महंगाई ने जमाई षष्ठी पर ‘फीका’ कर दिया आमों का स्वाद

शेयर करे

कोलकाता: जमाई षष्ठी बंगाली समुदाय के लिए एक महत्वपूर्ण त्योहार है, क्योंकि यह सास और दामाद के बीच मजबूत बंधन का प्रतीक है। आज पूरे राज्य में जमाई षष्ठी मनाया जा रहा है। बंगाल के विख्यात पर्व जमाई षष्ठी को लेकर इस वर्ष फलों का राजा ‘आम’ ने उत्साह फीका कर दिया है। ऐसे में फलों का राजा ‘आम’ आम आदमी के जेब पर भारी पड़ रहा है। गर्मी शुरू होते ही लोगों को सबसे ज्यादा इसी सीजन का इंतजार रहता है, लेकिन फलों के राजा आम की बढ़ी हुई कीमतें इस बार लोगों खासकर मध्यम वर्ग के लोगों के जेब पर भारी पड़ रही हैं। बता दें कि पश्चिम बंगाल में आमों के पकने से पहले ही आए चक्रवाती तूफान ‘रेमल’ ने इस सीजन की फसल पर काफी गहरा असर डाला है। तूफान के दौरान पेड़ों से बड़ी मात्रा में फल गिरकर नष्ट हो गये जिससे आम की कीमत में बड़ी उछाल आयी है। हालांकि आम की खेती ज्यादातर दक्षिण 24 परगना, उत्तर 24 परगना, हावड़ा, नदिया और मुर्शिदाबाद, मालदह आदि जगहों पर की जाती है, लेकिन इस साल चक्रवात के कारण उपज काफी खराब हो गयी है। अगर कहा जाये कि चक्रवाती तूफान रेमल ने जाते जाते आमों का स्वाद फीका कर गया तो इसमें अतिशयोक्ति नहीं होगी। व्यापारियों के अनुसार लंबे समय तक सर्दी के कारण एक तो आम की कलियां कम आईं और ​उसकेे बाद हुई बारिश ने बची खुची कलियों को नष्ट कर दिया। ऐसे में फल विक्रेताओं के अनुसार ​पिछले साल की तूलना में इस साल आम की कीमत काफी अधिक है और आगे भी रहेगी, भले ही उनमें बहुत ज्यादा का अंतर न हो। ऐसे में बड़ाबाजार स्थित मछुआ मंडी में सन्मार्ग की टीम ने पहुंचकर कुछ फल विक्रेताओं से बातचीत की।

यह भी पढ़ें: बकरीद से पहले घुसपैठ की फिराक में बांग्लादेशी तस्कर, नदिया में BSF जवान पर जानलेवा हमला

क्या कहना है फल व्यापारियों का ?

बड़ाबाजार के फल विक्रेता सीतारमण मंडल ने बताया कि जमाई षष्ठी पर आम की कीमत बढ़ने का मुख्य कारण है आम पकने से पहले ही भारी बारिश और तेज आंधी जिसने आम की फसल को नष्ट कर दिया है। इसलिए इस साल आम की कीमतें बढ़ी हुई हैं। हालांकि पिछले साल असाधारण रूप से ज्यादा उपज देखी गयी थी, इसलिए दाम कम था। इस साल आपूर्ति और ज्यादा मांग ने कीमतों को 20 रुपये से 50 रुपये प्रति किलोग्राम तक बढ़ा दिया है। मो. साबिर ने कहा कि इस साल ज्यादातर बाजारों में आम की आपूर्ति अचानक कम हो गई है। उन्होंने कहा कि पिछले साल की तुलना में इस साल कम फसल हुई है जिसके कारण कीमतों में काफी बढ़ोतरी देखी जा रही है। अमित अग्रवाल ने बताया कि इस साल आई आंधी ने किसानों को झटका तो दिया ही साथ ही आम व्यापारियों का भी धंधा चौपट कर दिया है। उन्होंने कहा कि भीषण आंधी आने से तैयार आम की कलियां गिरकर बागानों में ढेर हो गईं। इसलिए बाजारों में आम की आपू​र्ति कम देखी जा रही है।

रिपोर्ट- मुनमुन ठाकुर

Visited 88 times, 1 visit(s) today
0
0

मुख्य समाचार

कोलकाता : मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के निर्देश के बाद ईबी व टास्क फोर्स द्वारा मिलकर महानगर के विभिन्न बाजारों में
कोलकाता : कोलकाता में सोमवार को भगवान जगन्नाथ के 53वां उल्टा रथयात्रा का आयोजन किया गया। इस्कॉन कोलकाता के सौजन्य
कोलकाता : महानगर व आसपास क्षेत्रों के 19 अहम ब्रिज और फ्लाईओवर की मरम्मत की जायेगी। केएमडीए ने इसकी तालिका
कोलकाता : राज्य के मोटर ट्रेनिंग स्कूलों पर परिवहन विभाग द्वारा नकेल कसी जाने के लिये कई अहम कदम उठाये
कोलकाता : महानगर में पिछले पांच सालों में 30 से ज्यादा फायरिंग की घटनाएं घट चुकी हैं। यह जानकारी हाल
कोलकाता : विभिन्न मार्केट में हॉकरों के ढर्रे में कई बदलाव देखने को मिल रहे हैं। सीएम ममता बनर्जी की
16 जुलाई से बढ़ाकर की गयी 19 जुलाई कोलकाता : बीए, बीएससी और बीकॉम की परीक्षा में ऑनलाइन फॉर्म जमा
कोलकाता : महज 25 वर्ष की उम्र में मधुपर्णा ठाकुर विधायक बनी हैं और ऐसा कर उन्होंने सबसे कम उम्र
कोलकाता : ममता बनर्जी की पार्टी तृणमूल कांग्रेस ने रायगंज, बागदा, राणाघाट दक्षिण और मानिकतला सीट पर हुए उपचुनाव में
कोलकाता : चिंगड़ीहाटा फ्लाईओवर बीमार है, इसमें कोई दो राय नहीं है लेकिन इतना भी नहीं कि इसे तोड़ने की
अल्टीमेटम का असर : 3 दिन के अभियान में 20% तक कम हुईं सब्जियों की कीमतें कोलकाता : मुख्यमंत्री ममता
मिलेंगे और मौके, उच्च शिक्षा विभाग 2 राउंड की काउंसलिंग करेगा आयोजित सेंट्रलाइज्ड एडमिशन पोर्टल की​ पहली मेरिट लिस्ट जारी
ऊपर