सावधान! आपके मोबाइल में ‌भी हो सकता है एजेंट स्मिथ

नई दिल्लीः अगर आप एंड्रॉयड फोन का इस्तेमाल करते हैं तो यह खबर आपके लिए बेहद महत्वपूर्ण है। इजराइल की साइबर सुरक्षा कंपनी के मुताबिक खतरनाक वायरस एजेंट स्मिथ ने भारत के साथ कई देशो में 2.5 करोड़ एंड्रॉयड फोन पर अटैक कर दिया है। रिपोर्टस की माने तो इस वायरस ने भारत एवं अन्य विकासोन्मुख देशों के एंड्रॉयड उपयोगकर्ताओं के फोन पर हमला किया है। यह वायरस थर्ड पार्टी ऐप की सहायता से मोबाइल पर अटैक कर वॉट्सऐप सहित अन्य कई ऐप को हैक करने की क्षमता रखता है। इस वायरस से फोन में ऐप का डुप्लीकेट वर्जन इन्स्टॉल हो जाता है जिससे हैकर्स बड़ी आसानी से उपयोगकर्ताओं का निजी डेटा चोरी कर लेते हैं।

बैंकिंग डिटेल्स चोरी होने का खतरा

रिसर्च कंपनी चेक पॉइंट के मुताबिक इस मैलवेयर का नाम एजेंट स्मिथ है जो काफी सरल तरीके से फोन में उपस्‍थित किसा भी ऐप का उपयोग कर सकता है। उपयोगकर्ताओं को वित्तीय लाभ से संबंधित विज्ञापन का लालच देकर उनके बैंकिंग डिटेल्स को चुरा लेता है। ये मैलवेयर गुग्लियन, हमिंगबर्ड, कॉपीकैट से काफी मेल खाता है। चेक पॉइंट कंपनी ने उपयोगकर्ताओं को अपने फोन पर किसी भी ऐप के इस्तेमाल के प्रति सावधानी बरतने को कहा है।

कई देशों के करोड़ों उपयोगकर्ता प्रभावित

इस खतरनाक वायरस ने भारत में करीब 1.5 करोड़, अमेरिका में 3 लाख और इंग्लैंड में 1,37,000 उपयोगकर्ताओं को प्रभावित कर दिया हैं। चीन के अलीबाबा ग्रुप की मदद से बना ये थर्ड पार्टी ऐप 9apps.com फोन में घुसकर अटैक करता है।

आखिर क्या है मैलवेयर ?

मैलवेयर वायरस की ही तरह काम करने वाला सॉफ्टवेयर है जो उपयोगकर्ताओं के फोन के डेटा को नुकसान पहुंचाता हैं। इंटरनेट या किसी एप्लिकेशन के जरिए कम्प्यूटर, मोबाइल फोन और अन्य इलेक्ट्रॉनिक डिवाइसेज में घुस कर उपयोगकर्ताओं के निजी डेटा जैसे कॉन्टैक्ट, मैसेज, बैंक डिटेल, लॉगइन आईडी जैसी कई जानकारियां को चुरा लेता हैं।

शेयर करें

मुख्य समाचार

लोगों में पीओके की आजादी के लिये ‘जुनून’ है : ठाकुर

जम्मू : केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने सोमवार को कहा कि जम्मू-कश्मीर के विशेष दर्जे को समाप्त करने के बाद पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर आगे पढ़ें »

पिछले पांच-छह साल में बढ़े हैं दलितों पर अत्याचार : प्रशांत भूषण

नयी दिल्ली : भीम आर्मी द्वारा आयोजित संवाददाता सम्मेलन में सामाजिक कार्यकर्ता व वकील प्रशांत भूषण ने सोमवार को आरोप लगाया कि पिछले पांच-छह साल आगे पढ़ें »

ऊपर