विश्व पर्यटन दिवस: कौन सा देश कर रहा है मेजबानी, जानें क्‍या है इस वर्ष की थीम

कोलकाताः वर्ल्‍ड टूरिज्‍म डे हर वर्ष दुनिया के विभिन्न हिस्सों में पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए मनाया जाता है। संयुक्त राष्ट्र विश्व व्यापार संगठन (यूएनडब्लयूटीओ) ने इस दिन की शुरुआत की। विश्व पर्यटन दिवस के सेलिब्रेशन में कई देशों के टूरिज्‍म बोर्ड शामिल रहते हैं, जो अपने शहरों, राज्यों या देशों में पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए आकर्षक ऑफर्स लॉन्च करते हैं।

बीते वर्षों में टूरिज्‍म कोरोना महामारी के चलते चुनौतियों से जूझ रहा था। हालांकि, पिछले एक साल में इसमें आश्चर्यजनक वृद्धि देखी गई है। इस वर्ष का विश्व पर्यटन दिवस इसीलिए खास है क्योंकि इस उद्योग ने आखिरकार पहले से कहीं अधिक बड़ी और बेहतर वापसी की है। इस वर्ष के टूरिज्‍म डे की थीम, कौन है मेजबान देश और सभी जरूरी जानकारियां यहां देख लें।

क्‍या है इस दिन का इतिहास
विश्व पर्यटन दिवस पहली बार 1980 में संयुक्त राष्ट्र विश्व व्यापार संगठन द्वारा शुरू किया गया था। इसकी तारीख को 27 सितंबर के रूप में चुना गया था क्योंकि 1970 में इसी दिन यूएनडब्लयूटीओ को मान्‍यता दी गई थी। यूएनडब्लयूटीओ यूएनडब्लयूटीओ को दी गई मान्‍यता वास्‍तव में वैश्विक पर्यटन में एक मील का पत्थर माना जाता है।

कौन सा देश कर रहा है होस्‍ट
विश्व पर्यटन दिवस 2022 का मेजबान देश इंडोनेशिया है। इंडोनेशिया एक ऐसा देश है जो अपनी शानदार हॉस्पिटेलिटी के लिए जाना जाता है। यहां पर्यटन को आय का एक प्रमुख स्रोत माना जाता है। पहली बाद टूरिज्‍म डे मनाने का मकसद पर्यटन को बढ़ावा देने पर ध्‍यान केंद्रित करना था, मगर 1997 में यूएनडब्लयूटीओ ने तय किया था कि प्रत्येक वर्ष विश्व पर्यटन दिवस के अलग-अलग मेजबान देश होंगे।

क्‍या है इस वर्ष की थीम
हर साल, विश्व पर्यटन दिवस की थीम है Rethinking Tourism। महामारी के बाद आए बदलावों ने पर्यटन को सबसे अधिक प्रभावित किया था। ऐसे में इस वर्ष उन चीजों पर ध्‍यान दिया जाएगा जिनसे टूरिज्‍म में नए बदलावों को जल्‍द से जल्‍द आसान बनाकर इस उद्योग को फिर गति दी जा सके।

शेयर करें

मुख्य समाचार

आईआईटी के 12 छात्रों को मिला सालाना एक करोड़ पैकेज की नौकरी

खड़गपुर : पश्चिम मिदनापुर जिला अंतर्गत खड़गपुर आईआईटी के 12 छात्रों को सालाना एक करोड़ पैकेज की नौकरी मिली है। छात्रों को यह बेहतर आफर आगे पढ़ें »

न्यूटाउन और साल्टलेक में कुकुरमुत्ते की तरह फैल गया है फर्जी कॉल सेंटर का व्यवसाय

सन्मार्ग संवाददाता विधाननगर : साल्टलेक और न्यूटाउन में कुकुरमुत्ते की तरह फर्जी कॉल सेंटर का व्यवसाय फैल गया है। आये दिन पुलिस की ओर से अभियान आगे पढ़ें »

ऊपर