नहीं रहे पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी

नई दिल्लीः लंबे वक्त से बीमार चल रहे देश के पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी का एम्स में 5 बजकर 5 मिनट पर निधन हो गया। वाजपेयी 93 वर्ष के थे। पिछले तीन दिनों से उन्हें वेंटिलेटर पर रखा गया था। पिछले 24 घंटे से उनकी तबीयत बेहद नाजुक बनी हुई थी। इसके बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सहित कई केंद्रीय मंत्री तथा भाजपा के शीर्ष नेता पूर्व प्रधानमंत्री से मिलने एम्स पहुंच रहे थे। देश के तीन बार प्रधानमंत्री रह चुके अटल बिहारी को 2015 में देश के सर्वोच्च नागरिक सम्मान ‘भारत रत्न’ से सम्मानित किया गया था।


11 जून से अस्पताल में
बीते 11 जून को मूत्र नली में संक्रमण, छाती में जकड़न तथा किडनी की नली में संक्रमण की वजह से वाजपेयी को एम्स में भर्ती किया गया था। तब ऐसा बताया गया था कि यह उनका रूटीन चेकअप है। लेकिन पिछले कुछ दिनों से उनकी हालत नाजुक बनी हुई थी। बुधवार को एम्स के निदेशक डॉ. रणदीप गुलेरिया से प्रधानमंत्री मोदी को संदेश मिला कि पूर्व पीएम की सेहत बहुत खराब है। उन्हें लाइफ सपोर्ट पर रखा गया है। इसके बाद मोदी वाजपेयी का हाल जानने एम्स पहुंचे थे। इनके अलावा केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल, सुरेश प्रभु, हर्षवर्धन, जितेंद्र सिंह तोमर तथा अश्विनी कुमार चौबे सहित कई नेता भी पूर्व पीएम का हाल जानने एम्स पहुंचे थे।
उत्कृष्ट कवि और पत्रकार
25 दिसंबर 1924 को ग्लावियर में जन्मे अटल बिहारी राजनेता के साथ उत्कृष्ट कवि और पत्रकार भी थे। उन्होंने ‘राष्ट्रद्धर्म’ और ‘पांचजन्य’ जैसी पत्रिकाओं का संपादन भी किया था। रिकॉर्ड 9 बार लोकसभा के लिए चुने गए अटल दो बार राज्यसभा के भी सदस्य रहे थे। किशोरावस्था में ही उन्होंने राष्ट्रीय संवयंसेवक संघ ज्वाइन कर लिया था। 1951 में जनसंघ में शामिल होने के बाद उन्होंने 1957 में पहली बार लोकसभा चुनाव लड़ा। पहले चुनाव नें उन्हें हार का सामना करना पड़ा।
तीन बार रहे देश के प्रधानमंत्री
इसके बाद अगले लोकसभा चुनाव में वह बलरामपुर सीट से चुनाव जीतकर लोकसभा पहुंचे। इमरजेंसी के बाद हुए चुनाव में जनता पार्टी की सरकार में अटल को विदेश मंत्री बनाया गया। 1980 में वाजपेयी जनता पार्टी से अलग हो गए। 1996 में अटल पहली बार देश के प्रधानमंत्री बने। उन्हें तीन बार देश का प्रधानमंत्री बनने का मौका मिला। वह पहले ऐसे गैर-कांग्रेसी प्रधानमंत्री थे जिन्होंने 5 सालों का अपना कार्यकाल पूरा किया था। अटल बिहारी वाजपेयी ने 2005 में सक्रिय राजनीति से संन्यास ले लिया था।

एसे अन्य लेख

Leave a Comment

अन्य समाचार

पाकिस्तान डरा, संयुक्त राष्ट्र से भारत को रोकने की गुहार लगाई

नई दिल्ली : जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में केन्द्रीय आरक्षित सुरक्षा बल (सीआरपीएफ) के काफिले पर आतंकी हमले के बाद भारत ने पाकिस्तान की कूटनीतिक घेराबंदी शुरु कर दी है। इसके तहत भारत ने पाकिस्तान से सबसे पसंदीदा राष्ट्र का दर्जा [Read more...]

जलवायु परिवर्तन के कारण भारत में मौसमी स्थितियां बदल जाएंगीः शोध

वाशिंगटन : प्रोसीडिंग्स ऑफ द नेशनल एकेडमी ऑफ साइंसेज पत्रिका में प्रकाशित एक अध्ययन में पाया गया है कि जलवायु परिवर्तन के कारण भारत समेत उत्तरी गोलार्ध के क्षेत्रों में मौसमी स्थितियां निष्क्रिय हो सकती हैं और भयंकर तूफान आ [Read more...]

मुख्य समाचार

पाकिस्तान डरा, संयुक्त राष्ट्र से भारत को रोकने की गुहार लगाई

नई दिल्ली : जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में केन्द्रीय आरक्षित सुरक्षा बल (सीआरपीएफ) के काफिले पर आतंकी हमले के बाद भारत ने पाकिस्तान की कूटनीतिक घेराबंदी शुरु कर दी है। इसके तहत भारत ने पाकिस्तान से सबसे पसंदीदा राष्ट्र का दर्जा [Read more...]

जलवायु परिवर्तन के कारण भारत में मौसमी स्थितियां बदल जाएंगीः शोध

वाशिंगटन : प्रोसीडिंग्स ऑफ द नेशनल एकेडमी ऑफ साइंसेज पत्रिका में प्रकाशित एक अध्ययन में पाया गया है कि जलवायु परिवर्तन के कारण भारत समेत उत्तरी गोलार्ध के क्षेत्रों में मौसमी स्थितियां निष्क्रिय हो सकती हैं और भयंकर तूफान आ [Read more...]

ऊपर