नौसेना में शामिल होने के प्रथम पड़ाव को पार किया तेजस, गोवा के तट पर हुई लैंडिंग

Tejas-Light Combat Aircraft

नई दिल्‍ली : स्वदेशी तकनीकी से विकसित भारत का हल्का लड़ाकू विमान तेजस शुक्रवार को गोवा में विमानवाहक जहाज पर सफलतापूर्वक उतरा, जो उसके नौसेना संस्करण के विकास की दिशा में मील का पत्थर है। रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन (डीआरडीओ) और एयरोनॉटिकल डेवलपमेंट एजेंसी (एडीए) के अधिकारियों ने तेजस की अरेस्टेड लैंडिंग कराई।

अधिकारियों ने बताया कि इस परीक्षण से विमानवाहक पोत पर उतरने के बाद कुछ ही दूरी पर उसके रूक जाने की क्षमता का पता चला। यह परीक्षण नौसेना के तट पर स्थित परीक्षण केंद्र में किया गया। बताया जा रहा है कि तेजस यह मुकाम पार करने वाला देश का पहला एयरक्राफ्ट बन गया।

इन देशों के पास है अरेस्टेड लैंडिंग तकनीक वाली विमान

गौरतलब है कि अमेरिका, फ्रांस, रूस, ब्रिटेन और चीन द्वारा निर्मित कुछ एयरक्राफ्ट में पहले से ही अरेस्टेड लैंडिंग की तकनीक मौजूद है। तेजस के अरेस्टेड लैंडिंग के बाद नेवी में शामिल होने का पहला चरण पूरा हो गया है। तेजस को अब दूसरे पड़ाव से होकर गुजरना होगा। इसे ऑपरेशनल एयरक्राफ्ट आईएनएस विक्रमादित्य पर उतार कर देखना होगा।

तेजस का डिजाइन डीआरडीओ ने बनाया

तेजस लड़ाकू विमान का उन्नत रूप है और इसका डिजाइन रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन ने किया है। गौरतलब है कि गत वर्ष डीआरडीओ प्रमुख जी. सतीश रेड्डी ने वायुसेना और रक्षा मंत्रालय के सामने फाइनल परिचालन मंजूरी (एफओसी) प्रमाणपत्र दिया था। बता दें कि रक्षामंत्रालय ने दो साल पहले एयरक्राफ्ट के लिए पचास हजार करोड़ रुपये की मजूंरी दी थी। लेकिन समिति ने इसका मूल्यांकन करके इसकी कीमत 45 हजार करोड़ रुपये तय की। सौदे के मुताबिक हिंदुस्तान एयरॉनोटिक्स लिमिटेड (एचएएल) अगले 36 महीनों में पहला एलसीए मार्क 1ए प्लेन वायुसेना को देगी, जो नई तकनीक और नये रडार से लैश होगी। बता दें कि पहले चरण में लगभग 40 एयरक्राफ्ट मुहैया करवाए जाएंगे।

शेयर करें

मुख्य समाचार

देश में पिछले 24 घंटों में कोरोना के 547 नये मामले आए सामने, कुल 6412 हुए संक्रमित

नयी दिल्ली : देशभर में कोरोना वायरस संक्रमण से लोगों के बचाव के लिए लागू 21 दिन के लॉकडाउन के बीच देश में पिछले 24 आगे पढ़ें »

बंगाल में पिछले 24 घंटों में कोरोना संक्रमण के 12 नये मामले आए सामने

सन्मार्ग संवाददाता, कोलकाता : बंगाल में कोरोना का संक्रमण तेजी से बढ़ रहा है। पिछले 24 घंटों में कोरोना के 12 नये मामले सामने आये आगे पढ़ें »

ऊपर