मायावती ने भाजपा पर किया प्रहार : लगाया दोहरा चरित्र का आरोप

नईदिल्ली : बसपा समाज पार्टी की मुखिया मायावती ने एससी-एसटी एक्ट के विरोध में एक बार फिर जातिगत विवाद भरा बयान दिया है। 6 सितम्बर को भारत बंद को लेकर प्रतिक्रिया देते हुए शुक्रवार को भाजपा पर दोहरा चरित्र का आरोप लगाया है। बसपा सुप्रीमो ने इसे बीजेपी का ‘पॉलिटिकल स्टंट’ करार दिया है। कांफ्रेंस को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि अपना जनाधार खिसकता देख भाजपा पर्दे के पीछे से यह खेल कर रही है।

चुनाव से पहले भाजपा जातियों को बांटना चाहती
उन्होंने कहा कि सिर्फ भाजपा शासित राज्यों में गुरुवार (06 सितंबर) को सवर्णों ने भारत बंद का आयोजन किया था। देश के अन्य किसी राज्य में इसको लेकर किसी प्रकार का विरोध नहीं हुआ। उन्होंने कहा कि चुनाव से पहले भाजपा जातियों को बांटना चाहती है। दिल्ली में बसपा सुप्रीमो ने कहा कि सवर्ण संगठनों के भारत बंद पर मायावती ने कहा कि भाजपा ही एससी-एसटी एक्ट को लेकर लोगों में भ्रम पैदा कर रही है। उन्होंने कहा कि मेरी सरकार के दौरान एससी-एसटी एक्ट का दुरुपयोग रोका गया था। हमने इस एक्ट को काफी अच्छे ढंग से पढ़ा है। कहीं पर भी एससी-एसटी एक्ट का दुरुपयोग नहीं हो रहा है। उन्होंने कहा उनकी पार्टी सर्वजन हिताय और सर्वजन सुखाय की हितैषी है।

भाजपा की नीतियां आम लोगों के लिए नहीं
बसपा सुप्रीमो ने अपनी बात रखते हुए कहा कि उनकी सरकार में ही पहली बार सवर्णों को आर्थिक रूप से आरक्षण देने की मांग उठाई। उन्होंने कहा कि मेरी सरकार में किसी के साथ अन्याय नहीं हुआ और न ही एससी-एसटी एक्ट का दुरुपयोग हुआ। मायावती ने कहा कि केंद्र सरकार की नीतियों की वजह से आम जनता त्राहि-त्राहि कर रही है। बिना किसी तैयारी के नोटबंदी और जीएसटी लागू कर केंद्र सरकार ने लोगों को बर्बाद कर दिया है। उन्होंने कहा कि कहा कि भाजपा की नीतियां आम लोगों के लिए नहीं है। इस दौरान उन्होंने लोगों को आगाह करते हुए कहा कि सर्वसाधारण को सर्तक रहने की जरुरत है। आपको बता दें कि 6 सितंबर को एससी/एसटी एक्ट के विरोध में पूरे देश में भारत बंद था।

आरपीआई के अध्यक्ष ने मायावती के बयान का किया पलटवार
वहीं केंद्रीय मंत्री और रिपब्लिकन पार्टी ऑफ़ इंडिया (आरपीआई) के अध्यक्ष रामदास अठावले शुक्रवार को सवर्णों के भारत बंद पर बसपा सुप्रीमो मायावती के आरोपों पर पलटवार करते हुए कहा कि भाजपा सरकारों को बदनाम करने के लिए विपक्ष ने साजिश रची। लखनऊ पहुंचे रामदास अठावले ने कहा भाजपा शासित प्रदेशों में अधिक आंदोलन इसलिए हुए क्योंकि वहां भाजपा को बदनाम करने का काम किया गया। एससी-एसटी एक्ट में संशोधन को लेकर सवर्णों का भारत बंद विपक्ष की चाल थी। अठावले ने कहा कि आने वाले चुनावों में लाभ लेने के लिए कुछ लोगों ने भाजपा की सरकारों को बदनाम करने का काम किया है।
अठावले ने कहा कि जहां भाजपा की सरकार है वहां विपक्ष आंदोलन करवा रही है। उन्होंने कहा कि लेकिन इसका लाभ नहीं मिलेगा। मध्यप्रदेश-छत्तीसगढ़ और राजस्थान में भाजपा को जीत मिलेगी। राहुल गांधी और मायावती कुछ भी कर लें कोई फायदा नहीं होगा।



Leave a Comment

अन्य समाचार

ट्रम्प पर 16 राज्यों ने मुकदमा किया

सैन फ्रांसिस्को : मेक्सिको सीमा पर दीवार निर्माण के लिये राष्ट्रीय आपातकाल घोषित करने के फैसले के खिलाफ अमेरिका के 16 राज्यों ने राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के प्रशासन के खिलाफ मुकदमा दायर किया है। इन राज्यों ने ट्रंप के इस [Read more...]

जैश सरगना पाकिस्तान में है, यह सबूत कार्रवाई के लिये पर्यात : विदेश मंत्रालय

नई दिल्ली : गत 14 फरवरी को जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में हुये आतंकी हमले को लेकर मंगलवार को पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान के भारत से सबूत मांगने और हमले की साजिश रचनेवालों के खिलाफ कार्रवाई का आश्वासन देने के बाद [Read more...]

मुख्य समाचार

ट्रम्प पर 16 राज्यों ने मुकदमा किया

सैन फ्रांसिस्को : मेक्सिको सीमा पर दीवार निर्माण के लिये राष्ट्रीय आपातकाल घोषित करने के फैसले के खिलाफ अमेरिका के 16 राज्यों ने राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के प्रशासन के खिलाफ मुकदमा दायर किया है। इन राज्यों ने ट्रंप के इस [Read more...]

भारत और अर्जेंटीना ने की साझेदारी, 2025 तक 5 ट्रिलियन अमरीकी डॉलर की अर्थव्यवस्था बनने का लक्ष्य रखा

नई दिल्ली : केंद्रीय वाणिज्य, उद्योग और नागर विमानन मंत्री सुरेश प्रभु ने कहा कि भारत अर्जेंटीना के साथ द्विपक्षीय संबंधों को मजबूत बनाने का इच्छुक है। यह लैटिन अमेरिकी क्षेत्र में भारत का एक प्रमुख व्यापारिक भागीदार है। नई [Read more...]

ऊपर