वायरल हुआ साध्वी प्रज्ञा का विवादित बयान

Fallback Image

भोपाल : महाराष्ट्र के वरिष्ठ पुलिस अधिकारी और शहीद हेमंत करकरे को लेकर दिये बयान पर साध्वी प्रज्ञा ठाकुर विवादों में घिर गयीं हैं। उन्होंने इस बारे में कहा है कि मैंने कहा था कि तेरा सर्वनाश होगा। हाल ही में उन्हें भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने भोपाल लोकसभा सीट से प्रत्याशी बनाया है। वे कांग्रेस उम्मीदवार दिग्विजय सिंह के खिलाफ चुनाव मैदान में उतरेंगी। साथ ही उनके दो-तीन दिनों में नामांकन पत्र दाखिल करने की उम्मीद है।
सोशल मीडिया पर वीडियो वायरल
साध्वी प्रज्ञा ठाकुर का एक वीडियो सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहा है, जिसमें वे महाराष्ट्र के आतंकवाद निरोधक दस्ते (एटीएस) के तत्कालीन प्रमुख एवं मुंबई आतंकवादी हमले में शहीद हुए अधिकारी हेमंत करकरे को लेकर बोल रही हैं। लगभग पौने दो मिनट का वीडियो गुरुवार देर शाम पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित करने का है। इसमें साध्वी किसी जांच आयोग का हवाला देते हुए बताती हैं कि उसके सदस्य ने करकरे को बुलाकर कहा था कि यदि साध्वी के खिलाफ कोई सबूत नहीं हैं, तो उन्हें हिरासत में रखना उचित नहीं है। इस पर करकरे ने कहा था कि वे सबूत कहीं से भी लाएंगे, लेकिन साध्वी को नहीं छोड़ेंगे। साध्वी ने कहा कि ये उनकी कुटिलता, देशद्रोह और धर्म विरूद्ध कार्य था।
बेहद गंदी गालियां और यातनाएं दी थीं
प्रज्ञा ठाकुर ने कहा कि यातनाओं से परेशान होकर उन्होंने करकरे से कहा था कि तेरा सर्वनाश होगा। उन्होंने बेहद गंदी गालियां और यातनाएं दी थीं। वे मुझे क्या, किसी के लिए भी असहनीय थीं। ठीक सवा माह बाद सूतक लगता है, जब किसी के यहां किसी का जन्म या मृत्यु होती है। जब मैं वहां गयीं, तो उनके यहां सूतक लग गया था और ठीक सवा माह बाद उन्हें आतंकवादियों ने मार दिया था, उस दिन सूतक का अंत हो गया था। इस वीडियो में साध्वी की बात पर श्रोता तालियां बजाते हुए भी दिखाई दे रहे हैं।
पुलिस कहलवाना चाहती थी कि विस्फोट मामले में उसका हाथ था
एक अन्य कार्यक्रम में उन्होंने बताया था कि किस तरह उन्हें हिरासत के दौरान यातनाएं दी गयीं। बुरी तरह मारा पीटा गया। बेहद भद्दी गालियां दी गयीं। यह सुनाते सुनाते वे अपने आंसू तक नहीं रोक पायीं। साध्वी ने इस कार्यक्रम में दावा किया था कि वे हिरासत में 24 दिन तक बगैर अन्न खाए सिर्फ पानी पर रहीं। इसके बावजूद यातना देने के कार्य का अंत नहीं हुआ था। साध्वी के मुताबिक पुलिस उनसे यह कहलवाना चाहती थी कि विस्फोट मामले में उनका हाथ है। इसके अलावा वे यह भी जानना चाहते थे कि उनका किसके साथ मिलना जुलना और बैठना है।

बता दें कि एक दशक से अधिक समय पहले महाराष्ट्र के मालेगांव ब्लास्ट में लगभग आधा दर्जन लोगों की मौत हो गयी थी। इस मामले में महाराष्ट्र की एटीएस ने साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर को कथित तौर पर साजिश रचने के मामले में गिरफ्तार किया था। वे कई वर्षों तक वहां की जेल और एटीएस की हिरासत में रहीं। उस समय करकरे ने भी उनसे रिमांड के दौरान पूछताछ की थी।

गौरतलब है कि बुधवार को भोपाल से भाजपा प्रत्याशी घोषित होने के बाद से ही वे हिरासत में उनसे हुयी पूछताछ को लेकर काफी बयान दे रही हैं। इसी कड़ी में गुरुवार देर शाम उन्होंने भाजपा कार्यकर्ताओं के सम्मेलन में कहा कि करकरे ने पूछताछ के दौरान उन्हें काफी परेशान किया था, इसलिए उन्होंने उनसे कहा था कि‘तेरा सर्वनाश होगा।’

शेयर करें

मुख्य समाचार

martyr wife home entry

शहीद के परिवार को 27 साल बाद मिली छत,हथेली पर कराया गृह प्रवेश

इंदौर : स्वतंत्रता दिवस और रक्षाबंधन के शुभ अवसर पर इंदौर के युवाओं ने शहीद के परिवार को 27 साल बाद पक्का घर बनवाकर उपहार आगे पढ़ें »

kapil sharma joining bjp 2

दिल्लीःआप के बागी नेता कपिल मिश्रा भाजपा में शामिल

नई दिल्ली : दिल्ली सरकार के पूर्व मंत्री और आम आदमी पार्टी (आप) के बागी नेता कपिल मिश्रा और आप की महिला इकाई की प्रमुख आगे पढ़ें »

ऊपर