ढाका में 9 आतंकी मारे गये, एक गिरफ्तार

ढाका : बांग्लादेशी सुरक्षा बलों ने मंगलवार तड़के आतंकियों के एक ठिकाने पर छापा मारकर बड़े हमले की एक और कोशिश को नाकाम कर दिया। इस छापे में हाल में ढाका के कैफे पर घातक हमला करने के दोषी प्रतिबंधित जमात उल मुजाहिदीन के 9 इस्लामी आतंकी मारे गये तथा एक को गिरफ्तार कर लिया गया। इस दौरान आतंकियों और सुरक्षाबलों के बीच भारी गोलीबारी हुई।
पुलिस की विशेष एसडब्ल्यूएटी इकाई, विशिष्ट अपराध-रोधी रैपिड एक्शन बटालियन और जासूसों ने खुफिया जानकारी के आधार पर मिलकर कल्याणपुर इलाके में एक सात मंजिला इमारत पर छापा मारा। आतंकियों ने सीढ़ियों के ऊपर से सुरक्षाबलों पर हमला बोला जिसके बाद दोनों पक्षों के बीच जमकर गोलीबारी हुई। करीब एक घंटे तक चली गोलीबारी के बाद 9 आतंकी मारे गये और गोलियों से घायल हुए एक आतंकी को गिरफ्तार कर लिया गया। पुलिस महानिरीक्षक ए के एम शहीद उल हक ने संवाददाताओं को बताया कि आतंकियों के बांग्लादेशी चरमपंथी समूह जमात उल मुजाहिदीन (जेएमबी) का सदस्य होने का संदेह है। जेएमबी को सरकार ने एक जुलाई को ढाका के कैफे पर घातक हमले के लिए जिम्मेदार ठहराया था। कैफे पर हुए हमले में 22 लोग मारे गये थे जिनमें से ज्यादातर विदेशी थे। हक ने कहा कि आतंकियों को प्रथमदृष्टया उसी समूह का सदस्य माना जा रहा है जिन्होंने गुलशन (रेस्तरां) और (उत्तरी) शोलाकिया में हमले किये। ढाका के संयुक्त पुलिस कमिश्नर शेख मारूफ हसन ने कहा कि ‘ऑपरेशन स्टॉर्म 26’ विशेष छापामारी स्थानीय समयानुसार सुबह पांच बजकर 51 मिनट पर शुरू की गयी। इस अभियान के तहत आसपास के इलाके को घेरकर बिल्डिंग ‘जहाज’ पर धावा बोला गया।
स्थानीय मीडिया के अनुसार गिरफ्तार आतंकी का इलाज राजधानी के एक अस्पताल में चल रहा है। पुलिस ने जब अस्पताल में उससे पूछताछ की तो उसने माना कि वह आईएसआईएस से प्रेरित था। पुलिस प्रमुख ने कहा कि मंगलवार का छापा इस माह के शुरू में एक के बाद एक हुए दो आतंकी हमलों के बाद देशभर में आतंकियों पर की जा रही कार्रवाई का हिस्सा है। उन्होंने कहा कि आतंकी बड़े स्तर पर एक और हमले को अंजाम देने की साजिश कर रहे थे। हक ने कहा कि पुलिस को आईएसआईएस से उनके रिश्ते के कोई साक्ष्य नहीं मिले हैं लेकिन सुरक्षा विश्लेषकों ने पहले कहा था कि विचारधारा के स्तर पर जेएमबी का झुकाव सीरिया के आतंकी संगठन आईएसआईएस की ओर है जिसने एक जुलाई के हमले की जिम्मेदारी ली थी। ‘जहाज’ मध्यम आय वाले लोगों के लिए बना आवासीय अपार्टमेंट है। यहां के अधिकतर फ्लैटों में लोग अपने परिवारों के साथ रहते हैं लेकिन इमारत की दो मंजिलें छात्रों और कुछ युवाओं को किराये पर दी गयी हैं।

Leave a Comment

अन्य समाचार

श्रीलंका विस्फोट : अबतक 140 लोगों की मौत, 400 से ज्यादा घायल, भारत ने की निंदा

कोलंबो : श्रीलंका में तीन गिरजाघरों और तीन होटलों में करीब एक साथ हुए छह विस्फोटों में कम से कम 140 लोगों की मौत हो गई और 400 से ज्यादा लोग घायल हो गए। अधिकारियों के अनुसार श्रीलंका के इतिहास [Read more...]

पाकिस्तान अगर हमारा पायलट नहीं लौटाता तो वह ‘कत्ल की रात’ होती : मोदी

पाटन : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को कहा कि उन्होंने पाकिस्तान को चेतावनी दी थी कि अगर उसने भारतीय वायु सेना के पायलट अभिनंदन वर्धमान को नहीं लौटाया तो उसे बेहद खतरनाक परिणाम भुगतने होंगे। उन्होंने कहा कि अगर [Read more...]

मुख्य समाचार

आरबीआई ने रेपो रेट घटाई, लोन सस्ते होने की उम्मीद

मुंबईः भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) ने रेपो रेट में 0.25% की कटौती की है। यह 6.25% से घटकर 6% हो गई है। मॉनेटरी पॉलिसी कमेटी (एमपीसी) की बैठक खत्म होने के बाद गुरुवार को ब्याज दरों की घोषणा की गई। [Read more...]

कांग्रेस का पूरा घोषणापत्र हिंदी में पढ़ें

कांग्रेस ने मंगलवार को अपना घोषणापत्र जारी किया जिसमें गरीब परिवारों को 72 हजार रुपये सालाना, 22 लाख सरकारी नौकरियां, महिलाओं को आरक्षण, धारा 370 को न हटने देने और देशद्रोह की धारा हटाने सहित कई वादे किए। यहां क्लिक [Read more...]

कमलनाथ ने कहा- अगर मेरा बेटा काम नहीं करे तो उसके कपड़े फाड़ देना

जल्द भारत लौटने वाले हैं ऋषि

श्रीलंका विस्फोट : अबतक 140 लोगों की मौत, 400 से ज्यादा घायल, भारत ने की निंदा

बाजार पूंजीकरण में 98,502 करोड़ रुपये की वृद्धि में शामिल शीर्ष 10 की 6 कंपनियां

सीजेआई मामले में एक बड़ा खुलासा, गोगोई को बदनाम करने के लिए वकील को दिया गया था बड़ा ऑफर

पाकिस्तान अगर हमारा पायलट नहीं लौटाता तो वह ‘कत्ल की रात’ होती : मोदी

ईस्टर के मौके पर श्रीलंका में सिलसिलेवार ‌विस्फोट, 129 की मौत, 400 लोग घायल

साध्वी प्रज्ञा ने कहा- मैंने अयोध्या में ढांचा ध्वस्त किया था, राम मंदिर बनाने से कोई नहीं रोक सकता

भारतीय विदेश सचिव के चीन दौरे से साफ होगा मसूद अजहर को वैश्विक आतंकी घोषित करवाने का रास्ता ?

लाखों लोग पासवर्ड के तौर पर कर रहे हैं ‘123456’ का इस्तेमाल

ऊपर