चेहरे पर जख्म, तीन दिन अस्पताल में चला इलाज… श्रद्धा की नई फोटो से…

नई दिल्लीः श्रद्धा वॉल्कर हत्याकांड का आरोपी आफताब पूनावाला दिल्ली पुलिस की आंखों में लगातार धूल झोंक रहा है। वो तरह-तरह के पैंतरे दिखा रहा है। बयान बदल-बदलकर दिल्ली पुलिस को बरगला रहा है। आफताब ने इतने नकाब पहन रखे हैं कि दिल्ली पुलिस को सच तक पहुंचना मुश्किल हो रहा है। सूत्रों के मुताबिक, यह तस्वीर उस वक्त की है जब साल 2020 में श्रद्धा को आफताब ने पीटा था। इसके बाद श्रद्धा 3 दिन अस्पताल में भर्ती भी रही थी। ये आरोप श्रद्धा के दोस्तों ने लगाए थे। तस्वीर में आप देख सकते हैं कि श्रद्धा के चेहरे पर जख्म के निशान हैं। दोस्तों के समझ से परे है कि श्रद्धा ने आफताब की ज्यादती और जुल्म इतने दिनों तक क्यों सहा?

श्रद्धा से अक्सर लड़ाई करता था आफताब

श्रद्धा मर्डर केस में दिल्ली से मुंबई तक जांच जारी है। इस बीच पता चला है कि मुंबई में किराये पर फ्लैट लेते समय आफताब और श्रद्धा ने खुद को पति-पत्नी बताकर रेंट एग्रिमेंट बनवाया था। फ्लैट मालिक जयश्री पाटकर के मुताबिक, दोनों के बीच बहुत झगड़ा होता था, दोनों बिल्डिंग के नीचे भी लड़ते रहते थे। सोसायटी के लोग आफताब और श्रद्धा की लड़ाईयों से वाकिफ थे।

घर से सबूतों की तलाश में दिल्ली पुलिस

इस बीच श्रद्धा हत्याकांड के सबूतों की तलाश में दिल्ली पुलिस की कई टीम लगी हुई है। जंगल के साथ ही घर की तलाशी ली जा रही है। इसके लिए फॉरेंसिक टीम ने भी कई चक्कर घर के काटे, जिस बाथरूम में श्रद्धा की लाश के टुकड़े किए गए, वहां तो कुछ नहीं मिला, लेकिन किचन में एक जगह खून के कुछ धब्बे जरूर मिले हैं।

पुलिस सूत्रों की मानें तो आफताब के घर की तलाशी के दौरान किचन में गैस सिलिंडर रखने वाली जगह खून के निशान नजर आए। इसके अलावा अब तक की छानबीन में पुलिस को ना तो घर के किसी दूसरे हिस्से में और ना ही फ्रिज में खून का कोई धब्बा या ऐसी ही कोई दूसरी चीज नजर आई, क्योंकि इन पांच से छह महीनों में आफताब बार-बार पूरे मकान की और खास कर उन जगहों की सफाई करता रहा, जहां पर उसने श्रद्धा की हत्या की या फिर लाश के टुकड़े किए।

छतरपुर की नालियों में से मिले हड्डी के टुकड़े

इसी बीच पुलिस ने आफताब की निशानदेही पर छतरपुर की कुछ नालियों की भी तलाशी ली और वहां से हड्डियों के टुकड़े बरामद किए। आफताब की निशानदेही पर नाले से बरामद हड्डियों के ये टुकड़े अगर श्रद्धा की हड्डियों के टुकड़े निकल आए, तो इस केस के लिए बेहद पुख्ता सबूत साबित होंगे।

आफताब की साजिशों में एक वैक्यूम क्लीनर वाला पहलू भी और जुड़ गया है। पुलिस की पूछताछ में आफताब ने बताया है कि उसने श्रद्धा की जान लेने और उसकी लाश निपटाने के बाद सबूत मिटाने के इरादे से ही खास तौर पर एक वैक्यूम क्लीनर ऑन लाइन खरीदा था, ताकि पानी और एसिड की साफ-सफाई के बाद अगर खून या लाश के कुछ निशान बाकी रह जाएं, तो उन्हें वैक्यूम क्लीनर से खींच कर पूरी तरह साफ कर दिया जा सके।

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

सीएए लागू होने से कोई नहीं रोक सकता : शुभेंदु

कहा, साबित करें ​कि मैंने सीएम के पैर छूए सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : विधानसभा में सौजन्यता की राजनीति को भूलते हुए शनिवार को विपक्ष के नेता शुभेंदु आगे पढ़ें »

हाई कोर्ट ने खड़े किए हाथ, कहा : सुप्रीम कोर्ट जाएं

हीरा की रद्दगी और रेरा की बहाली से जुड़ा एक उलझा हुआ सवाल सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : सुप्रीम कोर्ट ने इसी साल चार मई को पश्चिम बंगाल आगे पढ़ें »

ऊपर