अगले साल दिल्ली के गाजीपुर में कचरे का ढेर ताजमहल से भी ऊंचा हो जाएगा: रिपोर्ट

नई दिल्ली: देश के कई राज्यों में कचरे के ढेर को लेकर समस्या लगातार बढ़ती जा रही है। लेकिन सबसे बड़ी समस्या है राजधानी दिल्ली में। दिल्ली में सबसे बड़ा कचरे का ढेर अगले साल तक ताजमहल से भी ज्यादा ऊंचा हो जाएगा। अगर यहां कचरा तेज गति से बढ़ता रहा तो 2020 में यह करीब 73 मीटर ऊंचा हो जाएगा। यह ऊंचाई आगरा के ताजमहल से भी ज्यादा होगी।
213 फीट ऊंचा हो चुका है कचरे का ढेर

रिपोर्ट में पूर्वी दिल्ली के सुपरिटेंडेंट इंजीनियर अरुण कुमार ने बताया कि यह 65 मीटर (213 फीट) ऊंचा हो चुका है। इस क्षेत्र का दायरा हर साल 10 मीटर बढ़ रहा है। इसकी गंदी बदबू आसपास के क्षेत्र को खराब कर रही है।
2002 में ही बंद किया जाना था
गाजीपुर कचरा संग्रहण केंद्र 1984 में खोला गया। इसकी क्षमता 2002 में ही पूरी हो गई थी। इसे तब ही बंद किया जाना था। मगर अभी भी शहर का मलबा सैकड़ों ट्रकों के जरिए यहां डाला जा रहा है। दिल्ली नगर निगम अधिकारी ने नाम न बताए जाने की शर्त पर कहा, ‘‘गाजीपुर में हर दिन 2 हजार टन कचरा डाला जाता है।’’
ढेर के ढह जाने से हुई थी दो मौत
2018 में इस ढेर का एक हिस्सा बारिश के कारण ढह गया था। इसमें दो लोगों की मौत हो गई थी। इस घटना के बाद यहां कचरा डालने पर प्रतिबंध लगा दिया गया था। मगर कुछ दिन बाद ही यह क्रम फिर शुरू हो गया क्योंकि अधिकारियों को इसका कोई विकल्प नहीं मिल पाया।
-सुप्रीम कोर्ट ने भी बीते साल चेतावनी देते हुए कहा था कि इस कचरे के ढेर पर जल्द ही लाल लाइट लगाना पड़ेगी ताकि इसके ऊपर से गुजरने वाले हवाई जहाजों को सावधान किया जा सके। सेंटर फॉर साइंस एंड एन्वायरमेंट की सीनियर रिसर्चर शांभवी शुक्ला ने कहा, ‘‘कचरे से निकलने वाली मीथेन गैस हवा में घुलने के बाद और भी ज्यादा खतरनाक हो जाती है।’’
-पर्यावरण रक्षा समूह चिंतन की प्रमुख चित्रा मुखर्जी ने कहा, ‘‘यह सबकुछ तुरंत बंद होना चाहिए। लगातार कचरा डालने के कारण हवा और पानी दोनों प्रदूषित हो रहे हैं।’’ रहवासी पुनीत शर्मा का कहना था, ‘‘जहरीली बदबू ने हमारा जीवन नर्क बना दिया है। लोग हमेशा बीमार रहने लगे हैं।’’
-सरकार ने 2013 से 2017 के बीच सर्वे करवाया। इसमें दिल्ली में 981 लोगों की मौत इन्फेक्शन के कारण हुई जबकि 10 लाख से ज्यादा लोग संक्रमण के शिकार हुए। भारत में कचरे के पहाड़ अगले कुछ वर्षों में बड़े हो जाएंगे। भारत के शहर दुनिया के सबसे ज्यादा कचरा पैदा करने वाले शहरों में शामिल हैं। इनसे सालाना 6 करोड़ 20 लाख टन कचरा निकलता है।

मुख्य समाचार

स्विस बैंक के खाताधारकों पर शिकंजा कसना शुरू

नयी दिल्ली/बर्नः स्विट्जरलैंड के बैंकों में अघोषित खाते रखने वाले भारतीयों के खिलाफ दोनों देशों की सरकारों ने शिकंजा कसना शुरू किया है। इस सिलसिले आगे पढ़ें »

नई दिल्ली : यह कंपनी के दूध के खाली पाउच के बदले देगी 50 पैसे

नई दिल्ली : दूध के खाली पाउच के बदले जल्द ही आपको पैसे मिलेंगे। यह कदम महाराष्ट्र सरकार पर्यावरण को ध्यान में रखकर उठाने जा आगे पढ़ें »

ट्रेन में बासी खाना परोसने वाले वेंडर को मिला एक्सटेंशन, केंद्रीय मंत्री की शिकायत भी बेअसर

प्रयागराज : आईआरसीटीसी ने गत दिनों वंदे भारत एक्सप्रेस में बासी खाना परोसने वाले वेंडर को रात्रि का भोजन उपलब्ध कराने के लिए तीन महीने आगे पढ़ें »

एक देश, एक चुनाव पर चर्चा के लिए मोदी ने बुलाई सभी दलों के अध्यक्षों की बैठक

नयी दिल्ली: ‘एक देश, एक चुनाव’ के मुद्दे पर बातचीत के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सभी राजनीतिक दलों की बैठक बुलाई है। लोकसभा और आगे पढ़ें »

बड़े पर्दे पर वापसी को तैयार ऋषि कपूर, जूही संग इस फिल्म में करेंगे काम

मुंबईः कैंसर जैसी गंभीर बीमारी को मात देने के बाद ऋषि कपूर वतन लौटते ही बड़े पर्दे पर जल्‍द ही वापसी करने वाले हैं। खबरों आगे पढ़ें »

राजस्‍थान की सुमन राव बनीं मिस इंडिया 2019, करेंगी भारत का प्रतिनिधित्व

मुंबई : फेमिना मिस इंडिया 2019 में सभी प्रतिभागियों को पछाड़ते हुए राजस्थान की सुमन राव ने फेमिना मिस इंडिया का ताज अपने ‌सिर पर आगे पढ़ें »

भारत ने अमेरिका को दिया झटका, 28 उत्पादों पर बढ़ाई कस्टम ड्यूटी

नई दिल्ली : चीन के बाद भारत ने भी द्विपक्षीय व्यापार में अमेरिका के कड़े रुख को देखते हुए जवाबी कदम उठाया है। इसके तहत आगे पढ़ें »

बिहार में नहीं थम रहा चमकी बुखार का कहर, 84 बच्चों की गई जान

मुजफ्फरपुर: एक्यूट इंसेफेलाइटिस सिंड्रोम (एईएस) यानी चमकी बुखार बिहार में लगातार अपने पैर पसारता जा रहा है। बच्चों के मरने की संख्या हर बीतते घंटे आगे पढ़ें »

पाकिस्तान ने भारत के खिलाफ टॉस जीतकर गेंदबाजी चुनी

नई दिल्ली: विश्व कप 2019 के 22वें मैच में पाकिस्तान ने भारत के खिलाफ टॉस जीतकर गेंदबाजी का फैसला किया। भारतीय फैन्स यही चाहते हैं कि आगे पढ़ें »

सांसदों के लिए मलबे से बनेंगे नए फ्लैट

नयी दिल्ली : दिल्ली लुटियन इलाके में बने सांसदों के 400 पुराने फ्लैट्स को तोड़कर केंद्र सरकार ने नए फ्लैट बनाने का फैसला किया है। आगे पढ़ें »

ऊपर