शीना बोरा हत्याकांडः पिछले 6 साल से जेल में इंद्राणी मुखर्जी को सुप्रीम कोर्ट से मिली जमानत

नई दिल्लीः अपनी बेटी शीना बोरा की हत्या के मामले में पिछले 6 साल से मुंबई की भायखला महिला जेल में बंद इंद्राणी मुखर्जी को आखिरकार सुप्रीम कोर्ट से जमानत मिल गई है। इससे पहले बॉम्बे हाईकोर्ट और सत्र अदालत मुखर्जी की अलग-अलग 7 जमानत याचिकाएं खारिज कर चुका है। जेल में रहने के दौरान उनका अपने पति पीटर मुखर्जी से तलाक भी हो चुका है। देश की सर्वोच्च अदालत ने इंद्राणी को यह जमानत मेडिकल ग्राउंड पर ग्रांट की है। इंद्राणी की ओर से दलील दी गई थी कि उनका मुकदमा 6 साल से भी ज्यादा समय से चल रहा है। अभी इसके जल्द निपटने की कोई संभावना नहीं है। इसे भी कोर्ट ने जमानत का एक बड़ा आधार माना है। जस्टिस एल नागेश्व राव, बीआर गवई और एएस बोपन्ना की बेंच ने यह फैसला सुनाया है। मुंबई पुलिस ने 25 अगस्त 2015 बेटी शीना की हत्या के आरोप में मुखर्जी को गिरफ्तार किया था।

कोर्ट ने कहा, ‘इंद्राणी मुखर्जी 6.5 साल से हिरासत में हैं। हम मामले की मेरिट्स पर कोई टिप्पणी नहीं कर रहे हैं। भले ही अभियोजन पक्ष की तरफ से 50 फीसदी गवाहों को छोड़ दिया गया हो, लेकिन यह मुकदमा जल्दी खत्म नहीं होगा। इसलिए उन्हें जमानत दी गई है।’
शीर्ष अदालत ने कहा कि पीटर मुखर्जी पर लागू शर्तें इंद्राणी पर भी लागू होंगी। बता दें कि इंद्राणी के पूर्व पति पीटर मुखर्जी भी इस केस में आरोपी हैं।

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

…पर अफसर बनने के बाद भूल जाते हैं गुरु को

हाई कोर्ट के मामलों के आईने में दिखती है गुरुओं की पीड़ा सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : कबीर दास का एक दोहा है : ‘गुरु गोविन्द दोऊ खड़े आगे पढ़ें »

ऊपर