ममता ने हसीना को कोलकाता आने का न्योता दिया

नयी दिल्ली/कोलकाता : बंगाल की सीएम ममता बनर्जी और बंगलादेश की पीएम शेख हसीना के बीच हुई बैठक में न केवल तीस्ता मुद्दे पर बातचीत हुई बल्कि ममता बनर्जी ने उन्हें कोलकाता आने के लिए भी आमंत्रित किया। ममता बनर्जी शनिवार की रात शेख हसीना के साथ रात्रि भोज में शरीक हुईं। इस मीटिंग में सीएम ने हसीना को बालुचरी की साड़ी तोहफे के रूप में दी तथा कोलकाता आने के लिए आमंत्रित किया। सूत्रों के मुताबिक ममता ने कहा कि बंगाल और बंगलादेश केवल संधियों के कारण एक दूसरे से जुड़े नहीं हैं बल्कि सही मायने में दोनों अच्छे पड़ोसी भी हैं। बंगलादेश को पानी मिले इसके लिए पूरी कोशिश है। जानकारी के मुताबिक सीएम ने कहा कि बंगलादेश को पानी देने से कोई आपत्ति नहीं है। तीस्ता की जगह तोरसा नदी का पानी लेने का सुझाव रखा है। इधर, बंगलादेश के साथ तीस्ता नदी के पानी के बंटवारे के संबंध में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सकारात्मक बयान के बावजूद बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी अपने रुख पर कायम हैं और उनका कहना है कि इस संधि से उनके राज्य के हितों को नुकसान नहीं पहुंचाना चाहिए। ममता ने कहा है कि तीस्ता की जगह उन दूसरी छोटी नदियों का पानी साझा किया जा सकता है जो बंगलादेश में भी बहती हैं। ममता ने इस मुद्दे पर फैसला करने के लिए इन नदियों का सर्वेक्षण करने की सलाह दी। सर्वेक्षण के आधार पर अन्य नदियों का पानी बंगलादेश की ओर मोडा जाना चाहिए। सीएम ने कहा कि तीस्ता नदी उत्तरी बंगाल की जीवनरेखा है। भारत सरकार को इस नदी के अलावा अन्य   नदियों पर फोकस करना चाहिए। ममता बनर्जी ने कहा, बंगलादेश की समस्या तीस्ता नहीं बल्कि पानी है। भारत-बंगलादेश के बीच कई और नदी हैं जिनसे पड़ोसी देश को पानी दिया जा सकता है। गर्मी के दौरान तीस्ता लगभग सूख जाती है। सूत्रों के अनुसार उन्होंने बंगलादेश की प्रधानमंत्री को तीस्ता समझौते को मौजूदा स्वरूप में स्वीकार करने में अपनी ‘सीमाओं और दिक्कतों ‘ से अवगत कराया है। सीएम ने कहा कि मेरा मानना है कि राज्य के हितों की रक्षा होनी चाहिए। उधर, नरेंद्र मोदी ने शनिवार को शेख हसीना की मौजूदगी में कहा ‘ मेरा दृढतापूर्वक मानना है कि केवल मेरी सरकार और सुश्री हसीना की सरकार तीस्ता जल बंटवारे का शीघ्र समाधान कर सकती है।’ ऐसा माना जाता है कि इस बयान से मुख्यमंत्री पर दबाव बन सकता है। नरेंद्र मोदी के इस बयान के बाद बंगलादेश इस मुद्दे के समाधान की उम्मीद बढी है और वह इस बयान को भारत की ‘नयी नीति’ के रूप में देख रहा है। बंगलादेश के विदेश सचिव शैदुल हक ने कहा है,’ दोनों नेताओं के संयुक्त वक्तव्य के दौरान प्रधानमंत्री मोदी का यह बयान बहुत महत्वपूर्ण है।’  बंगलादेश में अगले वर्ष आम चुनाव हैं जिनमें तीस्ता समझौता एक महत्वपूर्ण मुद्दा रहेगा। बंगलादेश के रंगपुर, निलफामरी, गैबंध, कुरिग्राम और लालमोनिहाट जैसे क्षेत्रों में किसान धान की फसल के लिए तीस्ता के पानी पर ही निर्भर हैं जबकि पश्चिम बंगाल के जलपाईगुडी, दक्षिण दिनाजपुर और दार्जिलिंग जैसे क्षेत्रों में भी किसान फसलों की सिंचाई के लिए तीस्ता के पानी पर ही आश्रित हैं। उल्लेखनीय है कि वर्ष 2011 में तत्कालीन पीएम डॉ. मनमोहन सिंह 2011 के सितंबर में ढाका गये थे लेकिन सीएम ने उस दौरान भी तीस्ता संधि पर सहमति जताने से इनकार किया था। बंगलादेश की आजादी की लड़ाई में शहीद हुए लोगों की याद में ममता बनर्जी चाहती हैं कि कोलकाता में मुक्ति योद्धा भवन का निर्माण हो। इसके साथ ही सीएम की चाहत है कि बंगला नव वर्ष ‘पोइला वैशाख’ संयुक्त रूप से मनाया जाए। बंगलादेश में 14 अप्रैल को पोइला वैशाख मनाया जाता है जबकि यहां अधिकांश तौर पर 15 अप्रैल को।

एसे अन्य लेख

Leave a Comment

अन्य समाचार

बम धमाके से फिर देहला श्रीलंका, कोलंबो के निकट हुआ धमाका

कोलंबो: श्रीलंका में ईस्टर के मौके पर हुए सिलसिलेवार बम धमाकों को एक हफ्ता भी नहीं बीता है कि एक और धमाके की खबर है। गुरुवार सुबह श्रीलंका की राजधानी कोलंबो से 40 किमी. दूर बम धमाके की [Read more...]

लीबिया में फंसे भारतीयों की मदद के लिए नियुक्त किये गये 17 समन्वयक

नयी दिल्लीः विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने बुधवार को कहा कि भारत ने लीबिया छोड़ रहे भारतीयों की मदद के लिये 17 समन्वयक नियुक्त किए गए हैं और भारतीय दूतावास उन लोगों की भी मदद कर रहा जिनका वीजा [Read more...]

मुख्य समाचार

आरबीआई ने रेपो रेट घटाई, लोन सस्ते होने की उम्मीद

मुंबईः भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) ने रेपो रेट में 0.25% की कटौती की है। यह 6.25% से घटकर 6% हो गई है। मॉनेटरी पॉलिसी कमेटी (एमपीसी) की बैठक खत्म होने के बाद गुरुवार को ब्याज दरों की घोषणा की गई। [Read more...]

कांग्रेस का पूरा घोषणापत्र हिंदी में पढ़ें

कांग्रेस ने मंगलवार को अपना घोषणापत्र जारी किया जिसमें गरीब परिवारों को 72 हजार रुपये सालाना, 22 लाख सरकारी नौकरियां, महिलाओं को आरक्षण, धारा 370 को न हटने देने और देशद्रोह की धारा हटाने सहित कई वादे किए। यहां क्लिक [Read more...]

जेट के कर्मचारियों को नौकरी देने के लिए ये दो कंपनियां आईं आगे

बम धमाके से फिर देहला श्रीलंका, कोलंबो के निकट हुआ धमाका

लीबिया में फंसे भारतीयों की मदद के लिए नियुक्त किये गये 17 समन्वयक

श्रीलंका हमला मामले में 16 और संदिग्ध गिरफ्तार, हवाई क्षेत्र के अंदर ड्रोन इस्तेमाल पर प्रतिबंध

माता सीता को लेकर उपेन्द्र कुशवाहा के विवादित बोल, कहा सिगरेट पीती है

30 साल बाद आया मलेरिया का टीका,अफ्रीका में हुआ लॉन्च

आईआरसीटीसी की इस सर्विस से टिकट बुक करना हुआ सस्ता

बोधिवृक्ष की पत्तियाें और टहनियाें की डस्ट मेहमानों को भेंट कि जाएगी

ईवीएम-वीवीपैट के मिलान को लेकर 21 विपक्षी दल पहुंचे सुप्रीम कोर्ट

इंडोनेशिया ने रामायण थीम पर डाक टिकट जारी किए

ऊपर