27 दिन तक मरम्मत कार्य के लिए लखनऊ-कानपुर रेलखंड पर मेगाब्लाक

सेमी हाईस्पीड ट्रेनों के आवागमन में भले ही मददगार साबित होगा मगर जीर्णोद्धार कार्य के चलते ट्रेनों के निरस्तीकरण व मार्ग परिवर्तन दैनिक यात्रियों के लिये मुसीबत का सबब

लखनऊ : कानपुर लखनऊ रेलखंड पर स्थित गंगा पुल पर शुक्रवार से अगले 27 दिनों तक चलने वाला मरम्मत कार्य आने वाले दिनों में सेमी हाईस्पीड ट्रेनों के आवागमन में भले ही मददगार साबित होगा मगर जीर्णोद्धार कार्य के चलते ट्रेनों के निरस्तीकरण और मार्ग परिवर्तन दैनिक यात्रियों के लिये मुसीबत का सबब बन कर उभरा है। दरअसल, उत्तर प्रदेश के दो बडे़ महानगरों कानपुर और लखनऊ से हर रोज करीब दस हजार पेशेवर और कारोबारी एक से दूसरे शहर रेल के जरिये सफर करते हैं। कानपुर और उन्नाव जिले की सीमा को जोड़ने वाले करीब 100 साल पुराने इस पुल के जीर्णोद्वार का काम शुक्रवार से विधिवत शुरू हो गया। रेलवे के वरिष्ठ अधिकारियों और अभियंताओं की देखरेख में डाउन ट्रैक पर शुरू हुए काम के दौरान अप लाइन से ट्रेनों को धीमी रफ्तार से गुजारा गया। रेलवे के प्रवक्ता ने बताया कि जीर्णोद्धार का काम होने के कारण रेलवे ने 27 दिनों का मेगाब्लाक लिया है। इस अवधि में लखनऊ और कानपुर के बीच 20 एक्सप्रेस और 14 पैसेंजर ट्रेन निरस्त रहेंगी, जबकि 12 एक्सप्रेस और 20 मेमू ट्रेन की यात्रा छोटी कर दी गयी है। इसके अलावा 38 ट्रेनों को बदले हुए मार्ग से चलाया जा रहा है। कानपुर से तड़के पांच बजे से दैनिक यात्रियों की आमद सेंट्रल स्टेशन पर दर्ज होने लगती है। फरक्का एक्सप्रेस, अवध एक्सप्रेस, पुष्पक एक्सप्रेस और मेमू समेत सुबह आठ बजे तक लगभग आधे घंटे में लखनऊ के लिये जाने वाली हर गाड़ी में दैनिक यात्रियों की तादाद खासी होती है। शाम को भी कमोवश यही हालत होती है।

दफ्तर से घर पहुंचने की जल्दी में लखनऊ जंक्शन और चारबाग रेलवे स्टेशन पर शाम चार बजे से दैनिक यात्रियों का हुजूम लगना शुरू हो जाता है। 1545 बजे आगरा इंटरसिटी से कानपुर जाने वाले दैनिक यात्रियों की रवानगी देर रात 11 बजे तक लखनऊ भोपाल एक्सप्रेस तक निर्बाध जारी रहती है। इसी तरह हर रोज करीब 3000 हजार यात्री लखनऊ से कानपुर सफर करते हैं। इन यात्रियों में बैंककर्मी, पुलिस और निजी उपक्रमों में कार्यरत कर्मचारियों के अलावा व्यापारियों की खासी तादाद होती है। सुबह गोमती एक्सप्रेस, प्रतापगढ़ इंटरसिटी,फैजाबाद इंटरसिटी, उत्सर्ग एक्सप्रेस और वरुणा एक्सप्रेस के अलावा करीब आधा दर्जन मेमू ट्रेन इनके गंतव्य का जरिया बनती है।

दैनिक यात्रियों की पीडा है कि ट्रेनों के मार्ग परिवर्तन और निरस्त होने से उनका सफर और मुश्किल हो जायेगा। आफिस टाइम में कुछ ट्रेनों के संचालन से भीड बढे़गी जबकि पुल पर कासन के चलते ट्रेन की रफ्तार भी कम होगी। कार्यालय समय से पहुंचने के लिये लोगों को तड़के घर से निकलना होगा जबकि ट्रेनों के रद्द होने से जल्द घर पहुंचने की कवायद भी धरी की धरी रह जायेगी।

सचिवालय कर्मी मनोज भाटिया ने कहा कि पुल की मरम्मत ने मुश्किल खड़ी कर दी है। रोज सुबह जल्दी निकलना पडे़गा। ट्रेन में काफी भीड़ है। मेमू के नहीं चलने से यह हालात पैदा हुए हैं। अब तो ट्रेन छूटी तो समझो आफिस से छुट्टी। समय से कार्यालय पहुंचने का एकमात्र विकल्प बस है। बस की एमएसटी महंगी है मगर बनवानी पड़ेगी। ‘ अमीनाबाद में एक निजी बैंक में कार्यरत अनीस अहमद ने कहा कि रेल सफर पर भरोसा करना फिलहाल बेकार है। सड़क मार्ग भी उन्नाव और कानपुर के बीच बेहद खराब है जबकि लखनऊ में मेट्रो की वजह से जाम के हालात रहते हैं। आखिरी विकल्प के तौर पर मैंने चौक में एक कमरा किराये पर ले लिया है। रोज रोज की हाय हाय से अच्छा है कि कुछ दिन लखनऊ में ही रहा जाये। हजरतगंज में स्थित एक प्रतिष्ठान पर बतौर कैशियर कार्यरत राहुल भटनागर ने कहा कि पिछले आठ सालों से दैनिक यात्री हूं मगर ऐसे हालात का सामना पहली बार कर रहा हूं। यह सही है कि सुरक्षा के लिहाज से पुल का जीर्णोद्वार जरूरी है मगर प्राब्लम तो हो ही गयी है। अब घर से निकलने की समयसारिणी बदलनी होगी। जल्द घर छोडकर पहली ट्रेन पकडनी होगी तभी समय से आफिस पहुंच सकूंगा।

एसे अन्य लेख

Leave a Comment

अन्य समाचार

प्रियंका गांधी ने शहीद की बेटी से कहा-‘डॉक्टर बनने का सपना पूरा करने में हर मदद करूंगी’

उन्नाव : पुलवामा हमले में शहीद हुए जाबांजो के घर वालों के साथ आज पूरा देश खड़ा है गम की इस घड़ी में हर कोई उनकी मदद के लिए हाथ आगे बढ़ा रहा है चाहे वह सरकार के तरफ से [Read more...]

पुलवामा अटैक : मास्‍टरमाइंड गांजी को खात्‍मा करने में शहीद जाबांज के पिता ने कहा, बेटे पर गर्व है

मेरठ : पुलवामा हमले के बाद जहां पूरे देश में गम का माहौल है, वही शहीदों के परिवार वालों में जोश की कमी नहीं हुई है। वे दुश्‍मनों को सबक सिखाने की मांग कर रहे है। पुलवामा हमले के जिम्‍मेदार [Read more...]

इस तंत्र के आने के बाद भारत के सीमा क्षेत्र में नहीं घुस पाएंगे घुसपैठिए, अभी 6-7 साल का लगेगा और समय

भारत अमेरिका से 30 लाख टन कच्चा तेल खरीदेगा

पुलवामा आतंकी हमलाः मल्लिका दुआ ने लिखा ‘शोक मनाना बेवकूफी है’

आतंकियों ने खुफिया एजेंसियों को चकमा देकर ऐसे किया सीआरपीएफ के काफिले पर फिदायीन हमला

जावेद और शबाना ने रद्द किया दौरा तो बौखलाए पाकिस्तान ने बोल दिया कुछ ऐसा कि…

पुलवामा हमले के मामले में 23 लोग हिरासत में, जैश-ए-मोहम्मद से संबंधों का है शक

पुलवामा अटैक : सिद्धू-अकाली आमने-सामने, पंजाब विधानसभा में उठी सिद्धू के खिलाफ कार्रवाई की मांग

जम्मू के कुछ हिस्सों में कर्फ्यू में ढील, अधिकारियों ने की शांति बनाए रखने की अपील

मुख्य समाचार

हस्तशिल्प मेले में पसंद किए जा रहे हैं पूर्वोतर क्षेत्रों के उत्पाद

ग्रेटर नोएडा: आज ग्रेटर नोएडा के एक्सपो सेंटर ऐंड मार्ट में ईपीसीएच अध्यक्ष ओपी प्रह्लादका, मेला अध्यक्ष राजेश कुमार जैन, ईपीसीएच के महानिदेशक राकेश कुमार और प्रशासनिक समिति के अन्य सदस्यों द्वारा पुलवामा के शहीद सैनिकों को श्रद्धांजलि अर्पित करने [Read more...]

देश को बड़े आकार के बैंकों की जरूरत: जेटली

नई दिल्ली : बैंक क्षेत्र में मितव्ययिता के साथ काम करने के लिये देश को गिने चुने लेकिन बड़े बैंकों की आवश्यकता है। भारतीय स्टेट बैंक के साथ उसके पांच सहयोगी बैंकों और भारतीय महिला बैंक के 2017 में विलय [Read more...]

ये तीन बेहतरीन स्मार्टफोन होंगे इस महीने लॉन्च

प्रियंका गांधी ने शहीद की बेटी से कहा-‘डॉक्टर बनने का सपना पूरा करने में हर मदद करूंगी’

शूटिंग विश्व कप में अच्छे प्रदर्शन की उम्मीद : अपूर्वी चंडेला

भारत के बाद अब पाकिस्तान ने भी अपने उच्चायुक्त को वापस बुलाया

अभ्यास मैच में हारी भारतीय महिला बोर्ड अध्यक्ष एकादश की टीम

पुलवामा अटैक : मास्‍टरमाइंड गांजी को खात्‍मा करने में शहीद जाबांज के पिता ने कहा, बेटे पर गर्व है

इस तंत्र के आने के बाद भारत के सीमा क्षेत्र में नहीं घुस पाएंगे घुसपैठिए, अभी 6-7 साल का लगेगा और समय

पृथ्वी जल्द ही मैदान पर वापसी कर सकते हैं, आस्ट्रेलिया दौरे पर लगे चोट के बाद पास किया यो-यो टेस्ट

ऊपर