भारत के निकेश को मिला 858 करोड़ का पैकेज, दुनिया में सबसे ज्यादा वेतन पाने वाले सीईओ बने

वाॅशिंगटनः भारत के गाजियाबाद के निकेश अरोड़ा अमेरिका की पालो आल्टो नेटवर्क्स इंक के सीईओ व चेयरमैन बनने के साथ दुनिया में सबसे ज्यादा वेतन पाने वाले सीईओ बन गए हैं। विश्व की इस सबसे बड़ी साइबर सिक्योरिटी सॉफ्टवेयर निर्माता कंपनी के सीईओ के तौर पर निकेश को करीब 858 करोड़ रुपये का कुल वेतन पैकेज मिला है। इससे पहले वह जापानी कंपनी टेलिकॉम सॉफ्टबैंक में कार्यरत थे। यहां वह उस समय दुनिया के तीसरे सबसे ज्यादा वेतन पाने वाले सीईओ बन गए थे, लेकिन इसके बाद उन्होंने इस्तीफा दे दिया था।

शेयर के दाम बढ़ेंगे तो ही मिलेगा इतना वेतन
करीब 19 बिलियन डॉलर की ब्रांड वैल्यू वाली कैलिफोर्निया स्थित पालो आल्टो नेटवर्क्स कंपनी की दुनिया में करीब 50 हजार कंपनियों में हिस्सेदारी है और उसमें करीब 5 हजार कर्मचारी काम करते हैं। कंपनी की तरफ से सोमवार को दर्ज की गई नियामक रिपोर्ट में बताया गया है कि करीब 50 साल के निकेश को कंपनी से मिले करीब 858 करोड़ रुपये के पैकेज की खास बात ये शर्त है कि इतने पैसे पाने के लिए उन्हें कंपनी के शेयरों का दाम चार गुना बढ़ाना होगा। निकेश कंपनी के पिछले सीईओ व चेयरमैन मार्क लाफलिन की जगह लेंगे, जो अब कंपनी के सेंट्रल बोर्ड वाइस चेयरमैन बन गए हैं। लाफलिन 2015 में कंपनी से दुनिया के 5वें सबसे ज्यादा वेतन पाने वाले एक्जीक्यूटिव के तौर पर जुड़े थे।

इस तरह होगा पैकेज
6.7 करोड़ रुपये का मिलेगा सालाना वेतन
6.7 करोड़ रुपये का होगा सालाना बोनस
268 करोड़ रुपये के शेयर रहेंगे उनके नाम पर
07 साल तक इन शेयरों को नहीं बेच पाएंगे निकेश
134 करोड़ रुपये में करीब 22000 शेयर अपने पैसे से खरीदने होंगे
443 करोड़ रुपये का स्टॉक विकल्प मिलेगा उन्हें कंपनी की शेयर वैल्यू 150 फीसदी बढ़ने पर
04 गुना तक कंपनी की कीमत बढ़ी तो ये 443 करोड़ रुपये का पूरा स्टॉक हो जाएगा निकेश का
858 करोड़ रुपये का हो जाएगा इस तरह निकेश का पूरा सालाना पैकेज

सॉफ्टबैंक में दो साल में लिए थे 1946 करोड़ रुपये
वर्ष 1992 में अपनी पहली नौकरी करने वाले निकेश 2004 में गूगल से जुड़े थे। गूगल में 10 साल तक काम करने के बाद 2014 में वे सॉफ्टबैंक ग्रुप कॉरपोरेशन में जुड़ गए थे, जहां उनकी हैसियत सॉफ्टबैंक के संस्थापक मासायोसी सन के बाद नंबर-2 की थी। पिछले साल मतभेदों के बाद सॉफ्टबैंक से इस्तीफा देने वाले निकेश को इस दौरान करीब 1946 करोड़ रुपये वेतन पैकेज के तौर पर मिले थे।

संघर्षपूर्ण रहा है जीवन
निकेश भारत में गाजियाबाद के रहने वाले हैं। उनका जन्म भारतीय एयरफोर्स के अधिकारी के यहां हुआ था। वह 1989 में बनारस हिंदू विश्वविद्यालय के इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी से इलेट्रिक्ल इंजीनियरिंग में बीटेक किया था। इसके बाद उन्होंने अमेरिका में पढ़ाई करने के लिए पिता से उधार के तौर पर 75 हजार रुपये लिए थे। एक इंटरव्यू में उन्होंने बताया कि उन्हें अमेरिका में अपनी पढ़ाई का खर्च निकालने के लिए बर्गर बेचने और सिक्योरिटी गार्ड की नौकरी जैसे काम भी करने पड़े। अमेरिका के बोस्टन कॉलेज से डिग्री लेने के बाद उन्होंने वहीं की नॉर्थईस्टर्न यूनिवर्सिटी से एमबीए किया। इसके बाद वे चार्टर्ड फाइनेंस एनालिस्ट (सीएफए) भी बने।

Leave a Comment

अन्य समाचार

मायावती नहीं लड़ेंगी लोकसभा चुनाव

नई दिल्‍ली: उत्तर प्रदेश की नगीना और अकबरपुर जैसी सीटों पर बसपा सुप्रीमो के चुनाव लड़ने के कयासों के बीच मायावती ने घोषणा की है कि वह आगामी लोकसभा चुनाव नहीं लड़ेंगी। इस संबंध में उन्‍होंने कहा कि कई बार [Read more...]

सोशल मीडिया पर भी आचार संहिता लागू, सोशल मीडिया का चुनावी दुरुपयोग रोकने की कोशिश

नई दिल्लीः चुनाव आयोग ने मंगलवार को सोशल मीडिया कंपनियों के प्रतिनिधियों के साथ लोकसभा चुनाव के दौरान सोशल मीडिया के दुरुपयोग को रोकने के विकल्पों पर चर्चा करने के लिए अहम बैठक बुलाई थी। जिसमें कंपनियों ने चुनाव के [Read more...]

जर्मनी यूरोपीय संघ में मसूद को वैश्विक आतंकी घोषित करवायेगा

प्रधानमंत्री ने ब्लॉग लिख कांग्रेस को घेरा, वंशवाद की रक्षा के लिए किसी भी हद तक जा सकती है कांग्रेस

अगली सरकार एनडीए की ‌होगी, घटक दल तय करेंगे प्रधानमंत्री का नाम : शिवसेना

पसंद करें या ना, चीन में बने सामानों का इस्तेमाल करना ही होगा : चीनी मीडिया

दलाई लामा का बड़ा बयान, कहा – मेरी मृत्यु के बाद भारत से ही हो सकता है मेरा उत्तराधिकारी

चंद्रबाबू नायडू ने प्रशांत किशोर को ‘बिहारी डकैत’ कहा, पी.के ने कहा- गाली न दे

भाजपा 70 साल की रट लगाना बंद करे, हर बात की एक्सपायरी डेट होती है: प्रियंका गांधी

जानिए इस साल के होलिका दहन का शुभ मुहूर्त, कथा और पूजा विधि

मुख्य समाचार

मायावती नहीं लड़ेंगी लोकसभा चुनाव

नई दिल्‍ली: उत्तर प्रदेश की नगीना और अकबरपुर जैसी सीटों पर बसपा सुप्रीमो के चुनाव लड़ने के कयासों के बीच मायावती ने घोषणा की है कि वह आगामी लोकसभा चुनाव नहीं लड़ेंगी। इस संबंध में उन्‍होंने कहा कि कई बार [Read more...]

सोशल मीडिया पर भी आचार संहिता लागू, सोशल मीडिया का चुनावी दुरुपयोग रोकने की कोशिश

नई दिल्लीः चुनाव आयोग ने मंगलवार को सोशल मीडिया कंपनियों के प्रतिनिधियों के साथ लोकसभा चुनाव के दौरान सोशल मीडिया के दुरुपयोग को रोकने के विकल्पों पर चर्चा करने के लिए अहम बैठक बुलाई थी। जिसमें कंपनियों ने चुनाव के [Read more...]

ऊपर