इमरान के प्रधानमंत्री बनने के सपने छोटे दल व निर्दलियों के गठबंधन तोड़ सकते है

इस्‍लामाबादः पाकिस्तान के पूर्व क्रिकेटर और राजनेता इमरान खान की मुश्किलें बढ़ सकती हैं। इमरान को पाकिस्तान के प्रधानमंत्री पद के लिए विपक्षी पार्टियों से बड़ा झटका मिला है। पाकिस्तान के चुनावों में धांधली का आरोप लगाने वाले दो बड़े दलों ने एक साथ आने का मन बना लिया है। ये पार्टियां अपना प्रधानमंत्री उम्मीदवार भी मैदान में उतार रही हैं। मालूम हो कि पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ के नेता इमरान खान की ताजपोशी का दिन तय हो गया है। इमरान खान 11 अगस्त को प्रधानमंत्री पद की शपथ लेने वाले हैं। जिसकी तैयारियां शुरु हो गई है। इमरान की पार्टी को पाक असेंबली चुनाव में 272 में से 116 सीटें मिली है।
बिलावल भुट्टों की अगुवाई वाले पीपीपी के साथ छोटे दल व निर्दलीय उम्मीदवार आये
पाकिस्तानी मुस्लिम लीग-नवाज (पीएमएल-एन) की मरियम औरंगजेब ने कहा, ‘देखिए, यह एक ऐसा गठबंधन है जो धोखाधड़ी कर हुए चुनावों के खिलाफ है।’ हालांकि ऐसा कहा जा रहा है कि विपक्षी गठबंधन के पास इमरान खान के प्रधानमंत्री पद तक पहुंचने से रोकने के लिए संख्या नहीं है। बता दें कि पीएमएल-एन ने पूर्व प्रधानमंत्री बेनजीर भुट्टो के बेटे बिलावट भुट्टों की अगुवाई वाले पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी (पीपीपी) के साथ हाथ मिलाया है। सुनने में आ रहा है कि उनके साथ कुछ और छोटे दल व निर्दलीय उम्‍मीदवार भी हैं।
निर्दलियों ने इमरान पर धांधली का लगाया आरोप
गौरतलब है कि इमरान खान की पार्टी ने नेशनल असेंबली की 272 में से 116 सीटों पर चुनाव जीता है। कहा जा रहा है कि वह छोटे दलों और निर्दलियों से गठबंधन कर सरकार बनाने लायक बहुमत जुटा ही लेंगे। इस बीच गुरुवार को पीएमएल-एन और पीपीपी ने एक बार फिर आरोप लगाया कि पाक सेना ने 25 जुलाई को हुए चुनाव में हस्तक्षेप किया, जिसका फायदा इमरान खान की पार्टी को मिला है। हालांकि चुनाव आयोग ने किसी भी तरह की धांधली से इनकार किया है।
शपथ ग्रहण सादगी से होगा
इमरान खान 11 अगस्त को प्रधानमंत्री पद की शपथ लेने वाले हैं, लेकिन इस खास मौके पर आपको कोई भी विदेशी मेहमान नजर नहीं आएगा। इमरान खान ने डी-चौक या परेड ग्राउंड जैसी सार्वजनिक जगह पर शपथ ग्रहण करने का फैसला बदल दिया है। अब मेहमानों की लिस्ट में भी बदलाव कर दिया गया है। पीटीआइ प्रमुख ने अब फैसला किया है कि शपथ ग्रहण समारोह सादगी से होगा। समारोह में किसी भी राष्‍ट्राध्‍यक्ष या विदेशी अधिकारी को न्‍योता नहीं दिया गया है।

एसे अन्य लेख

Leave a Comment

अन्य समाचार

आठ बम धमाकों से दहला श्रीलंका, चर्च और होटलों में हमला, 215 की मौत, 500 जख्मी

कोलंबो: श्रीलंका में ईस्टर के मौके पर रविवार को हुए तीन चर्चों और लग्जरी होटलों में हुए बम धमाकों समेत रविवार को हुए आठ धमाकों में से दो आत्मघाती बम धमाके थे जिनमें 215 लोगों की मौत हो गई [Read more...]

तीसरे चरण के मतदान के लिए चुनाव प्रचार थमा

नयी दिल्ली : लोकसभा चुनाव के तीसरे चरण के लिये रविवार को चुनाव प्रचार थम गया। इस चरण के तहत महाराष्ट्र, गुजरात, छत्तीसगढ़, कर्नाटक, ओडिशा, असम और गोवा की कुछ सीटों पर मंगलवार को वोट डाले जायेंगे। महाराष्ट्र में [Read more...]

मुख्य समाचार

आरबीआई ने रेपो रेट घटाई, लोन सस्ते होने की उम्मीद

मुंबईः भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) ने रेपो रेट में 0.25% की कटौती की है। यह 6.25% से घटकर 6% हो गई है। मॉनेटरी पॉलिसी कमेटी (एमपीसी) की बैठक खत्म होने के बाद गुरुवार को ब्याज दरों की घोषणा की गई। [Read more...]

कांग्रेस का पूरा घोषणापत्र हिंदी में पढ़ें

कांग्रेस ने मंगलवार को अपना घोषणापत्र जारी किया जिसमें गरीब परिवारों को 72 हजार रुपये सालाना, 22 लाख सरकारी नौकरियां, महिलाओं को आरक्षण, धारा 370 को न हटने देने और देशद्रोह की धारा हटाने सहित कई वादे किए। यहां क्लिक [Read more...]

जेट एयरवेज के विमानों को उड़ाना चाहता है यह एयरलाइंस

इस सप्ताह कई कंपनियां घोषित करेंगी वित्तीय परिणाम, शेयर बाजार में जारी रहेगा उतार चढ़ाव

हरियाणा के एक गांव में अज्ञात बीमारी का खौफ, ग्यारह दिनों में बैठे-बैठे सात लोगों की मौत

हाथी के इलाज के लिए दक्षिण अफ्रीका से बुलाए गए डाॅक्टर

पाक की परमाणु क्षमता पर प्रधानमंत्री मोदी का तंज, हमने दिवाली के लिए नहीं रखा है परमाणु बम

टिकटॉक जैसे ऐप पर प्रतिबंध से प्रभावित हो सकता है निवेश : आईएएमएआई

आठ बम धमाकों से दहला श्रीलंका, चर्च और होटलों में हमला, 215 की मौत, 500 जख्मी

तीसरे चरण के मतदान के लिए चुनाव प्रचार थमा

कन्हैया के लिये बॉलीवुड गीतकार जावेद अख्तर प्रचार करेंगे

जेट की हिस्सेदारी बिक्री प्रक्रिया विफल हुई तो डीआरटी आखिरी विकल्प

ऊपर