सरकार ने बताया – ट्रेनों मे लगातार बढ़ रहे है दुष्कर्म के मामले

Government told - cases of rape are increasing in trains

नई दिल्ली : देश की सड़कों-गलियों में तो बहू-बेटियां सुरक्षित थी ही नहीं, अब यात्रा के लिए सबसे सुरक्षित मानी जाने वाली ट्रेनों में भी महिलाओं के प्रति अपराध बढ़ते जा रहे हैं। स्वयं रेलमंत्री पीयूष गोयल ने ‌लोकसभा में आंकड़े देकर स्वीकार किया कि भारतीय ट्रेनों में दुष्कर्म के मामले प्रति वर्ष बढ़ते जा रहे है। ‌लोकसभा में एक सवाल के जवाब में गोयल ने कहा कि ट्रेनों में 2013 से 2018 के बीच में 189 दुष्कर्म के मामले सामने आये हैं। अागे रेलमंत्री ने कहा कि रेप के साथ लूट के मामले भी बढ़ रहे हैं। 2013 से 2018 के बीच ट्रेनों में लूट की 4697 घटनाएं सामने आई हैं।

रेप के आंकड़े बताते हैं कि सबसे ज्यादा रेप उत्तर रेलवे की ट्रेनों में हुए हैं। 2013 से 2018 के बीच सबसे ज्यादा रेप के 42 मामले उत्तर रेलवे जोन की ट्रेनों में सामने आए। इसके बाद रेप के 36 मामलों के साथ मध्य रेलवे दूसरे स्‍थान पर और 33 मामलों के साथ पश्चिम मध्य रेलवे तीसरे स्‍थान पर है। सबसे सुरक्षित ट्रेनें दक्षिण रेलवे और दक्षिण पश्चिम रेलवे जोन की हैं। 2013 से 2018 के बीच दोनों जोन में रेप के सिर्फ 1-1 मामले सामने आए हैं। सबसे ज्यादा साल 2017 से 2018 के बीच में रेप के 69 मामले सामने आए हैं।

लूट की हजारों घटनाएं आई हैं सामने

आंकड़ों के मुताबिक, पिछले 6 वर्षों में लूट के करीब 4697 मामले सामने आये हैं। रेलमंत्री गोयल ने ट्रेन में होने वाली इन घटनाओं को रोकने के लिए रेलवे सुरक्षा बलों काे सर्तक होने के निर्देश दिये हैं। साल 2013-14 में ट्रेन में लूट की 1040 घटनाएं सामने आई थीं, जबकि साल 2014-15 में 1127, साल 2016-17 में 1058 और साल 2017-18 में 1472 मामले सामने आए हैं।

शेयर करें

मुख्य समाचार

ordinence factory strike

देश की सभी ऑर्डिनेंस फैक्ट्रियों में हड़ताल

जबलपुर : केंद्र सरकार द्वारा देश के सभी रक्षा संस्थानों के निगमीकरण किए जाने के विरोध में देशभर की 41 ऑर्डिनेंस फैक्ट्रियों के करीब 83,000 कर्मचारी आगे पढ़ें »

zakir

जाकिर नाइक की बोलती बंद, मलेशिया ने धार्मिक भाषण देने पर लगाई रोक

कुआलालमपुर : मलेशिया में भड़काऊ भाषण देने के कारण इस्लामिक धर्म उपदेशक जाकिर नाइक पर पूरे देश में रोक लगा दी गई है। मलेशियाई सरकार आगे पढ़ें »

ऊपर