सुप्रीम कोर्ट ने खारिज की बिलकिस बानो की यह याचिका

नई दिल्लीः सुप्रीम कोर्ट ने शनिवार को बिलकिस बानो की तरफ से दायर एक याचिका को खारिज कर दिया। इसमें उन्होंने सर्वोच्च न्यायालय से मांग की थी कि वह अपने उस आदेश की समीक्षा करे, जिसके तहत उसने गुजरात सरकार को 1992 की नीति के तहत दोषियों को छूट देने पर विचार के लिए कहा था। गौरतलब है कि साल 2002 के गोधरा दंगों के दौरान बिलकिस के साथ सामूहिक दुष्कर्म और उनके परिवार के सदस्यों की हत्या करने के मामले में 11 दोषियों को उम्रकैद की सजा हुई थी। हालांकि, गुजरात सरकार ने दोषियों को रिहा 15 साल जेल की सजा काटने के बाद रिहा कर दिया। गुजरात सरकार का कहना है कि उसने अपनी सजा माफी नीति के अनुरूप 11 दोषियों को छूट दी है। इन दोषियों को इसी साल 15 अगस्त को जेल से रिहा किया गया। दोषियों को गोधरा उप-जेल में 15 साल से अधिक की सजा काटने के बाद छोड़ा गया है। दोषियों की इसी रिहाई को चुनौती देते हुए समय से पहले रिहाई को चुनौती देते हुए बिलकिस बानो ने सुप्रीम कोर्ट में पुनर्विचार याचिका दाखिल कर दी है। इसमें 13 मई के आदेश पर दोबारा विचार करने की मांग की गई है। इसमें सुप्रीम कोर्ट ने कहा था कि गैंगरेप के दोषियों की रिहाई में 1992 में बने नियम लागू होंगे। इसी आधार पर 11 दोषियों की रिहाई हुई थी। वहीं बिलकिस बानो के वकील ने लिस्टिंग के लिए भारत के मुख्य न्यायाधीश डीवाई चंद्रचूड़ के समक्ष मामले का उल्लेख किया था।

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

हुगली : कास्टिंग फैक्ट्री में धमाका 2 की मौत, 3 घायल

हुगली : श्रीरामपुर दिल्ली रोड़ स्थित प्यारापुर के निकट एक फैक्ट्री में धमाके से 2 लोगों की मौत हो गयी जबकि 3 लोग घायल बताये आगे पढ़ें »

मौसम के बदलने से सूखने लगेंगी आंखें, ड्राई आईज से बचने के लिए ऐसे करें देखभाल

कोलकाता : मौसम के बदलने से शरीर में भी कई तरह के बदलाव होने लगते हैं। खासकर सर्दियों के दिनों में आपको सेहत से जुड़ी आगे पढ़ें »

ऊपर