योगगुरु राम देव की अर्जी पर सुनवाई पांच जुलाई तक टली

नई दिल्ली : एलोपैथी के ऊपर योगगुरु बाबा रामदेव अपने बयान से कानूनी लड़ाई का सामना कर रहे हैं। उनके खिलाफ देश भर के अलग अलग शहरों में एफआईआर की गई है। वो चाहते हैं कि सभी दर्ज मुकदमों की सुनवाई एक साथ और एक जगह हो। इसके लिए उन्होंने सुप्रीम कोर्ट में अपील की है जिस पर बुधवार को सुनवाई हुई। अदालत ने बाबा रामदेव को निर्देश दिया कि एलोपैथ के बारे में उन्होंने जो टिप्पणी की थी उसका मूल बयान वो अदालत के सामने रखें।

बाबा रामदेव की तरफ से पक्ष रख रहे मुकुल रोहतगी से चीफ जस्टिस एन भी रामन्ना की बेंच ने कहा कि रामदेन मे मूल रूप से क्या कहा है आपने उसे अदालत के सामने नहीं रखा है। रोहतगी ने कहा कि वो बहुत जल्द बयान और ओरिजिनल वीडियो को अदालत के सामने पेश करेंगे। इस पर सुप्रीम कोर्ट की बेंच जिसमें चीफ जस्टिस के साथ ए एस बोपन्नास और हृषिकेश रॉय ने ओके कहा और इसके साथ ही मामले की अगली सुनवाई पांच जुलाई के लिए मुकर्रर की।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्सहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

महानगरः एक सप्ताह में बिना मास्क पहने घूम रहे 1278 लोगों पर हुई कार्रवाई

सड़क पर थूकने के आरोप में 65 लोगों का कटा चालान सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : बीते एक सप्ताह में महानगर की सड़कों पर ब‌िना मास्क पहने हुए आगे पढ़ें »

ऊपर