वॉट्सऐप पर गंदा वीडियो, फिर पुलिस बनकर वसूली… सेक्‍स…

नई दिल्लीः राजस्‍थान के भरतपुर से एक 24 साल के शख्‍स को ब्‍लैकमेल करने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है। पुलिस के अनुसार, वह उनके विभाग के वरिष्‍ठ अधिकारियों की फोटो लगाकर रंगदारी मांग रहा था। जांच में पता चला कि उसने हाल ही में दिल्‍ली पुलिस के कमिश्‍नर राकेश अस्‍थाना की तस्‍वीर का इस्‍तेमाल ब्‍लैकमेलिंग में किया। आरोपी की पहचान भरतपुर निवासी हकमुद्दीन के रूप में हुई है।
कैसे फंसाता था जाल में?
डीसीपी (साइबर) केपीएस मल्‍होत्रा के अनुसार, एक शख्‍स ने पुलिस से शिकायत में कहा कि उसे फेसबुक पर एक महिला की रिक्‍वेस्‍ट आई। थोड़ी बातचीत के बाद उसने फोन नंबर मांगा। नंबर देने के बाद उस शख्‍स के वॉट्सऐप पर एक अनजान नंबर से पोर्नोग्रैफिक कंटेंट भेजा गया। बाद में एक मॉर्फ्ड और आपत्तिजनक वीडियो भी आया। फिर उसने राकेश अस्‍थाना की डीपी लगाकर कॉल किया और कहा कि पैसे नहीं दिए तो वीडियो इंटरनेट पर डाल देगा। उस शख्‍स ने डर के मारे 1.96 लाख रुपये दे दिए।
भरतपुर में ऐक्टिव हैं ऐसे कई गैंग
मुकदमा दर्ज करने के बाद केस एसीपी रमन लांबा को सौंप दिया गया। जांच में पता चला कि फोन नंबर असम के थे मगर इस्‍तेमाल भरतपुर में हो रहे थे। पैसों का सुराग लगाया गया तो पुलिस भरतपुर के हकमुद्दीन तक पहुंची। उसे गिरफ्तार कर लिया गया है जबकि रैकेट में शामिल तीन और साथी फरार है।

पुलिस ने कहा कि भरतपुर से ऑपरेट करने वाले गैंग लड़कियों की फेसबुक प्रोफाइल बनाकर लोगों का मेसेज करते हैं। फिर नंबर मांगने के बाद उन्‍हें फोन सेक्‍स या वीडियो कॉल पर सेक्‍स के लिए उकसाते हैं। फिर इसका वीडियो बनाकर उन्‍हें ब्‍लैकमेल किया जाता है। पुलिस ने अनजान लोगों की फेसबुक रिक्‍वेस्‍ट स्‍वीकार करने से आगाह किया है।

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

रूपा के बगावती तेवर

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : कोलकाता नगर निगम चुनाव का बिगुल बज चुका है। ऐसे में चुनाव की रणनीति तय करने के लिए राजनीतिक पार्टियों के बीच आगे पढ़ें »

ऊपर