सीसीटीवी फुटेज में आवेश को गिरते हुए दिखाया गया

कोलकाता : बहुचर्चित आवेश दासगुप्ता की अस्वाभाविक मौत जांच में सबसे बड़ा खुलासा पुलिस ने किया है कि आवेश की मौत हत्या नहीं बल्कि यह महज एक दुर्घटना है। पुलिस के आला अधिकारियों के इस खुलासे से जहां आवेश का परिवार सदमें में है वहीं इस मामले से जुड़े किशोर-किशोरों तथा उनके अभिभावकों के चेहरे पर खुशी की लहर है। उल्लेखनीय है कि ज्वाइंट कमिश्नर (एसटीएफ) विशाल गर्ग ने संवाददाताओं को बताया कि प्राथमिक जांच में अभी तक यह सामने आ रहा है कि फिलहाल उसकी मौत दुर्घटना के कारण हुई है लेकिन अभी भी कुछ लोगों से पूछताछ, रुपये कहां से और पोस्टमार्टम रिपोर्ट तथा फॉरेंसिक रिपोर्ट का मिलना बाकी है। इसके बाद ही इस मामले में पूरी तरह से खुलासा हो सकेगा। पुलिस सूत्रों ने बताया कि सीसीटीवी के 44 सेकेंड के एक वीडियो से पता चला कि सन्नी पार्क अपार्टमेंट के सामने एक पार्क है। उस पार्क में जाने के लिए आवेश ने दीवार फांदने की कोशिश की लेकिन वह गिर गया। वह गिरा या उसे धक्का मारा गया, यह स्पष्ट नहीं है। इसके लिए कुछ और लोगों से पूछताछ करनी बाकी है। इसके बाद उसके कुछ दोस्त वहां आ गये मगर आवेश खुद ही उठा तथा कुछ दूर चलने के बाद पार्किंग लॉट में गिर गया। इसके बाद ही अस्पताल ले जाने पर उसकी मौत हो गयी। पुलिस सूत्रों का कहना है कि उसके गिरने के बाद और रैम्प तक आने के दौरान का 25 सेकेंड का वीडियो पुलिस के पास नहीं है। इस लिंक को जानने के लिए उसके दोस्तों से फिर पूछताछ हो सकती है। वहीं जांच में पता चला कि वारदात के बाद किसी एक दोस्त ने लालबाजार के डायल 100 पर फोन किया था लेकिन कुछ बात नहीं करने के पहले ही काट दिया। इसके साथ ही एक और सीसीटीवी से पता चला कि दो दोस्त ऊपर गये थे और अमित चौधरी व उनकी पत्नी को घटना के बारे में जानकारी दी गयी। फिर आवेश को अस्पताल ले जाया गया। वहीं दुर्घटना के बारे में उन्होंने आवेश की मां रिमझिम दासगुप्ता को जानकारी दी। जानकारी के अनुसार गुरुवार की देर शाम आवेश की मां रिमझिम दासगुप्ता को लालबाजार बुलाया गया था। वहीं दूसरी ओर गुरुवार की सुबह से ही फिर से आवेश की गर्लफ्रेंड सहित दोस्तों से पूछताछ कर उनके बयान दर्ज किये गये। पुलिस सूत्रों का कहना है कि इस मामले के हर पहलू से जांच की जा रही है। इस बाबत वारदात के दौरान उपस्थित कई दोस्तों से गुरुवार को भी पूछताछ हुई। उनसे पार्टी शुरू होने से लेकर पार्टी खत्म होने तक की सभी घटनाओं के बारे में विस्तार से पूछा गया। इसके साथ ही आवेश का पार्टी में किसी से कहासुनी हुई थी या नहीं, अंतिम बार आवेश किसके साथ पार्टी में था और उसे किसने तथा कैसे अस्पताल पहुंचाया सहित हर चीजों की बारीकी से पूछताछ की गयी। इसके अलावा वारदात के दिन मौजूद अपार्टमेंट के सिक्युरिटी गार्ड और ड्राइवरों को भी फिर पूछताछ के लिए बुलाया गया। उनसे घटना के बारे में पूछताछ हुई। सभी के बयानों से और प्राप्त सबूतों के आधार पर यही सामने आ रहा है कि आवेश की मौत दुर्घटना ही है। उसकी हत्या का कोई सबूत पुलिस को नहीं मिल रहा है। वहीं किशाेरों को शराब बेचने के आरोप में टालीगंज थाना इलाके से शराब विक्रेता महादेव पुरकाईत को गिरफ्तार किया गया। ज्ञात हो कि बुधवार को गिरफ्तार शराब मालिक सहित 3 अभियुक्तों सौम्यजीत साहा, राजेश साहा और सुधांशु दत्ता को गिरफ्तार किया गया था। उन चारों अभियुक्तों को 1 दिन के लिए न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है।
कई मामलों से उठा पर्दा
पुलिस सूत्रों ने बताया कि जांच में पता चला कि बर्थडे पार्टी सरप्राइज पार्टी नहीं थी। पहले से ही तय किया गया था। वारदात के दिन सभी दोस्त पहले एक मशहूर क्लब गये थे लेकिन मेंबरशिप व ड्रेस कोड नहीं होने के कारण वे वहां चले गये। लौटने के वक्त उन सभी ने शराब खरीदी थी। इसके बाद सभी साउथ कोलकाता के उक्त क्लब में गये और वहां खाना-पीना किया। इसके बाद फिर शराब खरीदी गयी और सभी सन्नी पार्क अपार्टमेंट लौटे। पार्टी खत्म होने के पहले ही कुछ दोस्त पहले ही निकल गये थे। वारदात के बाद एक दोस्त की कार में तीन दोस्त वहां से निकले थे।
दोस्त की वर्तमान गर्लफ्रेंड को लेकर आवेश के बीच कहासुनी हुई थी
पुलिस सूत्रों ने बताया कि संदेह के घेरे में रहने वाले दोस्त की एक वर्तमान गर्लफ्रेंड को लेकर आवेश के साथ उससे कुछ कहासुनी हुई थी। मगर किस बात पर यह पता नहीं चल पाया है। दोस्तों के बयानों को देखा जा रहा है।
क्यों है आवेश की मौत एक दुर्घटना
जांच में शामिल एक सूत्र के अनुसार यह दुर्घटना है। इसके कई कारण और सबूत हैं। आवेश दीवार पर चढ़ने के दौरान अनियंत्रित होकर गिर गया। बोतल उसने कांख के बीच रखी थी। गिरने के कारण वह उसकी कांख में घुस गया और ऑक्जिलरी आर्टरी कट गयी जिससे उसकी मौत हो गयी। उसके बाएं हाथ पर चोट जमीन पर गिरने की वजह से हुई। वहीं गिरने से कांच की बोतल चूर-चूर हो गयी थी। अगर हत्या होती तो पेट या सीने में बोतल घोंपी जाती मगर इस मामले में एेसा नहीं है। इसके अलावा लिगेचर वुंड (जख्म) या ब्रुसेस उसके शरीर में नहीं पाया गया।

मुख्य समाचार

भाटपाड़ा में बमबारी जारी, 1 मरा

सर्च अभियान चलाकर पुलिस ने किये 6 बम बरामद भाटपाड़ा : भाटपाड़ा थानांतर्गत 10 नं. गली के रामनगर कॉलोनी में बम विस्फोट होने से एक व्यक्ति आगे पढ़ें »

नए कोच के चयन में नहीं चलेगी विराट की मनमानी

नयी दिल्ली : टीम इंडिया का नया मुख्‍य कोच कौन होगा इस पर फैसला कुछ समय बाद लिया जाएगा। पर बीसीसीआई के एक अधिकारी ने आगे पढ़ें »

कृषि क्षेत्र में विकास के लिए केंद्र और राज्यों को मिलकर करना होगा काम

नई दिल्ली: केंद्र सरकार को कृषि क्षेत्र में सुधार के साथ राज्यों को वित्त आयोग द्वारा किए गए अनुदान और आवंटन को जोड़ना चाहिए। यह आगे पढ़ें »

2018-19 में डिजिटल ट्रांजेक्शन 51 फीसदी बढ़ी, कुल डिजिटल ट्रांजेक्शन 3,133.58 करोड़ के पार पहुंचा

नई दिल्ली : देश में डिजिटल ट्रांजेक्शन तेजी से बढ़ रहा है। वर्ष 2018-19 में डिजिटल ट्रांजेक्शन पिछले साल की तुलना में 51 फीसदी बढ़ी आगे पढ़ें »

निजी क्षेत्र और उपक्रमों को बढ़ावा देकर आर्थिक वृद्धि की रफ्तार तेज करना चाहती है सरकार

नई दिल्ली : केंद्र सरकार निजी क्षेत्र और निजी उपक्रमों को बढ़ावा देकर आर्थिक वृद्धि की रफ्तार बढ़ाने पर जोर दे रही है। इस बारे आगे पढ़ें »

सिंधू का दमदार प्रदर्शन, इंडोनेशिया ओपन के क्वार्टर फाइनल में पहुंची

जकार्ता : भारत की चोटी की शटलर पीवी सिंधू ने डेनमार्क की मिया बिलिचफेल्ट के खिलाफ तीन गेम तक चले संघर्षपूर्ण मैच में जीत दर्ज आगे पढ़ें »

fire in an animation studio in japan, 24 dead

एनिमेशन स्टूडियो में लगायी आग, 24 जिंदा जले

टोक्यो : जापान के क्योटो शहर में गुरुवार सुबह एक एनिमेशन स्टूडियो में आग लगने से 24 लोग जिंदा जल गए जबकि 35 से अधिक आगे पढ़ें »

ऐसे उठा सकते हैं एनपीएस में छुट का लाभ

नई दिल्ली : नेशनल पेंशन योजना (एनपीएस) ने ईपीएफओ से कहीं ज्यादा रिटर्न दिया है। एक रिपोर्ट के मुताबिक बीते 10 साल में केंद्रीय और आगे पढ़ें »

teachers enclosing legislative assembly lathi charged by the police

विधानसभा का घेराव करने पहुंचे शिक्षकों पर पुलिस ने किया लाठीजार्च

पटना : वेतनमान समेत सात सूत्रीय मांगों को लेकर गुरुवार को राजधानी पटना में विधानसभा का घेराव करने पहुंचे नियोजित शिक्षकों पर पुलिस ने जमकर आगे पढ़ें »

Government told - cases of rape are increasing in trains

सरकार ने बताया – ट्रेनों मे लगातार बढ़ रहे है दुष्कर्म के मामले

नई दिल्ली : देश की सड़कों-गलियों में तो बहू-बेटियां सुरक्षित थी ही नहीं, अब यात्रा के लिए सबसे सुरक्षित मानी जाने वाली ट्रेनों में भी आगे पढ़ें »

ऊपर