जूते पर लिखा बिक रहा ‘ठाकुर 6 नंबर’, शिकायत पर दुकानदार समेत कंपनी पर केस

बुलदंशहर: उत्तर प्रदेश पुलिस वाहनों पर जाति लिखकर चलने वालों पर सख्त कार्रवाई कर रही है। ऐसे में मंगलवार को बुलंदशहर में एक अनोखा मामला देखने को मिला है। यहां जूतों पर जाति लिखकर बेचा जा रहा है। एक युवक दुकान पर जूता खरीदने पहुंचा तो उसका माथा ठनक गया। जूते के सोल पर नीचे ‘ठाकुर’ लिखा हुआ था। युवक की तहरीर पर पुलिस ने जूते बेचने और बनाने वाली कंपनी के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। पुलिस मामले की जांच कर रही है। बजरंग दल के एक कार्यकर्ता विशाल चौहान ने जूते पर नाम देखकर आपत्ति जताई। जानकारी के अनुसार, बुलंदशहर के गुलावठी कस्बे में विशाल चौहान जूता खरीदने के लिए पहुंचा था। वहां एक दुकानदार नासिर जूता बेच रहा था। जब जूता देखने लगा तो देखा उनपर जाति लिखी हुई थी। इसे देखकर वह हैरान रह गया। उसने इस संबंध में जूता बेचने वाले से बातचीत की।

सोमवार की शाम को विशाल चौहान नासिर की दुकान पर पहुंचा था। पुलिस को दी गई शिकायत में विशाल ने कहा है, ‘मैंने देखा कि ज्यादातर जूतों की सोल पर ठाकुर लिखा हुआ है। जो लोग भी ऐसे जूते बनाते हैं और बेच रहे हैं, उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई होनी चाहिए।’

पुलिस ने दर्ज किया केस 
आरोप है कि नासिर इस दौरान विशाल से बदतमीजी से पेश आया। विरोध करने पर उसने विशाल के साथ मारपीट कर दी। पीड़ित की तहरीर पर गुलावठी थाना पुलिस ने जूता बेचने वाले और बनाने वाली कंपनी के खिलाफ जातिसूचक शब्द का इस्तेमाल करने समेत अन्य धाराओं में एफआईआर दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। पुलिस का कहना है कि जल्द ही आरोपी को गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

गाड़ियों पर जाति लिखने वालों पर सख्त है पुलिस 
बता दें कि गाड़ियों पर जाति लिखने वालों पर यूपी की योगी सरकार सख्त है। आए दिन यूपी पुलिस चेकिंग कर ऐसे वाहनों के चालान कर रही है। इसी बीच गुलावठी कस्बे में जूतों पर जाति लिखने का मामला सामने आया है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

मुख्यमंत्री के साथ हुए व्यवहार पर नरेंद्र मोदी ने एक शब्द नहीं कहा – तृणमूल

पीएम के रवैये पर तृणमूल ने जताया खेद सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : नेताजी सुभाष चंद्र बोस की जयंती पर विक्टोरिया मेमोरियल में आयोजित कार्यक्रम में मुख्यमंत्री ममता आगे पढ़ें »

राष्ट्रीय बालिका दिवस पर देश की बेटी बनाम कन्याश्री

बंगाल में कन्याश्री ने लड़कियों को सशक्त बनाया - ममता सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : नेताजी जन्म जयंती पर पराक्रम दिवस बनाम देशनायक दिवस शनिवार को देखा गया। आगे पढ़ें »

ऊपर