क्या राजनीति दबाव के कारण बिगड़ी दादा की तबीयत

कुछ लोग अपने राजनी​तिक स्वार्थ के लिए सौरव का करना चाहते हैं इस्तेमाल – अशोक
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान तथा बंगाल के ‘दादा’ सौरव गांगुली की तबियत बिगड़ने की खबर के बाद से ही चर्चाएं शुरू हो गयी कि क्या दादा किसी तरह के दबाव में थे? क्या उन पर राजनीतिक दबाव दिया जा रहा था ? ऐसी कई तरह की अटकले लगायी जा रही है। सन्मार्ग के 3 जनवरी के अंक में प्रकाशित ‘क्या किसी दबाव में थे सौरव’ खबर पर
मुहर लगाते हुए राज्य के पूर्व मंत्री तथा माकपा नेता अशोक भट्टाचार्य ने कहा कि सौरव पर दबाव दिया गया था। सौरव को इस्तेमाल करके अपने कुछ लोग अपने राजनीतिक स्वार्स्थ को चरितार्थ करना चाहते हैं। पूर्व मंत्री ने किसी का नाम तो नहीं लिया पर उन्होंने कहा कि सौरव का कुछ लोग इस्तेमाल जरूर करना चाहते हैं। रविवार को दादा को देखने पहुंचे अशोक भट्टाचार्य ने संवाददाताओं से कहा कि सौरव की दुनिया राजनीति से अलग है। हमलोग चाहते हैं कि वे अपनी दुनिया में ही रहे और खुश रहे। उन्होंने यह भी दावा किया कि कोई कोई यह साेच रहे है कि सौरव का इस्तेमाल करके राजनीतिक फायदा उठाया जाए। चाहे किसी भी तरह से क्यों न हो। जरूर सौरव पर दबाव डाला गया।
राजनीति में नहीं आना चाहते सौरव – अशोक
पूर्व मंत्री ने यह भी दावा किया है कि सौरव खुद भी व्यक्तिगत रूप से राजनीति में नहीं आना चाहते हैं। सौरव जिस जगत में हैं उसी जगत में रहना चाहते हैं। मैंने भी उनसे कहा है कि, मैं नहीं चाहता हूं कि वे किसी भी तरह राजनीति के साथ जुड़े। मेरी बात से वह दोमत नहीं हुए। तो क्या राजनीतिक दबाव में थे सौरव? इस प्रश्न का उन्होंने सीधे तौर पर जवाब नहीं दिया। उन्होंने कहा कि यह मैं नहीं बोल सकता हूं, मैं सिर्फ इतना बोल सकता हूं कि राजनीतिक व मानसिक रूप से किसी तरह उन पर दबाव नहीं पड़े। उल्लेखनीय है कि अशोक भट्टाचार्य तथा सौरव गांगुली के बीच काफी पुराना रिश्ता है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

अब मशहूर अभिनेत्री की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत, फांसी पर लटका मिला शव

मुंबई : साल 2020 के बाद 2021 में भी एंटरटेनमेंट जगत से बुरी खबरों के आने का सिलसिला नहीं थम रहा है। अब कन्नड़ एक्ट्रेस आगे पढ़ें »

आज से मोबाइल में डाउनलोड कर सकते हैं वोटर आईडी कार्ड, शुरू हुई ये स्कीम

कोलकाता : अब देशवासियों को अपना वोटर आईडी कार्ड खोने या खराब होने पर परेशान नहीं होना पड़ेगा। यहां तक की इसे दोबारा पाने के आगे पढ़ें »

ऊपर