लोगों को याद आ रहे कांग्रेस के विकास कार्य : माकन

धरने में केजरी, भाषण में मोदी व विकास कार्य में कांग्रेस नंबर वन 
नयी दिल्लीः दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष अजय माकन ने केजरीवाल सरकार और उपराज्यपाल के बीच टकराव की वजह से विकास कार्य ठप पड़ने का दावा किया और कहा कि राष्ट्रीय राजधानी में राजनीतिक प्रयोग करने वाले लोगों को अब कांग्रेस के विकास कार्य याद आ रहे हैं।
पार्टी के ‘जल सत्याग्रह’ कार्यक्रम में उन्होंने कहा, ‘यदि धरने करवाने हैं तो केजरीवाल नंबर वन हैं, भाषण करवाने हैं तो मोदी नंबर वन हैं और यदि विकास के कार्य करवाने हैं तो कांग्रेस नंबर वन है। पिछले कुछ वर्षो में राजनीतिक पार्टियों के साथ लोगों ने कई प्रयोग किये लेकिन अब उन्हें फिर याद आ रहा है कि सिर्फ कांग्रेस ही दिल्ली में विकास कार्य कर सकती है।’
उन्होंने आरोप लगाया कि अपनी नाकामियां छिपाने के लिए अरविंद केजरीवाल एवं उनके साथी एसी वाले कमरे में धरना दे रहे हैं।

Leave a Comment

अन्य समाचार

पुलवामा हमले के मामले में 23 लोग हिरासत में, जैश-ए-मोहम्मद से संबंधों का है शक

नई दिल्लीः कश्मीर में पुलवामा हमले के मामले में सेना ने 23 लोगों को शक के आधार पर हिरासत में लिया है। सुरक्षाबलों को शक है कि इनका संबंध संगठन जैश-ए-मोहम्मद से हो सकता है। बता दें कि 14 फरवरी [Read more...]

पुलवामा अटैक : सिद्धू-अकाली आमने-सामने, पंजाब विधानसभा में उठी सिद्धू के खिलाफ कार्रवाई की मांग

चंडीगढ़ : अक्‍सर अपने बयानबाजी को लेकर चर्चा में रहने वाले पूर्व क्रिकेटर व पंजाब सरकार में मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू पुलवामा हमले के बाद अपने बयान को लेकर विवादों में फंस गये है। सिद्धू को भारी आलोचना का सामना [Read more...]

मुख्य समाचार

पुलवामा हमले के मामले में 23 लोग हिरासत में, जैश-ए-मोहम्मद से संबंधों का है शक

नई दिल्लीः कश्मीर में पुलवामा हमले के मामले में सेना ने 23 लोगों को शक के आधार पर हिरासत में लिया है। सुरक्षाबलों को शक है कि इनका संबंध संगठन जैश-ए-मोहम्मद से हो सकता है। बता दें कि 14 फरवरी [Read more...]

पुलवामा अटैक : सिद्धू-अकाली आमने-सामने, पंजाब विधानसभा में उठी सिद्धू के खिलाफ कार्रवाई की मांग

चंडीगढ़ : अक्‍सर अपने बयानबाजी को लेकर चर्चा में रहने वाले पूर्व क्रिकेटर व पंजाब सरकार में मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू पुलवामा हमले के बाद अपने बयान को लेकर विवादों में फंस गये है। सिद्धू को भारी आलोचना का सामना [Read more...]

ऊपर