हवाई जहाज के नीचे छिपकर लंदन पहुंचा था ये शख्स

नई दिल्लीः अभी कुछ दिन पहले ही फ्लाइट की लैंडिंग गियर की जगह छिपकर जा रहा एक व्यक्ति आसमान से गिर गया था। जांच में पता चला था कि वो केन्या एयरलाइन की फ्लाइट से गिरा था। उसका शव लंदन के ही एक बगीचे में मिला था। अब इसी ही तरह की एक और कहानी सामने आई है जिसमें यात्रा के बाद व्यक्ति जीवित बच गया।
दिल्ली से चढ़ा था
पूरी दुनिया में ऐसे कई घटनाएं हुई हैं जब लोगों ने हवाई जहाज के निचले हिस्से में छिपकर यात्रा की हो और मौत के शिकार हो गए हों। परंतु ऐस कम ही हुआ है जब ऐसा करने वाला कोई व्यक्ति जिंदा बचा हो। एक रिपोर्ट के अनुसार 1996 में प्रदीप सैनी नामक एक व्यक्‍ति ने दिल्ली से इसी तरह की यात्रा की थी। सैनी ‌आज लंदन में ही ड्राइवर के रूप में काम कर रहे। बताया जा रहा कि सैनी ने 6500 किलोमीटर तक लैंडिंग गियर में यात्रा की थी फिर भी वे सुरक्षित रहे। ब्रिटिश एयरवेज की फ्लाइट चालीस हजार फीट की ऊंचाई पर पहुंची थी जहां 60 डिग्री के तापमान और न के बराबर ऑक्सीजन था।
भाई की हो गई थी मौत
लंदन में ड्राइविंग का काम करने वाले सैनी को उस घटना के बारे में कुछ याद नहीं। वे सिर्फ इतना बता पाते हैं कि यात्रा बड़ी मुश्किल भरी थी। सैनी के साथ सफर में उस दौरान उनके छोटे भाई विजय भी थे‌ जिनकी विमान से गिरकर मौत हो गई थी। उनका शव पांच दिनों के बाद लंदन में मिला था।
हो गए थे बेहोश
हवाई जहाज के नीचे छिपकर लंदन पहुंचने पर प्रदीप सैनी बेहोश हो गए थे। अस्पताल में भर्ती कराने पर उनकी रिकवरी को देखते हुए डॉक्टर आश्चर्यचकित हो गए थे। इंग्लैंड से निकाले जाने के खिलाफ कानूनी लड़ाई लड़ने के बाद वहां की अदालत ने सैनी को इंग्लैंड में रहने की इजाजत दे दी। मालूम हो कि सैनी लंदन जाने से पहले पंजाब में मैकेनिक का काम किया करते थे।

शेयर करें

मुख्य समाचार

ईपीसीएच द्वारा आयोजित मेले में  81 देशों के 1200 प्रतिनिधियों ने लिया हिस्सा, 150 करोड़ की खरीद के लिए आई पूछताछ 

नई दिल्ली : इंडियन फैशन ज्वैलरी एंड एसेसरीज (ईपीसीएच) द्वारा आयोजित पहले वर्चुअल मेले में 81 देशों के 1200 से ज्यादा प्रतिनिधियों ने हिस्सा लिया। आगे पढ़ें »

अमेजन ने एमएसएमई के लिए हिंदी में शुरू की सेवाएं

नई दिल्ली : भारतीय उद्यमियों, सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यमों स्थानीय दुकानों और खुदरा विक्रेताओं के लिए ई-कॉमर्स से लाभ उठाने के उद्देश्‍य से अमेजन आगे पढ़ें »

ऊपर