उत्तर-प्रदेश सरकार के दो साल पूरे, किए ये बड़े काम

नई दिल्ली/लखनऊः उत्तर प्रदेश की योगी सरकार के दो साल का कार्यकाल पूरा हो गया है। उनका कार्यकाल उस समय पूरा हुआ जब देश और प्रदेश में लोकसभा चुनाव की तारिखों की घोषणा हो चूकी है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने 19 मार्च 2017 को उत्तर-प्रदेश की सत्ता की कमान संभालते ही बदलाव के लिए कई बड़े और कड़े फैसले किए थे। अगर दो वर्ष की अवधी पर नजर डाले तो योगी ने अयोध्या जाकर दीपोत्सव का रिकार्ड बनाया तो मिथक तोड़ने के लिए बार-बार नोएडा गए। इस दौरान सरकार ने विभिन्न योजनाओं के जरिये किसानों, युवाओं, महिलाओं और उद्यमियों को भी साधने की पहल की। इसके साथ ही उन्होंने लगातार संदेश दिया कि कानून का राज उनके लिए सर्वोपरि है।
बदलाव के लिए 10 बड़े कदम उठाये है….
कानून व्यवस्‍था हो दुरुस्त इसलिए एनकाउंटर की खुली छूट
निवेश, रोजगार से ही जुड़ा एक पहलू है। योगी ने निवेश का माहौल बनाने के लिए कानून-व्यवस्था, बेहतर नीति और बुनियादी संरचना पर जोर दिया। उनके इस कदम से नई औद्योगिक नीति आई। फरवरी-2018 में यहां हुए इन्वेस्टर्स समिट में 4.68 लाख करोड़ रुपये के निवेश प्रस्तावों में औद्योगिक घरानों के एमओयू हुए।
उत्तर-प्रदेश में अपराधियों पर लगाम कसने और कानून व्यवस्था को दुरुस्त करने के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पुलिस को खुली छूट दे दी। इसके बाद यूपी पुलिस ने अपराधियों के खिलाफ कठोर कार्रवाई करते हुए एनकाउटंर अभियान चलाया। हालांकि इसे लेकर सवाल भी खड़े हुए, लेकिन योगी आदित्यनाथ ने कहा कि अपराधियों के प्रति हमारी जीरो टॉलरेंस की नीति है।
दो वर्ष में ढाई लाख से अधिक नौकरियां
युवाओं को रोजगार देना सरकार की पहले से ही प्राथमिकता रही हैं। जो कौशल विकास के जरिये स्वावलंबन पर रहा। केंद्र की योजनाओं के अलावा प्रदेश स्तर पर विश्वकर्मा श्रम सम्मान, माटी कला बोर्ड, एक जिला, एक उत्पाद जैसी योजनाओं के जरिये यह क्रम जारी है। इसके अलावा सरकारी क्षेत्र में भी ढाई लाख नौकरियां दी गईं।
बदले गए शहरों के नाम
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अपने दो साल के कार्यकाल के दौरान उत्तर प्रदेश में कई शहरों के नाम बदलने का फैसला किया। इनमें मुगलसराय स्टेशन और शहर का नाम बदलकर पंडित दीनदयाल उपाध्याय रखा है। इसके अलावा फैजाबाद जिले का नाम बदलकर अयो ध्या कर दिया। इसी कड़ी में इलाहाबाद का नाम बदलकर प्रयागराज कर दिया गया।
अवैध बूचड़खानों पर लगाम
योगी आदित्यनाथ ने सत्ता आते ही उन्होंने सबसे पहले अवैध बूचड़खानों पर लगाम लगाई। योगी के शपथ लेने के दूसरे दिन से ही अवैध बूचड़खाने बंद करने की कार्रवाई शुरु हो गई। वाराणसी से लेकर लखीमपुर खीरी, गाजियाबाद और मेरठ जैसे तमाम शहरों में अवैध बूचड़खानों और बड़ी तादाद में अवैध बूचड़खाने को बंद करा दिए गए।
गाय को लेकर किए कई नीतिगत फैसले
उत्तर-प्रदेश में योगी सरकार के सत्ता में आने के बाद गाय के लिए कई नीतिगत फैसले लिए गए। गौशाला बनाने के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ 0.5 फीसदी सेस चार्ज लगायाञ। इसके अलावा गाय की देखभाल और उनके लिए चारा-पानी जैसी तमाम सुविधाएं देने का फैसला किया।
महिलाओं और बच्चियों की सुरक्षा के लिए एंटी रोमियो स्क्वाड
उत्तर प्रदेश में महिलाओं और बच्चियों की सुरक्षा के लिए योगी आदित्यनाथ सरकार ने एंटी रोमियो स्क्वाड का गठन करने का कदम उठाया। इसके बाद यूपी पुलिस ने कॉलेजों और सार्वजनिक स्थानों पर महिलाओं से छेड़खानी करने वाले मनचलों की धरपकड़ तेज कर दी थी. हालांकि इसे लेकर कई सवाल खड़े हुए।
शिक्षा-व्यवस्था को दुरुस्त करने के लिए नकल विहीन परीक्षा
योगी आदित्यनाथ सरकार ने 2017 में सत्ता में आने के बाद शिक्षा-व्यवस्था को दुरुस्त करने के लिए कड़ा कदम उठाया। यूपी बोर्ड की 10वीं और 12वीं की परीक्षा को नकलविहीन बनाने के लिए विद्यालयों के सेंटर पर सीसीटीवी कैमरे लगाए गए।
करवाया ‘दिव्य एवं भव्य कुंभ का आयोजन’
प्रयागराज में संगम पर योगी सरकार ने दिव्य एवं भव्य कुंभ का सफल आयोजन कराया। इन सारे आयोजनों ने प्रदेश के बारे में बनी पुरानी धारणा को बदल दिया था. पूरे शहर को सजाया और संवारा गया था। इस कुंभ को दिव्य बनाने के लिए समय से पहले ही बजट जारी कर दिया गया। योगी खुद कई बार प्रयागराज का दौरा कर वहां कुंभ की तैयारियों का जायजा लेते नजर आए।
धार्मिक शहरों को लेकर कई बड़े फैसले
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सत्ता की कमान संभालते ही उत्तर प्रदेश के धार्मिक शहरों के लिए विकास का पिटारा खोल दिया। इसमें अयोध्या, काशी से लेकर मथुरा और चित्रकूट को सजाने और संवारने के लिए कई बड़े फैसले लिए। अयोध्या में सीएम ने खुद जाकर दीपावाली मनाई तो मथुरा में जाकर होली खेली। इतना नहीं इन शहरों के विकास कार्य तेजी से चल रहे हैं।

 

Leave a Comment

अन्य समाचार

प्रधानमंत्री मोदी पर आधारित वेब सीरीज पर चुनाव आयोग की रोक

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से जुड़ी एक वेब सीरिज 'मोदी जर्नी ऑफ अ कॉमन मैन' पर चुनाव आयोग ने रोक लगा दी है। निर्माताओं को ऑनलाइन कंटेंट हटाने का निर्देश दिया गया है। चुनाव आयोग ने शनिवार को [Read more...]

अब राहुल की नागरिकता पर ही उठे सवाल

लखनऊ: अमेठी से चुनाव लड़ रहे एक निर्दलीय उम्मीदवार ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की नागरिकता पर सवाल उठाए हैं। इस पर राहुल गांधी के वकील ने चुनाव आयोग से जवाब दाखिल करने के लिए समय मांगा। आयोग ने राहुल [Read more...]

मुख्य समाचार

आरबीआई ने रेपो रेट घटाई, लोन सस्ते होने की उम्मीद

मुंबईः भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) ने रेपो रेट में 0.25% की कटौती की है। यह 6.25% से घटकर 6% हो गई है। मॉनेटरी पॉलिसी कमेटी (एमपीसी) की बैठक खत्म होने के बाद गुरुवार को ब्याज दरों की घोषणा की गई। [Read more...]

कांग्रेस का पूरा घोषणापत्र हिंदी में पढ़ें

कांग्रेस ने मंगलवार को अपना घोषणापत्र जारी किया जिसमें गरीब परिवारों को 72 हजार रुपये सालाना, 22 लाख सरकारी नौकरियां, महिलाओं को आरक्षण, धारा 370 को न हटने देने और देशद्रोह की धारा हटाने सहित कई वादे किए। यहां क्लिक [Read more...]

ऊपर