पद्म विभूषण से सम्मानित प्रसिद्ध अंतरिक्ष वैज्ञानिक आर नरसिम्हा का निधन

बेंगलुरु : प्रख्यात अंतरिक्ष वैज्ञानिक तथा पद्म विभूषण से सम्मानित रोड्डम नरसिम्हा का सोमवार निजी अस्पताल में निधन हो गया। डॉक्टरों ने यह जानकारी दीनरसिम्हा का निधन 87 साल की उम्र में हुआ। शहर के एमएस रमैया मेमोरियल अस्पताल में न्यूरोसर्जन तथा वरिष्ठ सलाहकार डॉक्टर सुनील वी फुर्तादो ने कहा कि प्रतिष्ठित भारतीय विज्ञान संस्थान (आईआईएस) में सेवाएं देने वाले वैज्ञानिक नरसिम्हा ने रात करीब साढ़े आठ बजे अंतिम सांस ली। मस्तिष्क में रक्तस्राव के बाद 8 दिसंबर को उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया था। फुर्तादो ने कहा, ”उन्हें जब अस्पताल लाया गया था, तब उनकी हालत बेहद नाजुक थी। उनके मस्तिष्क में खून बह रहा था। वह हृदय संबंधी बीमारी से ग्रस्त थे और 2018 में उन्हें मस्तिष्काघात हुआ था।
पद्म विभूषण से हुए थे सम्मानित
केन्द्र सरकार ने नरसिम्हा को अंतरिक्ष विज्ञान के क्षेत्र में उनके योगदान के लिये 2013 में देश के दूसरे सबसे बड़े नागरिक सम्मान पद्म विभूषण से सम्मानित किया था। उनके परिवार में पत्नी व एक बेटी हैं। उनका अंतिम संस्कार मंगलवार दोपहर को किया जाएगा।
तेजस के निर्माण में थे शामिल
मालूम हो कि रोड्डम नरसिम्हा को नेशनल एयरोस्पेस लेबोरेटरीज (एनएएल) के निदेशक के रुप में भी चुना गया था। इतना ही नहीं भारत का राफेल कहे जाने वाले लड़ाकू विमान लाइट कॉम्बैट एयरक्राफ्ट (एलसीए) तेजस के डिजाइन व विकास में नरसिम्हा का महत्वपूर्ण योगदान रहा है। साथ ही उन्होंने जवाहरलाल नेहरू सेंटर फॉर एडवांस्ड साइंटिफिक रिसर्च (जेएनसीएएसआर) में भी प्राध्यापक के तौर पर काम किया है।

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

SIT constituted in body trade case

हरिश्चंद्रपुर से 32 किलोग्राम गांजा सहित 5 तस्कर गिरफ्तार

कूचबिहार के दिनहाटा से मालदह के हरिश्चंद्रपुर आये थे तस्कर मालदहः मालदह के हरिश्चंद्रपुर थानांतर्गत अंगारमनी क्षेत्र से पुलिस ने 32 किलोग्राम गांजा सहित 5 तस्करों आगे पढ़ें »

घर में मौजूद ये तीन चीजें हैं बड़े काम की, जो खोलती हैं तरक्की के दरवाजे

कोलकाता : कभी-कभी जीवन में आने वाली बड़ी-बड़ी समस्याओं का हल घर में ही मौजूद होता है लेकिन हमें जानकारी नहीं होने के कारण हम आगे पढ़ें »

ऊपर