बड़ों के लिए वर्क फ्रॉम होम तो बच्‍चे क्‍यों जा रहे स्‍कूल? सुप्रीम कोर्ट ने…

नई दिल्लीः दिल्ली में स्कूल खोलने के फैसले पर सुप्रीम कोर्ट राज्य सरकार को फटकार लगाई है। शीर्ष अदालत ने सरकार से पूछा कि जब वयस्कों को घर से काम करने की इजाजत है तो बच्चों को स्कूल क्यों बुलाया जा रहा है? गौरतलब है कि 29 नवंबर से राज्य में स्कूलों को खोल दिया गया है। सुप्रीम कोर्ट ने पूछा कि राज्य में प्रदूषण बढ़ने के बाद भी आखिर स्कूल क्यों खोला गया? दिल्ली-एनसीआर में वायु प्रदूषण पर पर शीर्ष अदालत ने तल्ख टिप्पणी करते हुए कहा कि प्रदूषण बढ़ने के बाद भी हमें लगता है कि कुछ नहीं किया जा रहा है।

गौरतलब है कि दिल्ली सरकार ने 29 नवंबर से राज्य में स्कूलों को खोलने की घोषणा कर दी थी। इस बीच, पिछले कुछ वक्त से दिल्ली की हवा बेहद खराब स्तर पर पहुंच गई है। पलूशन को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने दिल्ली सरकार से लेकर केंद्र सरकार को फटकार लगाई है।

सॉलिसिटर जनरल ने सुप्रीम कोर्ट में कहा कि प्रदूषण को लेकर उच्च स्तर पर चिंतित है। उन्होंने कहा कि वायु प्रदूषण से निपटने के लिए योजना बनाने को उन्हें शीर्ष अथॉरिटी से बात करने के लिए थोड़ा वक्त चाहिए। दिल्ली एनसीआर में प्रदूषण के हालात पर सख्त टिप्पणी करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि हम आपके ब्यूरोक्रेसी रचनात्मकता नहीं डाल सकते हैं। आप कुछ नए तरीकों के साथ आएं।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

आज भगवान शिव के साथ करें हनुमान जी की अराधना, बजरंगबाण का पाठ करना भी है शुभ

कोलकाताः आज माघ माह कृष्ण पक्ष की द्वितीया है। आश्लेषा नक्षत्र है। आज भगवान शिव जी की उपासना के साथ हनुमान जी की पूजा भी आगे पढ़ें »

ऊपर