नये साल का पहला ग्रहण आज

इंदौर : मौजूदा वर्ष में ग्रहणों की खगोलीय घटनाओं का सिलसिला शनिवार 11 फरवरी को लगने वाले उपच्छाया चंद्रग्रहण से शुरू होगा। यह ग्रहण भारत में दिखायी देगा।
उज्जैन की प्रतिष्ठित जीवाजी वेधशाला के अधीक्षक डा. राजेंद्रप्रकाश गुप्त ने भारतीय संदर्भ में की गयी कालगणना के हवाले से शुक्रवार को बताया कि उपच्छाया चंद्रग्रहण की शुरुआत तड़के चार बजकर दो मिनट दो सेकेंड पर होगी और यह आठ बजकर 25 मिनट पांच सेकेंड पर खत्म होगा। उन्होंने बताया कि चार घंटे से ज्यादा वक्त तक चलने वाली खगोलीय घटना के दौरान पृथ्वी से चंद्रमा कुछ धुंधला दिखायी देगा और इसके प्रकाश की तीव्रता कम हो जायेगी। उपच्छाया चंद्रग्रहण तब लगता है जब चंद्रमा पेनुम्ब्रा (ग्रहण के वक्त धरती की परछाई का हल्का भाग) से होकर गुजरता है। इस समय चंद्रमा पर पड़ने वाली सूर्य की रोशनी आंशिक तौर पर कटी प्रतीत होती है और ग्रहण को चंद्रमा पर पड़ने वाली धुंधली परछाई के रूप में देखा जा सकता है।

Leave a Comment

अन्य समाचार

कोलकाता में जन्मे जस्‍टिस पिनाकी घोष बने भारत के पहले लोकपाल

नई दिल्‍लीः सुप्रीम कोर्ट के पूर्व जस्टिस पिनाकी चंद्र घोष आधिकारिक रूप से भारत के पहले लोकपाल बन गए हैं। जस्टिस पिनाकी घोष ने शनिवार को देश के पहले लोकपाल की शपथ ग्रहण की। राष्‍ट्रपति भवन में राष्‍ट्रपति रामनाथ कोविंद [Read more...]

मोदी विरोधी शत्रुघ्न सिन्हा का टिकट कटा, गिरिराज की बदली सीट

पटना : राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) ने बिहार की सभी 40 लोकसभा सीटों में से 39 के लिए उम्मीदवारों का ऐलान कर दिया है। प्रदेश भाजपा कार्यालय में सुबह 11.30 बजे राजग के वरिष्ठ नेताओं ने उम्मीदवारों के नामों की [Read more...]

मुख्य समाचार

सरकार ने जेकेएलएफ पर नकेल कसा, महबूबा उतरीं बचाव में

नई दिल्ली: भारत सरकार ने आतंकियों को संरक्षण प्रदान करने वाले संगठनों को मुहंतोड़ जवाब देना शरू कर दिया है। शुक्रवार को केंद्र सरकार ने कहा कि कई हिंसक घटनाओं और 1988 से जम्मू-कश्मीर में अलगाववादी गतिविधियों को बढ़ावा देने [Read more...]

कोलकाता में जन्मे जस्‍टिस पिनाकी घोष बने भारत के पहले लोकपाल

नई दिल्‍लीः सुप्रीम कोर्ट के पूर्व जस्टिस पिनाकी चंद्र घोष आधिकारिक रूप से भारत के पहले लोकपाल बन गए हैं। जस्टिस पिनाकी घोष ने शनिवार को देश के पहले लोकपाल की शपथ ग्रहण की। राष्‍ट्रपति भवन में राष्‍ट्रपति रामनाथ कोविंद [Read more...]

ऊपर