नए साल में गुड लक के ये हैं टोटके, आपके भी आ सकते हैं काम

नई दिल्लीः महज कुछ ही घंटों बाद 2021 का आगज होने वाला है। हर कोई अपने-अपने अंदाज में नए साल का स्वागत करता है। कुछ लोग नए साल पर तरह-तरह के संकल्प लेते हैं तो कुछ लोग गुडलक के तरीके आजमाते हैं ताकि उनका पूरा साल अच्छा बीते। दुनिया में कई ऐसे देश है जहां अजीबोगरीब तरीके से नए साल का स्वागत किया जाता है। माना जाता है कि ये ट्रेडिशन गुडलक लेकर आते हैं। आइए जानते हैं इनके बारे में।
काला लोबिया खाना- यहूदी परंपरा के अनुसार, काला लोबिया खाकर नए साल का स्वागत करना शुभ माना जाता है। माना जाता है कि जो भी 1 जनवरी की शाम को चावल के साथ लोबिया की डिश बनाता है, उसका पूरा साल लकी रहता है। कुछ परिवारों में इस डिश से भरी प्लेट के नीचे सिक्के रखने की भी परंपरा है। माना जाता है कि इससे भाग्य का साथ और ज्यादा मिलता है।
12 अंगूर खाने की परंपरा- स्पेन में नए साल का स्वागत 12 अंगूर खाकर किया जाता है। रात को 12 बजे जब न्यू ईयर की बेल्स बजती हैं तो लोग हर घंटी के साथ 1 अंगूर खाते हैं। इसे नए साल का गुडलक माना जाता है। हर एक अंगूर आने वाले हर एक महीने का प्रतिनिधित्व करता है। माना जाता है कि जो व्यक्ति बेल के साथ-साथ 12 अंगूर नहीं खत्म कर पाता है उसके लिए नया साल अनलकी होता है।
किस करना- जर्मनी सहित कई देशों में नए साल का स्वागत रात में 12 बजे अपने किसी प्रिय व्यक्ति को किस करके किया जाता है। कहा जाता है कि ऐसा करने से साल भर का गुड लक मिलता है।
कुर्सी से कूदना- डेनमार्क में लोग नए साल का स्वागत करने के लिए कुर्सी पर खड़े हो जाते हैं और 12 बजते ही कुर्सी से जमीन पर कूदते हैं। माना जाता है कि ऐसा करने से गुडलक आता है और बुरी आत्माएं दूर होती हैं।
प्लेट तोड़ना- डेनमार्क में नए साल पर प्लेट तोड़ना बहुत शुभ माना जाता है। यहां लोग अपने दोस्तों और परिवार के सदस्यों के दरवाजों पर प्लेट तोड़ते हैं। अगले दिन जिसके घर के सामने जितनी अधिक टूटी प्लेट्स पाई जाती हैं, उसे उतना ही सौभाग्यशाली माना जाता है।
खिड़की से पानी बाहर फेंकना- प्यूर्टो रिको में नए साल पर खिड़की के बाहर बाल्टी से पानी फेंकना शुभ माना जाता है। कहा जाता है कि इससे बुरी आत्माएं दूर हो जाती हैं। यहां लोग गुडलक लाने के लिए घरों के बाहर चीनी भी छिड़कते हैं।
खाली सूटकेस लेकर घूमना- कोलंबिया में लोगों को घूमना बहुत पसंद है। नए साल पर यहां खाली सूटकेस लेकर एक जगह से दूसरी जगह जाने की परंपरा है। माना जाता है कि इससे नए साल में खूब घूमने को मिलता है।
लहरों पर कूदना- ब्राजील समेत कई देशों में न्यू ईयर का स्वागत लहरों पर कूद कर दिया जाता है। नए साल पर बीच पर जाकर लोग समुद्र की सात लहरों पर कूदते हैं। हर एक लहर पर एक विश मांगने की परंपरा है। कहा जाता है कि इससे नए साल पर भाग्य बढ़ता है और वो सारी इच्छाएं पूरी होती हैं।
सफेद कपड़े पहनना- ब्राजील में नए साल की शाम को सफेद कपड़े पहनने की परंपरा है। पूरे साल गुड लक और शांति के लिए इस दिन लोग सफेद कपड़े पहनते हैं।
दरवाजे-खिड़कियां खुली रखना- फिलीपींस में लोग नए साल पर घर के दरवाजे और खिड़कियां खुली रखते हैं। माना जाता है कि इससे पुराने दिन बाहर निकल जाते हैं और नए साल पर गुडलक बिना किसी रुकावट के अंदर आता है।
विश पेपर को जार में रखना- कई देशों में नए साल पर अपनी विश एक कागज पर लिखकर इसे जार में रखने की परंपरा है. इस जार को अगले साल तक संभाल कर रखा जाता है और अगले नववर्ष की पूर्व संध्या पर इसे खोलकर देखा जाता है कि बीते साल में उसमें से कितनी इच्छाएं पूरी हुईं।

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

beaten

ब्रेकिंग : तृणमूल कांग्रेस के बूथ सभापति की पीट-पीटकर हत्या

बर्दवान : मंगलकोट विधानसभा क्षेत्र के बूथ नंबर 197 में भाजपा समर्थित उपद्रवियों ने तृणमूल कांग्रेस के बूथ सभापति की पीट-पीटकर हत्या कर दी।घटना की आगे पढ़ें »

ममता बनर्जी पर तंज – बंगाल के लोग अब चप्पल नहीं जूते पहनना चाहते हैं

कोलकाता : बंगाल के भाजपा प्रमुख दिलीप घोष ने तृणमूल कांग्रेस सुप्रीमो ममता बनर्जी पर तंज कसते हुए कहा कि राज्य के लोग हवाई चप्पल नहीं आगे पढ़ें »

ऊपर