हैदराबाद एनकाउंटर मामले में सुप्रीम कोर्ट ने 4 आरोपियों के जांच के आदेश दिए

नई दिल्ली : शीर्ष न्यायालय ने हैदराबाद गैंगरेप-मर्डर के बाद हुए चार आरोपियों के पुलिस एनकाउंटर मामले में जांच का आदेश देते हुए कहा कि लोगों को सच जानने का अधिकार है और वो जांच के पक्ष में है। साथ ही न्यायालय ने तेलंगाना सरकार के इस तर्क को खारिज कर दिया, जिसमें कहा गया कि इस मामले में पहले से ही जांच चल रही है। इसी दौरान शीर्ष न्यायालय ने आरोपियों की मेडिकल और फॉरेंसिक रिपोर्ट अदालत में पेश करने के आदेश भी दिए हैं।

न्यायालय ने एसआईटी की जांच जारी रखने की मंजूरी दी

राज्य सरकार के वकील मुकुल रोहतगी ने शीर्ष न्यायालय में दलील देते हुए कहा कि इस मामले में फिलहाल एसआईटी की जांच चल रही है। शीर्ष न्यायालय ने भी जांच पर मंजूरी देते हुए कहा है कि राज्य सरकार ने जांच के लिए जो एसआईटी का गठन किया है वो चलती रहेगी। वकील ने यह भी कहा कि यदि न्यायाधीश को ऐसा लगता है कि किसी पहलू की जांच सही तरीके से नहीं हुई तो वो जांच अपने हिसाब से करवा सकते हैं।

लोगों को सच जानने का अधिकार है

न्यायालय ने रोहतगी की दलील सुनने के बाद कहा कि लोगों को सच जानने का अधिकार है। साथ ही न्यायालय ने कहा कि यदि आप पुलिस वालों के खिलाफ आपराधिक मुकदमे चलाते है तो हम कोई आदेश नहीं जारी करेंगे, लेकिन यदि आप ऐसा नहीं करते तो हम जांच का आदेश देंगे।

शेयर करें

मुख्य समाचार

केशपुर में वोट लूटे नहीं जाते तो भाजपा की जीत होतीः शुभेंदु

मिदनापुर: एक समय तृणमूल के हेवीवेट नेता माने जाने वाले राज्य के मंत्री रहे शुभेंदु अधिकारी तृणमूल से नाता तोड़ने के बाद भाजपा के होकर आगे पढ़ें »

voter card

तनिक भी मिली लापरवाही तो गिरेगी गाजः चुनाव आयोग

कानून व्यवस्था की रिपोर्ट से असंतुष्ट कहा नहीं मानी आयोग की बात तो कड़ी कार्रवाई सन्मार्ग संवाददाता कोलकाताः चुनाव आयोग ने राज्य में कानून व्यवस्था की स्थिति को आगे पढ़ें »

ऊपर