ब्रेकिंगः उपहार अग्निकांड मामले में 24 साल बाद इंसाफ

नई दिल्लीः दिल्ली की एक अदालत ने 1997 के उपहार अग्निकांड केस के महत्वपूर्ण सबूतों से छेड़छाड़ के मामले में व्यवसायी सुशील अंसल और गोपाल अंसल और अन्य को सात साल जेल की सजा सुनाई है। कोर्ट ने उन्हें हिरासत में लेने का भी आदेश दिया है। इसके साथ ही कोर्ट ने अंसल बंधुओं के खिलाफ 2.25 करोड़ रुपये का जुर्माना भी लगाया है।
जानकारी के अनुसार, दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट ने सोमवार को उपहार अग्निकांड के सबूतों से छेड़छाड़ मामले में सुशील और गोपाल अंसल को सात साल की जेल की सजा सुनाई। इनके अलावा, कोर्ट के एक पूर्व कर्मचारी दिनेश चंद शर्मा और 2 अन्य पीपी बत्रा और अनूप सिंह को भी 7 साल की जेल की सजा सुनाई गई है। कोर्ट ने सुशील और गोपाल अंसल पर 2.25 करोड़ रुपये का जुर्माना भी लगाया है। बता दें कि अदालत ने उपहार अग्निकांड घटना के महत्वपूर्ण सबूतों के साथ छेड़छाड़ के मामले में बीते महीने 8 अक्टूबर को कारोबारी सुशील और गोपाल अंसल को उनके दो कर्मचारियों सहित अन्य को दोषी ठहराया था।  मुख्य मेट्रोपोलिटन मजिस्ट्रेट पंकज शर्मा ने इस मामले में अदालत के एक पूर्व कर्मचारी दिनेश चंद शर्मा और अन्य व्यक्तियों पी.पी. बत्रा और अनूप सिंह को भी दोषी ठहराया था।

उस हादसे में 59 लोगों की जान गई थी, जिसमें अंसल बंधुओं को दोषी ठहराया गया था और सुप्रीम कोर्ट ने उन्हें 2 साल की जेल की सजा सुनाई थी। हालांकि, सुप्रीम कोर्ट ने उन्हें जेल में बिताए समय को ध्यान में रखते हुए इस शर्त पर रिहा कर दिया था कि दोनों को राजधानी दिल्ली में एक ट्रॉमा सेंटर के निर्माण के लिए 30-30 करोड़ रुपये जुर्माने के तौर पर देने होंगे। सुनवाई के दौरान दो अन्य आरोपियों हर स्वरूप पंवार और धर्मवीर मल्होत्रा ​​की मौत हो गई।
गौरतलब है कि दिल्ली के ग्रीन पार्क इलाके में स्थित उपहार सिनेमा में 13 जून 1997 को बॉर्डर फिल्म के प्रदर्शन के दौरान भीषण आग लग गई थी, जिसमें 59 लोगों की मौत हो गई थी।

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

आजमगढ़ में सिंदूर दान से पहले मचला लड़के का मन, लड़की का शादी से …

आजमगढ़ः शादियों का सीजन शुरू हो गया है। इसी बीच एक शादी का आयोजन आजमगढ़ में किया गया, जहां सिंदूरदान से पहले कुछ ऐसा हुआ आगे पढ़ें »

विपक्षी एकता में पड़ी दरार! इस दल ने कांग्रेस से किया किनारा, सामने आई ये वजह

जज हत्याकांड: सीबीआई को षड्यंत्रकारी बारे में मिले अहम सुराग

त्रिपुरा में हार के बाद बोले अभिषेक ‘भाजपा ने प्रजातंत्र की हत्या की…

स्कूलों की समयावधि बढ़ाने के खिलाफ राजभवन पर धरना देंगे शिक्षक

अंतरराष्ट्रीय व्यापार मेले में नंबर-1 बना बिहार, लोक कला संस्कृति को मिला गोल्ड

मोटी कहकर चिढ़ाते थे, प्रेग्नेंट नहीं होने पर ताने, तंग आकर…

नीतीश का स्वास्थ्य विभाग को निर्देश, कहा- नए खतरे का सामना करने की पूरी तैयारी रखें

मां फ्लाईओवर पर नहीं थम रहा दुघर्टनाओं का सिलसिला, आज फिर…

…सेट पर अचानक फूट-फूटकर रोने लगी नुशरत, जानिये वजह

ऊपर