गणतंत्र दिवस पर पहली बार होंगी ये चीजें

नई दिल्ली : इस साल की गणतंत्र दिवस परेड में कई अनूठी चीजें देखने को मिलेंगी। लोगों को इस बार कई चीजें पहली बार देखने को मिलेंगी तो वहीं कई चीजों को पहली बार मिस भी करेंगे। इस बार गणतंत्र दिवस की परेड में भारत की पहली महिला फाइटर पायलट, अंडमान और निकोबार द्वीपसमूह में तैनात सैनिकों की भागीदारी, वायु सेना में शामिल राफेल लड़ाकू विमानों द्वारा फ्लाईपास्ट, नए बने केंद्रशासित प्रदेश लद्दाख की एक झांकी लोगों को रोमांचित करेंगी।
इस बार नहीं होगा कोई चीफ गेस्ट
पांच दशक में यह पहली बार होगा की 72वीं रिपब्लिक डे परेड में कोई भी चीफ गेस्ट नहीं होगा। इसके अलावा आर्मी के वेटरन्स, मोटरसाइकिल स्टंट दिखाने वाले परेड का हिस्सा नहीं होंगे। कोरोना प्रतिबंधों के कारण परेड की लंबाई को भी कम किया गया है। इस बार परेड लाल किले से पहले ही नेशनल स्टेडियम पर ही खत्म होगी।
परेड में मार्चिंग दस्ते की संख्या होगी कम
कोरोना की वजह से इस बार परेड में मार्चिंग दस्ते की संख्या को 144 से घटा कर 96 कर दिया गया है। इससे सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का पालन सुनिश्चित हो सकेगा। परेड के सेंकड इन कमांड मेजर जनरल चीफ ऑफ स्टाफ (दिल्ली एरिया) आलोक काकेर ने कहा कि इस बार राजपथ पर परेड देखने वालों की संख्या भी 25 हजार तक ही सीमित कर दी गई है। पहले करीब 1.5 लाख लोग परेड देखने में पहुंचते थे।
देश की पहली महिला फाइटर पायलट होंगी झांकी का हिस्सा
परेड में शामिल सभी के लिए मार्च लगाना अनिवार्य होगा। देश की पहली तीन महिला पायलटों में शामिल फ्लाइट लेफ्टिनेंट भावना कंठ भारतीय वायु सेना की झांकी का हिस्सा होंगी। वायुसेना की झांकी पर हल्के लड़ाकू विमान, एक हेलीकॉप्टर के साथ ही मिसाइल से सुसज्जित सुखोई फाइटर प्लेन प्रदर्शित किया जाएगा। यह एयरफोर्स के आत्मनिर्भर भारत की संभावनाओं को दर्शाएगा। बिहार के बेगूसराय की रहने वाली भावना कंठ वर्तमान में राजस्थान में पोस्टेड हैं। यहां वह मिग-21 बाइसन जेट उड़ाती हैं।

पहली बार शामिल होगा अंडमान का दस्ता
परेड में पहली बार अंडमान और निकाबोर द्वीप से 172 मद्रास का दस्ता शामिल होगा। मेजर मनीष वर्मा इसका नेतृत्व करेंगे। इस दस्ते में 95 फीसदी सैनिक स्थानीय जनजातियों से संबंधित हैं। इस दस्ते में 96 सैनिक, 2 जेसीओ और एक अधिकारी शामिल है। मेजर वर्मा यूपी में बुलंदशहर के रहने वाले हैं।

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

शनिवार को इन कार्यों को करने से मिलता है शनिदेव का आर्शीवाद

कोलकाता : शनिदेव की शांति के लिए शनिवार का दिन अतिउत्तम माना गया है। शनिवार का दिन शनिदेव को ही समर्पित है। जिन लोगों की आगे पढ़ें »

पूजापाठ से जुड़े ये 10 नियम हमेशा रखें ध्‍यान, कभी नहीं होगा आपका नुकसान

कोलकाताः सनातन धर्म को मानने वाले लोगों के लिए पूजापाठ सबसे जरूरी क्रिया है। हिंदू धर्म के लोगों की दैनिक दिनचर्या पूजापाठ के बिना शुरू आगे पढ़ें »

ऊपर