सिद्धू का इस्तीफा, दिल्ली पहुंचे कैप्टन…

नई दिल्लीः पंजाब कांग्रेस में कुछ दिनों की खामोशी के बाद मंगलवार का दिन बड़े सियासी उथल-पुथल का रहा है। पंजाब के नव नियुक्त कांग्रेस प्रमुख नवजोत सिंह सिंधु ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया। वहीं, पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह, जिन्होंने हाल ही में मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दिया था, वह दिल्ली दौरे पर हैं। इस्तीफे के बाद पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा था कि वह अपने राजनीतिक विकल्प खुले रख रहे हैं। उन्होंने कांग्रेस नेतृत्व पर अपमान करने का भी आरोप लगाया था।

आइए, पंजाब के 5 बड़े सियासी घटनाक्रमों के बारे में जानते हैं:
1. अमरिंदर का दिल्ली दौरा: पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री दिल्ली के दो दिवसीय दौरे की शुरुआत करने वाले हैं। ऐसी अटकलें हैं कि कांग्रेस के दिग्गज नेता भाजपा के वरिष्ठ नेतृत्व से भी मिल सकते हैं। हालांकि, उनके मीडिया सलाहकार रवीन ठुकराल ने कहा है कि उनकी दिल्ली यात्रा के बारे में बहुत कुछ कहा जा रहा है। घटनाक्रम से परिचित एक भाजपा पदाधिकारी ने हिन्दुस्तान टाइम्स को बताया कि केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह और कैप्टन अमरिंदर सिंह के साथ एक बैठक हो सकती है।
2. सिद्धू का इस्तीफा: नवजोत सिंह सिद्धू, जो पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह के मुख्य विरोधियों में से थे और जिन्हें पंजाब पार्टी प्रमुख के रूप में भी नियुक्त किया गया था, ने नियुक्ति के दो महीने बाद अपने पद से इस्तीफा दे दिया। घटनाक्रम से परिचित लोगों ने एचटी को बताया कि सिद्धू नाखुश थे क्योंकि उन्हें पंजाब का मुख्यमंत्री नहीं बनाया गया था। उन्होंने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को एक पत्र लिखा और कहा कि वह ‘पंजाब के भविष्य और कल्याण से समझौता नहीं कर सकते’।
3. राणा गुरजीत सिंह की वापसी: राणा गुरजीत सिंह की पंजाब कैबिनेट में वापसी से भी सिद्धू भी निराश थे। कपूरथला के विधायक गुरजीत सिंह राणा को कैबिनेट में शामिल करने को लेकर कुछ विवाद था क्योंकि कई कांग्रेस नेताओं ने आलाकमान को पत्र लिखकर उन्हें कैबिनेट में शामिल नहीं करने के लिए कहा था। राणा गुरजीत सिंह कपूरथला का प्रतिनिधित्व करते हैं और अमरिंदर सरकार में मंत्री थे, लेकिन 2018 में उन्होंने इस्तीफा दे दिया था।
4. विभागों का बंटवारा: पंजाब के नए मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी ने मंगलवार को अपने नए शामिल किए गए मंत्रियों को विभाग सौंपे। अमरिंदर और सिद्धू के कदमों से कुछ घंटे पहले उन्होंने इस लंबित काम को खत्म किया।
5. अमरिंदर बनाम सिद्धू: पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री ने एक ट्वीट में दिल्ली रवाना होने से पहले अपने आलोचक पर निशाना साधा। सिद्धू के अपने पद से इस्तीफे पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए, अमरिंदर सिंह ने कहा कि पंजाब कांग्रेस के पूर्व प्रमुख की ‘अस्थिर’ प्रकृति के बारे में उन्होंने पहले ही कहा था। कैप्टन ने अपनी दिल्ली यात्रा शुरू करने से पहले एक ट्वीट में कहा, “मैंने पहले ही ऐसा कहा था… वह एक स्थिर व्यक्ति नहीं है और सीमावर्ती राज्य पंजाब के लिए फिट नहीं है।”

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

निकाय चुनावों के लिए उम्मीदवार नहीं मिल पा रहे माकपा को

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : बंगाल विधानसभा चुनाव में एक सीट नहीं जीत पाने वाली माकपा का अब यह आलम है कि उसे नगर निकायों के चुनाव आगे पढ़ें »

ऊपर