असम में 40 लाख लोग भारतीय नहीं, एनआरसी ड्राफ्ट को लेकर हंगामा

विपक्षियों ने सरकार को घेरा, केंद्रीय गृह मंत्री ने कहा- इसमें केंद्र सरकार क्या कर सकती है?

नई दिल्लीः असम में नेशनल रजिस्टर ऑफ सिटिजन (एनआरसी) ने दूसरा ड्राफ्ट जारी कर दिया है। इसमें 2 करोड़ 89 लाख लोगों को ही राज्य में भारतीय नागरिक माना गया है जबकि 40 लाख लोगों को भारतीय नागरिकता नहीं मिली है। इसकी जानकारी एनआरसी के स्टेट को-आर्डिनेटर प्रतीत हजेला ने दी है। वहीं, दूसरी ओर इस ड्राफ्ट को लेकर संसद में राजनीति शुरू हो गई है। कई पार्टियों ने इस दौरान खूब हंगामा । लोकसभा में गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि मैं विपक्ष से पूछना चाहता हूं कि केंद्र सरकार का इसमें क्या हाथ है? यह सबकुछ सुप्रीम कोर्ट की देख-रेख में हो रहा है। इस तरह के संवेदनशील मुद्दों पर राजनीति नहीं होनी चाहिए।
तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) के सासंदों ने इस लिस्ट को लेकर सवाल खड़े किए हैं। वहीं गृहमंत्री राजनाथ सिंह का इस पूरे मामले पर कहना है कि सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर राजनीति नहीं होनी चाहिए। टीएमसी के सांसद सौगत रॉय ने जारी हुए एनआरसी के ड्राफ्ट को लेकर राज्यसभा में स्थगन प्रस्ताव दिया। टीएमसी सासंदों और कुछ दूसरे सासंदों ने डेरेक ओ ब्रायन के नेतृत्व में इस मामले को लेकर हंगामा किया जिसे सभापति वैंकेया नायडू ने संभालने की काफी कोशिश की लेकिन बाद में उन्होंने 2 बजे तक के लिए राज्यसभा स्थगित कर दी।

कुछ लोग डर का माहौल बना रहे
केंदीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने कहा, ‘कुछ लोग बिना वजह डर का माहौल पैदा करने की कोशिश कर रहे हैं। यह पूरी तरह से निष्पक्ष रिपोर्ट है। किसी भी तरह की गलतफहमी नहीं फैलाई जानी चाहिए। यह केवल ड्राफ्ट है ना कि फाइनल लिस्ट। यदि किसी का नाम फाइनल लिस्ट में नहीं है तो वह विदेशी ट्रिब्यूनल से संपर्क कर सकता है। किसी के भी खिलाफ कोई प्रतिरोधी कार्रवाई नहीं की जाएगी। इसलिए भयभीत होने की कोई जरुरत नहीं है। वहीं केंद्रीय गृहराज्यमंत्री किरण रिजिजू ने लिस्ट को लेकर जारी राजनीतिक घमासान पर कहा कि सरकार किसी के साथ भी अन्याय नहीं करेगी।

असम कांग्रेस के अध्यक्ष ने कहा- रिपोर्ट में खामी
ड्राफ्ट पर असम कांग्रेस के अध्यक्ष रिपुन बोरा ने कहा कि 40 लाख नामों को अयोग्य करार दिया गया है जो बहुत बड़ा आंकड़ा है और काफी आश्चर्यजनक भी। रिपोर्ट में बहुत सारी अनियमितताएं हैं। हम इस मामले को सरकार के सामने और संसद में उठाएंगे। इसके पीछे भाजपा का राजनीतिक मकसद भी है। टीएमसी के सांसद एसएस रॉय ने कहा कि सरकार ने जानबूझकर 40 लाख धार्मिक और भाषाई अल्पसंख्यकों को एनआरसी से हटा दिया है। इसका असम के आस-पास के विभिन्न राज्यों की जनसांख्यिकी पर गंभीर दुष्प्रभाव पड़ेगा। प्रधानमंत्री को सदन में आना चाहिए और इसपर सफाई देनी चाहिए।

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ने कहा- केंद्रीय सरकार की राज
पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने असम एनआरसी के मसले पर कहा कि कई लोगों के पास आधार कार्ड और पासपोर्ट भी थे लेकिन फिर भी उनका नाम ड्राफ्ट में नहीं था। सही दस्तावेजों के बावजूद लोगों को शामिल नहीं किया गया। कई लोगों को उनके सरनेम की वजह से भी बाहर किया गया। क्या सरकार जबरदस्ती लोगों को बाहर निकालना चाहती है? उन्होंने कहा कि सरकार की नीति बांटो और राज करो की है। सरकार एक गेम प्लान के तहत इनको अलग-थलग कर रही है। मुझे चिंता है कि अपने ही देश में लोगों को शरणार्थी बनाया जा रहा है।

Leave a Comment

अन्य समाचार

इमरान खान की भाषा बोल रही है कांग्रेस : रविशंकर प्रसाद

नयी दिल्ली : पिछले हफ्‍ते हुए पुलवामा आतंकी हमले को लेकर जहां पूरा देश गम में डूबा हुआ है, लोग इस कायराना हरकत करने वाले को सब्‍ाक सिखाने की मांग कर रहे है। वही राजनीतिक दलों ने एक दूसरे पर [Read more...]

कार्रवाईः बांध बनाकर रोकी जाएगी पाकिस्तान को जाने वाली तीन नदियों का पानी

लखनऊः केंद्रीय मंत्री नितिन गड़करी ने गुरुवार को मुजफ्फरनगर में 4700 करोड़ रुपए की राष्ट्रीय राज मार्ग परियोजना का शिलान्यास किया। कार्यक्रम के शुरुआत में गडकरी ने मुजफ्फरनगर के गवर्नमेंट इंटर कॉलेज में पुलवामा में शहीद हुए जवानों को श्रद्धांजलि [Read more...]

मुख्य समाचार

दीघा के होटल में युवक का फंदे से लटका शव बरामद

दीघा : दीघा स्थित एक होटल में कोलकाता के एक युवक का फंदे से लटकता शव बरामद किया गया। पुलिस का अनुमान है कि उसने फांसी लगाकर आत्महत्या की है। मृतक की पहचान शुभंकर बनर्जी (25) के रूप [Read more...]

रघुनाथगंज में अवैध हथियारों के साथ आर्म्स कारोबारी गिरफ्तार

दो वन शटर पिस्टल समेत दो जिंदा कारतूस बरामदमुर्शिदाबादः खुफिया सूत्रों से मिली जानकारी के बाद रघुनाथगंज थाना पुलिस ने अवैध हथियारों के साथ आर्म्स कारोबारी को गिरफ्तार किया। गिरफ्तार कारोबारी का नाम गुलाब शेख(28) है। बुधवार [Read more...]

ऊपर