मुंबई बंद के दौरान तोड़फोड़ और आगजनी, एक पुलिस कर्मी भी मरा, मुंबई बंद वापस

महाराष्ट्रः बुधवार को मराठा क्रांति मोर्चा ने मुंबई बंद का आह्वान किया। इसी आरक्षण की मांग को लेकर चल रहा राज्यव्यापी प्रदर्शन अचानक हिंसक हो गया। जिसमें एक कांस्टेबल की मौत प्रदर्शनकारियों के पथराव में हो गई। जबक‌‌ि नौ अन्य जख्मी हुए है। कई जगहों पर बसों पर पथराव किया गया। कायगांव में प्रदर्शनकारियों ने दमकल की एक गाड़ी को भी आग लगा दी। प्रदर्शनकारियों ने लातूर जिले के निलांगा तहसील में हैदराबाद-लातूर बस पर भी पथराव किया। हिंसक प्रदर्शन के बाद मराठा क्रांति मोर्चा ने मुंबई बंद वापस ले लिया है। हालांकि ठाणे और नवी मुबई में प्रदर्शन जारी रहेगा। वहीं औरंगाबाद में किसान जगन्नाथ सोनावने ने आरक्षण की मांग को लेकर जहर खा लिया। उसे तत्काल अस्पताल में भर्ती किया गया, लेकिन उसकी मौत हो गई। नवी मुंबई में स्कूल-कॉलेज बंद रखे गए हैं। ठाणे और जोगेश्वरी में लोकल ट्रेनों को भी रोका गया। इस कारण लोगों को खासी परेशानियों का सामना करना पड़ा। बताया जा रहा है कि प्रदर्शनकारियों ने कई गाड़ियों को भी फूंक दिया था और दो प्रदर्शनकारियों ने खुदकुशी करने की कोशिश की।
बंद का सबसे ज्यादा असर औरंगाबाद
महाराष्ट्र बंद का सबसे ज्यादा असर औरंगाबाद और आसपास के जिलों में देखने को मिला है। आरक्षण के पक्ष में निकाले गए मार्च के दौरान एक प्रदर्शनकारी की मौत हो गई थी। जहर खाने वाले दूसरे प्रदर्शनकारी की भी अस्पताल में मौत हो गई। इस शख्स का नाम जग्गनाथ सोणानने बताया जा रहा है।
मराठा प्रदर्शनकारी के अंतिम संस्कार के पास पुलिस कांस्टेबल की मौत
कल नदी में कूदकर जान देने वाले एक मराठा प्रदर्शनकारी के अंतिम संस्कार स्थल के पास तैनात एक पुलिस कांस्टेबल की मौत हो गई। पुलिस का कहना है कि उसकी मौत के कारणों का अभी पता नहीं है। पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट का इंतजार किया जा रहा है। उनके हाथों और पैरों पर चोट के निशान हैं। उसी स्थल पर तैनात अन्य पुलिसकर्मी पथराव में जख्मी हो गए।
गौरतलब है कि 27 वर्षीय काकासाहब शिंदे औरंगाबाद में एक पुल से गोदावरी नदी में कूद गया था। उसे नदी से निकालकर अस्पताल ले जाया गया, लेकिन डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।
भीड़ संभालने के लिए लाठी चार्ज और आंसू गैस के गोले दागे
औरंगाबाद की पुलिस अधीक्षक आरती सिंह ने बताया कि भीड़ को संभालने मौजूद पुलिस कर्मियों ने लाठीचार्ज किया और आंसू गैस के गोले दागे। एक अधिकारी ने बताया कि जलना के घनसांगवी थाने पर प्रदर्शनकारियों के पथराव में आठ पुलिसकर्मी जख्मी हो गए।
पेड लोग मराठा आंदोलन में घुस जाने से हुई घटना
सांगली में राजस्व मंत्री चंद्रकांत पाटिल ने मराठा आरक्षण को लेकर कहा कि राज्य सरकार ने जो भी उसके बस में था किया। अब इस मामले पर अदालत फैसला करेगी। मंत्री ने कहा कि कुछ ‘पेड’लोग मराठा आंदोलन में घुस गए हैं।

एसे अन्य लेख

Leave a Comment

अन्य समाचार

अगर नहीं सुधरा पाक, तो रोक देंगे उसके हिस्से का भी पानीः गडकरी

नई दिल्लीः पुलवामा हमले के बाद से ही देश में पाकिस्तान के खिलाफ आक्रोश बढ़ रहा है। इसी के मद्देनजर गुरुवार को केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने घोषणा की कि पाकिस्तान की ओर जाने वाली नदियों के भारत के हिस्से [Read more...]

शहीदों के घर ‘दर्द का दरिया’ उमड़ा था और ‘प्राइम टाइम मिनिस्टर’ दरिया में शूटिंग कर रहे थे: राहुल

नई दिल्लीः कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने पुलवामा आतंकी हमले वाले दिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के एक चैनल के लिए फिल्म की शूटिंग करने संबंधी खबरों को लेकर शुक्रवार को उन पर हमला बोला और आरोप लगाया [Read more...]

मुख्य समाचार

अगर नहीं सुधरा पाक, तो रोक देंगे उसके हिस्से का भी पानीः गडकरी

नई दिल्लीः पुलवामा हमले के बाद से ही देश में पाकिस्तान के खिलाफ आक्रोश बढ़ रहा है। इसी के मद्देनजर गुरुवार को केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने घोषणा की कि पाकिस्तान की ओर जाने वाली नदियों के भारत के हिस्से [Read more...]

शहीदों के घर ‘दर्द का दरिया’ उमड़ा था और ‘प्राइम टाइम मिनिस्टर’ दरिया में शूटिंग कर रहे थे: राहुल

नई दिल्लीः कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने पुलवामा आतंकी हमले वाले दिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के एक चैनल के लिए फिल्म की शूटिंग करने संबंधी खबरों को लेकर शुक्रवार को उन पर हमला बोला और आरोप लगाया [Read more...]

ऊपर