संयुक्त राष्ट्र के पूर्व महासचिव कोफी अन्नान का निधन, शांति प्रयासों के लिए जाने जाते है अन्नान

स्विटजरलैंड : संयुक्त राष्ट्र के पूर्व महासचिव और नोबेल पुरस्कार से सम्मानित कोफी अन्नान का शनिवार की सुबह स्विटजरलैंड में निधन हो गया। कोफी अन्नान 80 वर्ष के थे। अन्नान के निधन की सूचना उनके आधिकारिक ट्विटर हैंडल पर एक पोस्ट के जरिए दी गई। वे मूल रूप से घाना के रहनेवाले कोफी अन्नान को वैश्विक स्तर पर शांति प्रयासों और गरीबी उन्मूलन कार्यक्रमों के लिए जाने जाते है।
यूएन के महासचिव बनने वाले पहले अफ्रीकन
अन्नान को साल 2001 में उनके मानवीय कार्यों के लिए नोबेल शांति पुरस्कार से सम्मानित किया गया था। अन्नान ने जनवरी 1997 से दिसंबर 2006 तक दो कार्यकालों के लिए संयुक्त राष्ट्र के सातवें महासचिव के तौर पर काम किया। वह यूएन के महासचिव बनने वाले पहले अफ्रीकन थे। उनका भारत से गहरा लगाव रहा है। उन्‍हें दुनियाभर में एड्स बीमारी की रोकथाम और युद्ध प्रभावित क्षेत्रों में शांति प्रयासों के लिए जाना जाता रहा है।
कौन थे कोफी अन्नान
कोफी अन्नान का जन्म 8 अप्रैल 1938 को गोल्ड कोस्ट, जो वर्तमान में घाना देश है, वहां के कुमसी नामक शहर में हुआ था। घाना के एक बोर्डिंग स्कूल में शुरुआती शिक्षा लेने के बाद अन्नान ने कुसमी के विज्ञान और प्रौद्योगिकी कॉलेज में दाखिला लिया। उनके पिता एक शिक्षित व्यक्ति थे, इसलिए कोफी की पढ़ाई पर भी बहुत ध्यान दिया। जब अन्नान 20 वर्ष के थे तब उन्होंने फॉर्ड फाउंडेशन स्कॉलरशिप जीती और सेंट पॉल मिनेसोटा के मैकलेस्टर कॉलेज में स्नातक की पढ़ाई के लिए चले गए, जहां उन्होंने इकॉनोमिक्स की पढ़ाई की।
1961 में इकॉनोमिक्स से स्नातक की डिग्री हासिल करने के बाद कोफी अन्नान जिनेवा चले गए, जहां उन्होंने ग्रेजुएट इंस्टीट्यूट ऑफ इंटरनैशनल स्टडीज से डीईए की डिग्री की। अन्नान ने जिनेवा में ही वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन ज्वाइन कर ली। वहां उन्होंने बजट अधिकारी के रूप में काम किया। वे 1965 तक डब्लू एच ओ के साथ रहे। 1965 से 1972 तक अन्नान ने इथियोपिया की राजधानी अद्दीस अबाबा में संयुक्त राष्ट्र की इकॉनोमिक कमिशन फॉर अफ्रिका के लिये काम किया। 1976 में यूएन के साथ काम करने के लिए वह एक बार फिर जिनेवा लौट गए। उसके बाद से फिर वह यूएन के साथ ही काम करते रहे।

एसे अन्य लेख

Leave a Comment

अन्य समाचार

राहुल लाएंगे ऐसी मशीन, आदमी डालो तो औरत निकलेगी: नंदकुमार चौहान

नई दिल्लीः लोकसभा चुनाव से पहले नेताओं में बयानबाजी का दौर तेजी से चल रहा है। नेता बयान देने से पहले मर्यादा का भी ध्यान नही रख रहे हैं। ताजा मामला खंडवा से सामने आया है, जहां भारतीय [Read more...]

एशियाई चैम्पियनशिप : कविंदर बिष्ट ने विश्व चैम्पियन को हराया, पंघल भी सेमीफाइनल में

बैंकाक : एशियाई मुक्केबाजी चैम्पियनशिप मुकाबले में 56 किलो भार वर्ग में भारत के कविंदर सिंह बिष्ट ने मौजूदा विश्व चैम्पियन कैराट येरालियेव को हराकर पहला पदक पक्का कर लिया है। वहीं ओलंपिक चैम्पियन हसनबोय दुस्मातोव को शिकस्त [Read more...]

मुख्य समाचार

आरबीआई ने रेपो रेट घटाई, लोन सस्ते होने की उम्मीद

मुंबईः भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) ने रेपो रेट में 0.25% की कटौती की है। यह 6.25% से घटकर 6% हो गई है। मॉनेटरी पॉलिसी कमेटी (एमपीसी) की बैठक खत्म होने के बाद गुरुवार को ब्याज दरों की घोषणा की गई। [Read more...]

कांग्रेस का पूरा घोषणापत्र हिंदी में पढ़ें

कांग्रेस ने मंगलवार को अपना घोषणापत्र जारी किया जिसमें गरीब परिवारों को 72 हजार रुपये सालाना, 22 लाख सरकारी नौकरियां, महिलाओं को आरक्षण, धारा 370 को न हटने देने और देशद्रोह की धारा हटाने सहित कई वादे किए। यहां क्लिक [Read more...]

आईपीएल फाइनल में बड़ा बदलाव, अब चेन्नई में नहीं बल्कि हैदराबाद के राजीव गांधी स्टेडियम में होगा मुकाबला

बीएसएन के इस प्रीपेड प्लान से 6 महीने तक जितनी मर्जी बात करें

उपराष्ट्रपति ने आतंकवाद के खात्मे के लिये विश्व समुदाय से एकजुट होने की अपील की

राहुल लाएंगे ऐसी मशीन, आदमी डालो तो औरत निकलेगी: नंदकुमार चौहान

शुभ मुहूर्त के चलते साध्वी प्रज्ञा ने किया एक दिन पहले किया नामांकन

दो चीनी इंजीनियरों को 72 घंटे के अंदर भारत छोड़ने का मिला नोटिस

एशियाई चैम्पियनशिप : कविंदर बिष्ट ने विश्व चैम्पियन को हराया, पंघल भी सेमीफाइनल में

कंगाल होते पाकिस्तान को एफडीआई में सुधार से कुछ राहत

महबूबा मुफ्ती का पाकिस्तान प्रेमः कहा-हमारे न्यूक्लियर बम दिवाली के लिए नहीं तो, पाक के भी…

श्रीनगर: एलओसी पार से व्यापार पर रोक के खिलाफ व्यापारियों का प्रदर्शन

ऊपर