यौन उत्पीड़न के आरोपों में घिरे अकबर ने स्वदेश लौटते ही अारोपों को बताया बेबुनियाद

नई दिल्ली : मी टू कैम्पेन के तहत यौन शोषण के आरोपों का सामना कर रहे विदेश राज्य मंत्री एमजे अकबर रविवार सुबह नाइजीरिया यात्रा से लौट आए। दोपहर बाद उन्होंने अपने ऊपर लगे आरोपों को बेबुनियाद बताया। अकबर ने कहा कि वह कानूनी कदम उठाएंगे। उन्होंने सवाल उठाया कि आम चुनाव से कुछ महीने पहले ही ऐसा क्यों किया जा रहा है? क्या इसके पीछे कोई एजेंडा है। अकबर पर 10 महिलाओं ने यौन उत्पीड़न के आरोप लगाए हैं। उन्होंने कहा कि कुछ हिस्सों में बिना सबूतों वाले आरोप वायरल फीवर की तरह फैल रहे हैं। ये झूठे और बेबुनियाद हैं। दुर्भावना के चलते आरोपों में तड़का लगाया जा रहा है। मैं आधिकारिक यात्रा पर बाहर गया था और इसीलिए आरोपों का जवाब नहीं दे पाया। इन आरोपों से मेरी छवि को ऐसा नुकसान पहुंचा है, जिसकी भरपाई नहीं हो सकती।

आरोप लगाने वाली महिला को भी हाथ नहीं लगाया : 

केंद्रीय मंत्री ने कहा- आरोप लगाने वाली एक महिला ने कहा कि मैंने कभी उसे हाथ नहीं लगाया। दूसरी ने कहा कि उन्होंने वास्तव में कुछ नहीं किया। एक महिला ने कहा कि मैं स्वीमिंग पूल में पार्टी कर रहा था। मुझे ये भी नहीं पता कि तैराकी कैसे की जाती है। एक महिला ने दफ्तर में शोषण के आरोप लगाए। ये 21 साल पहले का मामला है, यानी मेरे राजनीति में शामिल होने से 16 साल पहले का, जब मैं मीडिया में था। उन्होंने कहा कि मैंने उस महिला के साथ केवल एशियन एज के दफ्तर में काम किया। तब एडिटोरियल टीम एक छोटे से हॉल में काम करती थी। जिस समय की बात हो रही है, मेरा एक बहुत छोटा क्यूबिकल था। प्लाइवुड और ग्लास से बना। 2 फीट की दूरी पर दूसरों के पास कुर्सियां और मेज थीं। ये बेहद अजीब है कि इतनी छोटी जगह में कुछ हो सकता है। इससे भी बड़ी बात कि नजदीक के लोगों को कुछ भी पता नहीं चला।

बेबुनियाद आरोप है :

ये उकसावे में लगाए गए झूठे और बेबुनियाद आरोप हैं। जिस समय की घटना का जिक्र किया गया है, उसके बाद भी दोनों पत्रकार मेरे साथ काम करती रहीं। इससे साफ होता है कि उन्हें कोई आशंका या असहजता नहीं थी। इतने समय तक वे चुप क्यों रहे, इसका कारण स्पष्ट है। जैसा कि एक महिला ने खुद कहा कि मैंने कभी कुछ नहीं किया। मेरे वकील इन बेबुनियाद आरोपों पर कानूनी कदम उठाने पर विचार कर रहे हैं। ये तूफान आम चुनाव से कुछ महीने पहले क्यों शुरू हुआ? क्या इसके पीछे कोई एजेंडा है। आप जज हैं। इन बेबुनियाद आरोपों ने मेरी छवि को ऐसा नुकसान पहुंचाया है, जिसकी भरपाई नहीं हो सकती। केंद्रीय मंत्री ने कहा- झूठ के पैर नहीं होते, लेकिन इनमें ऐसा जहर हो सकता है जो पागलपन फैला सकता है। ये दुख पहुंचाने वाला है। मैं कानूनी कदम उठाऊंगा। अगर मैंने कुछ नहीं किया है, तो ये कहानी कहां से आ रही है। कोई कहानी है ही नहीं। एक ऐसी चीज के इर्द-गिर्द झूठे आरोपों, अफवाहों और अनुचित आक्षेपों का सागर बनाया जा रहा है, जो कभी हुई ही नहीं। मैंने कुछ नहीं किया। मालूम हो कि सोशल मीडिया पर करीब 10 महिलाओं ने अकबर पर यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया है। हालांकि ये आरोप तब के हैं, जब एमजे अकबर की राजनीति में प्रवेश नहीं हुई थी। अधिकतर आरोप एमजे अकबर के पत्रकारिता करियर के दौरान उनके साथ काम की हुई महिला पत्रकारों ने लगाए हैं।

अकबर को लेकर विपक्ष लगातार हमलावार :
वहीं विपक्ष भी इस मसले पर सरकार पर हमलावर है। उधर, कई महिला संगठनों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह से एमजे अबकर को पद से हटाने और उचित कार्रवाई करने की मांग की है।
मोदी के मंत्री ने ही इस्तीफा मांगा

मोदी सरकार के मंत्री रामदास अठावले ने कहा है कि अगर आरोप साबित होने पर एमजे अकबर को इस्तीफा दे देना चाहिए। दूसरी ओर, विपक्षी दल कांग्रेस, माकपा और एआईएमआईएम भी अकबर से इस्तीफे की मांग कर चुके हैं।

एसे अन्य लेख

Leave a Comment

अन्य समाचार

आजम खान के बाद अब उनके बेटे ने की जया प्रदा पर विवादित टिप्पणी, कही ये बड़ी बात

  नई दिल्लीः लोकसभा चुनाव के दौरान सियासी दल एक दूसरे पर भाषा की मर्यादा भूलकर हमलावर हो रहे है। इसी कड़ी में समाजवादी पार्टी (सपा) के नेता आजम खान के बाद अब उनके बेटे ने रामपुर से भारतीय जनता [Read more...]

श्रीलंका सिलसिलेवार विस्फोट : 2 जेडीएस नेताओं सहित 6 भारतीयों की मौत, मामले में अबतक 24 लोग गिरफ्तार

कोलंबो : श्रीलंका में रविवार को ईस्टर के मौके पर हुये सिलसिलेवार आठ विस्फोटों में मरने वालों की संख्या 290 तक पहुंच गई है वहीं करीब 500 लोग घायल हैं। इन धमाकों में जनता दल सेक्यूलर (जेडीएस) के दो नेताओं [Read more...]

मुख्य समाचार

आरबीआई ने रेपो रेट घटाई, लोन सस्ते होने की उम्मीद

मुंबईः भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) ने रेपो रेट में 0.25% की कटौती की है। यह 6.25% से घटकर 6% हो गई है। मॉनेटरी पॉलिसी कमेटी (एमपीसी) की बैठक खत्म होने के बाद गुरुवार को ब्याज दरों की घोषणा की गई। [Read more...]

कांग्रेस का पूरा घोषणापत्र हिंदी में पढ़ें

कांग्रेस ने मंगलवार को अपना घोषणापत्र जारी किया जिसमें गरीब परिवारों को 72 हजार रुपये सालाना, 22 लाख सरकारी नौकरियां, महिलाओं को आरक्षण, धारा 370 को न हटने देने और देशद्रोह की धारा हटाने सहित कई वादे किए। यहां क्लिक [Read more...]

ईरान से तेल खरीदने वाले भारत सहित पांच देशों पर अमेरिका लगा सकता है प्रतिबंध : सूत्र

गोखले ने चीनी विदेश मंत्री के साथ की वार्ता

देशभर के 1.5 लाख डाकघरों को आधुनिक बनाएगी यह कंपनी

आजम खान के बाद अब उनके बेटे ने की जया प्रदा पर विवादित टिप्पणी, कही ये बड़ी बात

श्रीलंका सिलसिलेवार विस्फोट : 2 जेडीएस नेताओं सहित 6 भारतीयों की मौत, मामले में अबतक 24 लोग गिरफ्तार

कचरा प्रबंधन के लिए सलाना 5 अरब डॉलर के निवेश की जरूरत: रिपोर्ट

जेट एयरवेज के विमानों को उड़ाना चाहता है यह एयरलाइंस

इस सप्ताह कई कंपनियां घोषित करेंगी वित्तीय परिणाम, शेयर बाजार में जारी रहेगा उतार चढ़ाव

हरियाणा के एक गांव में अज्ञात बीमारी का खौफ, ग्यारह दिनों में बैठे-बैठे सात लोगों की मौत

हाथी के इलाज के लिए दक्षिण अफ्रीका से बुलाए गए डाॅक्टर

ऊपर