12वीं तक पढ़ाई, कई लड़कियों संग रिलेशन… कुछ ऐसी थी श्रद्धा के 35 टुकड़े करने वाले की जिंदगी

मुंबई: पालघर की रहने वाली श्रद्धा की मुंबई के रहने वाले आफताब पूनावाला (28) ने हत्या कर उसके 35 टुकड़े कर दिए। यह सनसनीखेज वारदात दिल्ली में हुई। आफताब का परिवार मुंबई में रहता है। उन्होंने बताया कि आफताब एक औसत छात्र था। उनका कहना है कि उसका कभी किसी दोस्त या परिवारवालों से कोई झगड़ा नहीं होता था। उसके पिता अमीन चाहते थे कि वह पढ़ाई करे लेकिन उसने स्नातक की पढ़ाई अधूरी ही छोड़ दी। वह बिजनेस करना चाहता था और उसने पिता की मर्जी के खिलाफ पढ़ाई छोड़कर दिल्ली चला गया।
दोस्तों को नहीं हो रहा यकीन
आफताब के दोस्तों और परिवार को यकीन नहीं है कि उसने लिव-इन पार्टनर श्रद्धा वाकर (26) की जघन्य हत्या कर सकता है। एक पारिवारिक मित्र ने कहा, ‘आफताब स्वभाव से रिजर्व है। वह उलझन में रहता था कि लाइफ में क्या करना है। आफताब के पिता भी उसके भविष्य को लेकर चिंतित रहते थे। लेकिन यह विश्वास करना मुश्किल है कि उसने एक जघन्य हत्या की है।’

खोजा समुदाय का मुस्लिम है परिवार
खोजा समुदाय से ताल्लुक रखने वाले उनके परिवार ने उन्हें श्रद्धा के साथ संबंध बनाने से रोकने की कोशिश की थी। हालांकि वह एवरशाइन सिटी, वसई में एक किराए के घर में चला गया। वह अपने माता-पिता और छोटे भाई के संपर्क में रहा। पारिवारिक मित्र ने कहा, श्रद्धा उनसे कभी नहीं मिली थी। 2011 में सेंट पीटर्स जूनियर कॉलेज से 12वीं पास करने के बाद वह बिजनेस करने के लिए पुणे चला गया। वह कुछ महीनों में वापस आ गया और बिजनेस मैनेजमेंट की पढ़ाई करने के लिए उसने सांताक्रूज स्थित एक कॉलेज के BBA में प्रवेश लिया। एक स्कूल के दोस्त ने कहा कि उसने अपनी पढ़ाई बीच में ही छोड़ दी और कई चीजों में हाथ आजमाया।
पहले भी कई लड़कियों के साथ रिलेशनशिप में रहा
आफताब एक ग्राफिक डिजाइनर का काम करने लगा। 2019 में एक डेटिंग ऐप पर वह श्रद्धा से मिला। बाइक और ट्रेकिंग से उसे प्यार था। श्रद्धा को भी यह पसंद था इसलिए दोनों एक दूसरे की तरफ आकर्षित हुए। एक दोस्त ने कहा कि जब श्रद्धा और आफताब ने लिव-इन-रिलेशन में रहने का फैसला लिया तो सब लोग हैरान हो गए। उन्होंने बताया कि आफताब पहले भी रिलेशनशिप में रह चुका था।
परिवार को दिल्ली शिफ्ट होने की नहीं दी थी जानकारी
पुलिस सूत्रों ने कहा कि आफताब के माता-पिता भी शुरू में दोनों के दिल्ली जाने के बारे में अनजान थे। उसने उन्हें जुलाई में नौकरी मिलने के बारे में बताया था और उसने श्रद्धा के साथ अपने रिश्ते को खत्म कर दिया था। वसई में पुलिस के पूछताछ के लिए बुलाए जाने पर उसके माता-पिता चिंतित हो गए। उनका परिवार 3 महीने पहले मीरा रोड में शिफ्ट हुआ था। फिलहाल बेटे की गिरफ्तारी के बाद पिता दिल्ली पहुंचे हैं।
Visited 274 times, 1 visit(s) today
शेयर करें

मुख्य समाचार

Wednesday Mantra : हर संकट से बचाता है बुधवार का यह उपाय, दूर होता है गृह कलेश

कोलकाता : सनातन धर्म में बुधवार का दिन भगवान गणेश को समर्पित है और इस दिन विधि-विधान के साथ गणेश जी की अराधना की जाए आगे पढ़ें »

Sankashti Chaturthi 2024 Date: द्विजप्रिय संकष्टी चतुर्थी कब है, जानें महत्‍व, पूजाविधि और …

कोलकाता : द्विजप्रिय संकष्टी चतुर्थी फाल्‍गुन मास के कृष्‍ण पक्ष की चतुर्थी को कहते हैं। द्विजप्रिय संकष्टी चतुर्थी 28 फरवरी को यानी आज है। इस आगे पढ़ें »

ऊपर