सरकार के कदम से पहले ही जनता ने लगाया ‘लॉकडाउन’

सात दिनों तक बाजार बंद करने का फैसला
नई दिल्ली : देश में कोरोना के बिगड़ते हालात पर सरकार लॉकडाउन पर क्या फैसला लेती है, यह तो वक्त बताएगा, लेकिन जनता ने अपना फैसला सुना दिया है। देश के कई राज्यों के व्यापारिक संगठनों ने अपने-अपने शहर के सभी प्रमुख बाजारों को अगले तीन से सात दिनों तक बंद कर दिया है। यानी कि देश के राज्यों की इन प्रमुख बाजारों में अगले सात दिनों तक न कोई दुकान खुलेगी ना कोई कारोबार होगा।
देश में दो लाख कोरोना के मरीजों के सामने आने के बाद अब लोगों ने अपने बचाव को लेकर खुद इंतजाम बात करने शुरू कर दिए हैं। लगातार बढ़ रहे मामलों को लेकर उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ समेत मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़, महाराष्ट्र और उड़ीसा के कई प्रमुख व्यापारिक संगठनों ने दुकानों को बंद करने का फैसला लिया है। उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के सबसे प्रमुख बाजार हजरतगंज अमीनाबाद और चौक की दुकानों को अगले तीन से सात दिनों के लिए पूर्णतया बंद कर दिया गया है। महाराष्ट्र के चंद्रपुर में भी कई मार्केट को बंद करने का फैसला लिया गया है। देश में लगातार बढ़ रहे कोरोना के मामलों को लेकर अलग-अलग राज्यों में सरकारी सख्ती से इतर लोगों ने न सिर्फ बाजारों को बंद किया, बल्कि रिहायशी इलाकों में भी खुद माइक्रो कंटेनमेंट जोन बना लिए। महाराष्ट्र के लातूर और नागपुर समेत चंद्रपुर इलाकों में लोगों ने पांच से दस-दस घरों को खुद कंटेनमेंट जोन में तब्दील कर दिया।

शेयर करें

मुख्य समाचार

सुसाइड प्वाइंट बनता जा रहा है विद्यासागर सेतु

हावड़ा ब्रिज पर रेलिंग लगने के बाद यहां पर लोगों की संख्या बढ़ी पिछले दो महीने में 5 लोगों को पुलिस ने आत्महत्या करने से बचाया सन्मार्ग आगे पढ़ें »

कोरोना संक्रमित पिता के इलाज खर्च जुगाड़ नहीं कर पाया, बेटा कुएं में कूद कर मरा

सन्मार्ग संवाददाता दुर्गापुर : प्राइवेट अस्पताल में भर्ती कोरोना संक्रमित पिता के इलाज का खर्च नहीं उठा पाने से तनावग्रस्त बेटे ने कुआं में कूदकर आत्महत्या आगे पढ़ें »

ऊपर