एक मछली ने कराया लाखों का फायदा

fishermen

नई दिल्ली: एक मछली ने मछुआरा का नसीब बदल दिया। उसका सब दुख-कष्ट उस मछली ने हर लिया। एक मछली ने मछुआरा को एक दिन में लखपति बना दिया। जी हां, बिलकुल सही सुना आपने। एक मछली की कीमत का अंदाजा आप ज्यादा से ज्यादा हजारों में लगा सकते है। लेकिन यह मछली लाखों में बिकी है। उड़ीसा के चंदबाली इलाके के धामरा समुद्रतट पर एक ऐसी मछली मिली जिसकी कीमत लाखों में है।

मछली को एक दवा कंपनी ने खरीदा
प्राप्त जानकारी के अनुसार मछुआरें रोज की तरह धामरा समुद्र तट पर मछलियां पकड़ने गये थे। एक मछुआरा के जाल में अनोखी प्रजाति की मछली फंस गई। फंसी मछली की कीमत चेन्नई की एक दवा कंपनी ने सात हजार रुपये प्रति किलो लगाई। मछुआरे ने मछली बेचकर 7 लाख 49 हजार कमाए। पूछताछ करने पर वहां के मछुआरों ने बताया कि काफी लंबे समय के बाद इस समुद्र से नयी प्रजाति की मछली मिली है। इस प्रजाति की मछली को ड्रोन सागर कहा जाता है। मछली का कुल वजन 107 किलोग्राम है। बहुत दिनों पहले पालघर में घोल प्रजाति की मछली महंगे दामों में बिकी थी। जिसकी कीमत पांच लाख रुपये थी। बता दें कि घोल मछली के फेफड़े और स्किन से दवाईयां और काॅस्मेटिक के सामान तैयार किये जाते है। पूर्वी एशिया में इस मछली से बड़े पैमाने पर दवाईयां बनायी जाती है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

अपराध

कटारिया स्टेशन के पास ट्रेन से कटकर युवक की मौत

भागलपुर : बिहार में पूर्व-मध्य रेलवे के बरौनी-कटिहार रेलखंड के कटारिया स्टेशन के निकट मंगलवार को ट्रेन से कटकर एक युवक की मौत हो गयी। नवगछिया आगे पढ़ें »

विद्यापति की शृंगारिक रचनाओं के नायक-नायिका समाज को पढ़ाते हैं मर्यादा का पाठ

दरभंगा : मैथिली के प्रसिद्ध विद्वान एवं लेखक डॉ. शांतिनाथ सिंह ठाकुर ने मैथिली भाषा के विकास में महाकवि विद्यापति की शृंगारिक रचनाओं के जबरदस्त आगे पढ़ें »

ऊपर