आधी रात काल बनकर दौड़ी ई बस, हादसे में छह लोगों की मौत, नौ घायल

कानपुर : घंटाघर से टाटमिल चौराहे तक रविवार आधी रात इलेक्ट्रिक बस मौत बनकर दौड़ी। आधा दर्जन वाहनों को टक्कर मारी और 15 लोगों को रौंद दिया। आखिर में बीच चौराहे पर बने ट्रैफिक बूथ से टकराते हुए डंपर में घुस गई। हादसे में छह लोगों की मौत हो गई। नौ लोग घायल हैं। घायलों में कइयों की हालत गंभीर है। देररात मृतकों में चार की पहचान हो सकी थी। रात करीब साढ़े ग्यारह बजे एक इलेक्ट्रिक बस तेज रफ्तार में घंटाघर चौराहे से टाटमिल की तरफ जा रही थी। पुल उतरते ही बस विपरीत दिशा में चालक ने दौड़ाना शुरू किया और जो बीच में आया उसको रौंदते हुए निकल गया। टाटमिल चौराहे पर बने ट्रैफिक बूथ में टक्कर मारी और फिर चकेरी की तरफ से आ रहे डंपर से जा टकराई। हादसे में छह लोगों की मौत हो गई। जिसमें से चार की शिनाख्त हो सकी। अन्य मृतकों की पहचान के लिए पुलिस जद्दोजहद में जुटी रही।

राष्ट्रपति ने शोक जताया
राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने हादसे पर शोक व्यक्त करते हुए ट्वीट किया। जिसमें उन्होंने कहा कि कानपुर में हुई बस दुर्घटना में कई लोगों के हताहत होने की खबर से अत्यंत दुःख हुआ है। इस घटना में अपने प्रियजनों को खोने वाले परिवारों के प्रति मेरी गहन शोक-संवेदनाएं। मैं घायल हुए लोगों के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना करता हूं।

कार और बाइक-स्कूटी के उड़े परखच्चे
लाटूश रोड निवासी शिवम उर्फ शुभम सोनकर (30) अपने दोस्त ट्विंकल उर्फ सुनील सोनकर (30) व रमेश यादव एक स्कूटी में थे। ये भी बस की चपेट में आ गए। जिसमें शिवम व सुनील की मौत हो गई। वहीं बाइक सवार बेकनगंज निवासी अस्लान (20) भी वहीं से गुजर रहे थे। उनकी भी मौत हो गई। नौबस्ता के केशव नगर निवासी अजीत कुमार (60) की भी मौत हो गई। अन्य की पहचान नहीं हो सकी। ई-बस ने सबसे पहले एक स्विफ्ट कार, फिर दो बाइकों, दो स्कूटी, एक टेंपो, एक जेन कार और फिर डंपर में टक्कर मारी। छह को मौत की नींद सुला दिया।

शादी समारोह से लौट रहा था परिवार
हादसे में धनकुट्टी निवासी एक परिवार व उसके रिश्तेदार भी घायल हो गए। इसमें विनय शुक्ला, उनकी पत्नी आरती, जीजा राकेश त्रिपाठी व उनकी बहन नीलू जेन कार से रूमा से एक शादी समारोह में शिरकत करने के बाद लौट रहे थे। बेकाबू बस ने इस कार में भी टक्कर मारी थी। ये सभी लोग घायल हैं। इनमें से कइयों की हालत गंभीर है। इसके अलावा बाइक सवार अहिरवां निवासी सौरभ और अमित, टेंपो सवार प्रतापगढ़ निवासी जीतराम समेत अन्य छह सात लोग घायल हैं। कई घायल अलग-अलग अस्पतालों में भर्ती हो गए हैं। जिनकी पहचान अभी तक नहीं हो सकी है।

हादसा होते ही फरार हो गया चालक
घटना स्थल पर बस चालक नहीं मिला है। हादसा होते ही चालक वहां से फरार हो गया। पुलिस अब संबंधित विभाग से संपर्क कर बस चालक के बारे में पता कर रही है। उसके खिलाफ एफआईआर दर्ज कर कार्रवाई की जाएगी। पुलिस वहां लगे सीसीटीवी कैमरों के फुटेज भी पुलिस खंगाल रही है। जिससे स्पष्ट हो जाएगा कि किस तरह से हादसा हुआ।

मृतकों के शव मोर्चरी भिजवा दिए गए हैं। घायलों का अस्पताल में इलाज जारी है। बस चालक फरार है। उसकी तलाश की जा रही है। शुरुआती जांच में बस चालक की गलती पाई गई है। बाकी जांच के बाद तथ्य स्पष्ट होंगे।

शेयर करें

मुख्य समाचार

11 दिसंबर को टेट की परीक्षा, 11000 से अधिक है वैकेंसी

कोलकाता : इस वक्त की बड़ी खबर आ रही है कि  दुर्गा पूजा के बाद दिसंबर के दूसरे सप्ताह में प्राथमिक शिक्षकों की नियुक्ति के आगे पढ़ें »

पौधे लगा रहे किसान के खेत से निकला ‘बेशकीमती खजाना’!

नई दिल्ली : एक किसान पौधा लगाने के लिए जमीन खोद रहा था तभी उसका कुदाल किसी शख्त चीज से टकराने लगी। उसने अपने बेटे आगे पढ़ें »

ऊपर