पंडित को थप्पड़ मारकर शादी रुकवाना भारी पड़ा डीएम को !

नई दिल्ली : पश्चिमी त्रिपुरा जिले के डीएम शैलेश कुमार यादव को एक मैरिज हॉल में घुसकर दूल्हे, पंडित और शादी में शामिल अन्य मेहमानों के साथ अभद्र व्यवहार करने का खामियाजा उठाना पड़ा है। सोशल मीडिया पर इस घटना का वीडियो वायरल हुआ था। जिसके बाद से शैलेश कुमार यादव को पद से हटाने का दबाव बढ़ता गया था। वहीं इस मामले में कानून मंत्री रतन लाल नाथ ने बताया कि इस मामले में डीएम ने गलती मान ली है। कानून मंत्री ने बताया कि मुख्य सचिव शैलेश कुमार यादव को सस्पेंड किया गया है। रावल हेमेन्द्र कुमार को जिले का नया डीएम नियुक्त कर दिया गया है। 26 अप्रैल को डीएम ने एक मैरीज होम से जाकर शादी को बीच में ही रुकवा दिया था। साथ ही दूल्हे, पंडित समेत अन्य मेहमानों के साथ बदसलूकी की थी। इस घटना की कड़ी आलोचना हुई थी। अब इस मामले की जांच दो सीनियर आईएएस अफसर कर रहे हैं। डीएम शैलेश कुमार यादव की इस हरकत पर बीजेपी विधायक आशीष दास उन्हें हटाने की मांग को लेकर धरने पर बैठ गए थे। आशीष दास का कहना है कि उन्हें खुशी है कि शैलेश कुमार यादव ने अपनी गलती को माना है। जिलाधिकारी शैलेश यादव के दो वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुए थे। ये वीडियो डीएम द्वारा मैरिज हॉल पर की गई कार्रवाई के दौरान के थे। डीएम कोरोना महामारी के इस समय में आयोजित शादी समारोह में शामिल लोगों द्वारा कोविड गाइडलाइन का पालन नहीं किए जाने पर भड़क गए थे। डीएम ने मौके पर मौजूद दुल्हा, पंडित, लड़के, लड़की के माता-पिता और पुलिसकर्मियों के साथ बदसलूकी थी। जिसका वीडियो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हुआ था और उन्हें पद से हटाने की मांग होने लगी थी।

शेयर करें

मुख्य समाचार

अब से कोरोना मरीजों का प्राइवेट हॉस्पिटल में होगा फ्री इलाज : मुख्यमंत्री अशोक गहलोत

राजस्थान : देशभर में कोरोना वायरस संक्रमण तेजी से अपने पैर पसार रहा है। ऐसे में कोरोना महामारी के इस दौर में राजस्थान के मुख्यमंत्री आगे पढ़ें »

परेशान महिलाएं बेडरूम में…

कोलकाता : बेडरूम में आत्मविश्वास की कमी एक ऐसी समस्या है, जिसका सामना सभी को ज‍िंदगी में कभी-न-कभी करना पड़ता है। सेक्स को लेकर होने आगे पढ़ें »

ऊपर