‘मैंने चेताया, उन्होंने मजाक उड़ाया…’, सरकार ने वैज्ञानिकों की भी नहीं मानी – राहुल

नई दिल्ली : देश में बढ़ते कोरोना संक्रमण के लिए कांग्रेस सांसद राहुल गांधी ने मोदी सरकार को जिम्मेदार ठहराया है। उन्होंने आरोप लगाया कि सरकार ने महामारी से निपटने के लिए सही कदम नहीं उठाए और जो भी चेतावनी दी गई, उसे नजरअंदाज किया गया। राहुल गांधी ने ये बातें एक इंटरव्यू में कही। राहुल ने कहा कि भारत में जिस तरह से कोरोना ने अपना प्रकोप दिखाया है, उसने सारी दुनिया को हिला कर रख दिया है। देश में हर जगह लाइन लगी हुई है। कहीं ऑक्सीजन के लिए, कहीं दवाइयों के लिए तो कहीं बेड के लिए , यहां तक कि श्मशान के बाहर भी लाइन लगी है। राहुल ने कहा महामारी को लेकर जो भी पहले चेतावनी जारी की गई, सरकार ने उसे नजरअंदाज कर दिया। उन्होंने आगे कहा, “ऐसा नहीं होना चाहिए था। कई बार चेतावनी दी गईं। वैज्ञानिकों ने कई बार सरकार को चेताया, लेकिन सरकार ने उसे नजरअंदाज कर दिया। हमें और बेहतर तैयारी करनी चाहिए थी और हम ऐसा कर सकते थे और अब, सरकार कहां है? इस सब से वो पूरी तरह गायब है। वो प्रधानमंत्री की छवि बचाने में और दूसरों पर दोष मढ़ने पर लगी है। आजकल एक नया शब्द चर्चा में है कि सिस्टम फेल हो गया। ये सिस्टम कौन है? सिस्टम कौन चलाता है? ये सिर्फ जिम्मेदारियों से भागने की एक चाल है।” उन्होंने सवाल उठाते हुए कहा, “प्रधानमंत्री के पास पूरा एक साल था लेकिन उन्होंने क्या किया? क्या प्रधानमंत्री और सरकार ने ऑक्सीजन कैपेसिटी बढ़ाने पर काम किया, क्या टेस्टिंग बढ़ाई गई, क्या अस्पतालों में बेड और वेंटिलेटर्स बढ़ाए गए? क्या पीएम ने हेल्थ इन्फ्रास्ट्रक्चर के बारे में सोचा? हम पहले भी पर्याप्त टेस्टिंग नहीं कर रहे थे और अभी भी नहीं कर रहे हैं।”
शेयर करें

मुख्य समाचार

महानगर के तीन घाटों में 1300 प्रतिमाओं का हुआ विसर्जन

कोलकाता : विजयादशमी यानी बुधवार को महानगर के तीन घाटों पर 1300 से अधिक दुर्गा प्रतिमाओं के विसर्जन किए गए। सबसे अधिक विसर्जन ग्वालियर घाट आगे पढ़ें »

यहां नौकरी के लिए रखी जाती है ऐसी शर्तें… कहीं चाहिए पतली कमर तो कहीं टॉयलेट…

नई दिल्लीः दुनियाभर में कंपनियों के अलग-अलग नियम होते हैं। कहीं पर आपको सिर्फ फॉर्मल कपड़े पहनकर आने होते हैं, तो कहीं पर कपड़ों को आगे पढ़ें »

ऊपर