मणिशंकर अय्यर का निलंबन क्याें वापस लिया गया?

नयी दिल्ली (विशेष संवाददाता): विवादास्पद बयान के लिए जाने जाने वाले मणिशंकर अय्यर की ‘घर वापसी’ के मायने आखिर क्या हैं? एेसी क्या मजबूरी थी कि 2019 का चुनाव सामने रहते हुए एेन वक्त पर पार्टी ने अय्यर का निलंबन खत्म कर दिया? चर्चा थी कि उन्हें पार्टी में काेई पद दिया जा सकता है लेकिन पार्टी के कुछ पदाें पर हुए फेरबदल में उनका नाम नहीं है। उधर उनका निलंबन वापस होते ही उनके दिये बयानों और पाकिस्तान दौरे पर वहां के टेलीविजन चैनलों पर दिये इंटरव्यू आदि फिर से सोशल मीडिया में वायरल होने लगे हैं। भाजपा ताे उनकी वापसी काे लेकर अभी से हमलावर हाे गयी है। वैसे घर वापसी का जवाब न ताे अय्यर के पास है आैर न ही कांग्रेस के किसी नेता के पास।
एक कांग्रेस नेता ने कहा कि एक तरफ राहुल गांधी पार्टी नेताओं को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ निजी हमला नहीं करने का निर्देश देते हैं, दूसरी ओर उनके लिए ‘नीच’ शब्द प्रयोग करने वाले को पार्टी में वापस ले रहे हैं।अय्यर का कहना है कि उनकी प्राथमिक सदस्यता बहाल की गयी है इससे अधिक कुछ नहीं। उन्हाेंने कहा कि कांग्रेस में मेरी वापसी से क्या फर्क पड़ने वाला है। पार्टी में मेरे पास 2003 से काेई पद नहीं है। उस समय भी मैं कांग्रेस वर्किंग कमेटी का विशेष आमंत्रित सदस्य मात्र था लेकिन मुझे कमेटी का बैठक में आने के लिए आमंत्रण कभी नहीं मिला।
उधर पार्टी के नेता मान रहे हैं कि उनकी उपयोगिता कभी राजीव गांधी के जमाने में रही हो सकती है पर अब वह पार्टी के लिए नुकसानदेह हैं। पिछले 4 साल में वह कई बार पार्टी को नुकसान पहुंचा चुके हैं। उनके लिखने, बोलने और पाकिस्तान जाने पर रोक नहीं लगायी जा सकती। उनके सारे काम अंततः कांग्रेस को नुकसान पहुंचाएंगे। इस पर भी उनका निलंबन क्याें वापस लिया गया यह कांग्रेसियाें की समझ से बाहर है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

अमेरिका का बजट घाटा एक हजार अरब डॉलर के पार !

बजट कार्यालय ने व्यक्त किया अनुमान वाशिंगटनः अगले वित्त वर्ष में अमेरिका का बजट घाटा एक हजार अरब डॉलर के पार जाने की आशंका है। यह आगे पढ़ें »

new zealand speaker

न्यूजीलैंड : संसद में रो रहे बच्चे को स्पीकर ने पियाला दूध, लोगों ने की सराहना

वेलिंगटन : न्यूजीलैंड के संसद भवन में स्पीकर ट्रेवर मलार्ड ने एक सांसद के बेटे को दूध पिलाया। मालूम हो कि संसद भवन में आमतौर आगे पढ़ें »

ऊपर