब के रहने वाले बाएं हाथ के बल्लेबाज युवराज ने इसके लिए बीसीसीआई से परमीशन की मांग की है। ऐसा इसलिए भी है कि अब 37 वर्षीय युवराज के पास टीम इंडिया के लिए खेलने का कोई मौका नहीं है।

इन लीगों से आया है ऑफर

इस बात को लेकर बीसीसीआई से जुड़े सूत्रों ने कहा है ‘युवराज अंतरराष्ट्रीय और प्रथम क्लास क्रिकेट से संन्यास लेने के बारे में सोच रहे हैं। युवराज के पास इस समय देश के लिए खेलने का कोई मौका नहीं है। लेकिन, उन्हें जीटी-20 (कनाडा), आयरलैंड के यूरो टी-20 स्लैम और हॉलैंड की टी-20 लीग से ऑफर आया है। लेकिन, इसके लिए युवराज को बीसीसीआई की इजाजत चाहिए होगी।’

बीसीसीआई के अधिकारी ने ये भी बताया है कि इरफान पठान कैरेबियन प्रीमियर लीग से अपना नाम वापस लेंगे क्योंकि वह बीसीसीआई की परमीशन के बाद एक्टिव फर्स्ट क्लास प्लेयर हैं। वहीं, युवराज सिंह को लेकर बीसीसीआइ के सूत्रों का कहना है कि इससे संबंधित नियम देखे जाएंगे। यहां तक कि यदि वह फर्स्ट क्लास क्रिकेट से संन्यास लेंगे तब भी वे बीसीसीआई के अंदर एक टी20 प्लेयर के रूप में दर्ज रहेंगे।

आईपीएल में भी अधिक मौके नहीं मिले

युवराज ने हाल ही में मुंबई इंडियंस के लिए आईपीएल का 12वां सीजन खेला था। आइपीएल 2019 में मुंबई की ओर से युवराज को कम ही मौके मिले। ऐसे में युवराज अपने फ्यूचर प्लान के बारे में सोच रहे हैं। हालांकि, बीसीसीआई के अधिकारी का मानना है कि अगर कोई खिलाड़ी संन्यास लेकर बिग बैश, सीपीएल और बीपीएल में खेलना चाहता है तो इसे अनुमति है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

hongkong

हांगकांग ‘लोकतंत्र अधिनियम’ पारित, चीन ने दी कड़ी प्रतिक्रिया

वाशिंगटन : हांगकांग में लोकतंत्र समर्थक प्रदर्शनकारियों की मांग वाले एक विधेयक को अमेरिकी प्रतिनिधि सभा ने मंगलवार को पारित कर दिया, जिसका उद्देश्य उस आगे पढ़ें »

रतन टाटा खुद को मानते हैं ‘एक्सीडेंटल स्टार्टअप निवेशक’, कई बड़ी कंपनियों में है हिस्सेदारी

नई दिल्ली : उद्योगपति और टाटा समूह के चेयरमैन रतन टाटा ने खुद को 'एक्सीडेंटल स्टार्टअप निवेशक' माना है। उन्होंने दर्जनभर से ज्यादा स्टार्टअप कंपनियों आगे पढ़ें »

court

अयोध्या मामले पर सुप्रीम कोर्ट ने 40 दिन की सुनवाई के बाद फैसला सुरक्षित रखा

ayodhya

अयोध्या मामला : मुस्लिम धर्मगुरुओं ने कहा, शीर्ष न्यायालय के फैसले को स्वीकार किया जाना चाहिए

अमेरिकी प्रतिबंधों के पालन के लिए भारत अपना नुकसान नहीं करेगा: वित्त मंत्री

russia

तुर्की और सीरिया की लड़ाई में रूस बना दीवार, तैनात की अपनी आर्मी

sitaraman

अनुच्छेद 370 को हटाए जाने के बाद ‘मानवाधिकार’ विश्व स्तर पर ज्वलंत शब्द बन गया : सीतारमण

chetak

बजाज ने पेश किया इलेक्ट्रिक चेतक स्कूटर, सामने आया पहला लुक

rail

रेलवे ने शुरू की नई योजना, अब फिल्म प्रमोशन के लिए हो सकेगी ट्रेनों की बुकिंग

modi

पीएम मोदी बोले- राष्ट्र निर्माण का आधार है सावरकर के संस्कार

ऊपर