कोरोना वैक्सीन के लिए मची होड़

– क्या आपका नाम प्राथमिकता लिस्‍ट में है ?

नई दिल्ली : शुक्रवार को सर्वदलीय बैठक में प्रधानमंत्री मोदी ने आश्वासन दिया कि अगले कुछ हफ्तों में कोरोना वैक्‍सीन तैयार हो जाएगी। उन्‍होंने कहा कि ‘जैसे ही वैज्ञानिकों की हरी झंडी मिलेगी, भारत में टीकाकरण अभियान शुरू कर दिया जाएगा।’ हालांकि उन्हाेंने टीकाकरण अभियान पर विस्‍तार से तो कुछ नहीं कहा मगर यह जरूरी स्पष्ट किया कि ‘पहले चरण में किसे वैक्सीन लगेगी, इसे लेकर भी केंद्र सरकार राज्य सरकारों से मिले सुझावों के आधार पर काम कर रही है।’

सरकार ने पहले चरण के लिए चार प्राथमिकता समूहों की पहचान की है। इनमें जरूरी सेवाओं से लेकर ऐसे लोग शामिल होंगे जिन्‍हें कोविड-19 से ज्‍यादा खतरा है। प्रधानमंत्री मोदी ने इन ग्रुप्‍स के बारे में भी जानकारी दी। ये चार प्रॉयरिटी ग्रुप्‍स इस प्रकार हैं –

कोरोना के टीके सबसे पहले हेल्‍थकेयर वर्कर्स को
पहला प्रॉयरिटी ग्रुप है हेल्‍थकेयर वर्कर्स का। इनमें वो लोग हैं जिन्‍होंने महामारी की शुरुआत से लड़ाई लड़ी है। डॉक्‍टर्स, नर्सेज, पैरामेडिक्‍स, हेल्‍थकेयर सपोर्ट स्‍टाफ इस ग्रुप में शामिल होंगे। चूंकि ये कोविड मरीजों के सबसे ज्‍यादा संपर्क में आते हैं इसलिए संक्रमण का खतरा भी सबसे ज्‍यादा इन्‍हें ही है। ऐसे में टीके पर सबसे पहला अधिकार इन्‍हीं का होगा।

फिर आएगी फ्रंटलाइन वर्कर्स की बारी
सरकार का दूसरा प्रॉयरिटी ग्रुप है फ्रंटलाइन वर्कर्स का। हेल्‍थकेयर के अलावा कई ऐसी सेवाएं रहीं हैं जिन्‍होंने महामारी के समय में भी नागरिकों का ध्‍यान रखना नहीं छोड़ा। सेना, पुलिस, फायर ब्रिगेड, नगर निगम जैसे सेक्‍टर्स इसका हिस्‍सा होंगे। ये वो लोग हैं जिन्‍होंने देश की डिफेंस और सिविक जरूरतों का महामारी के वक्‍त ध्‍यान रखा है इसलिए कोविड वैक्‍सीन की लिस्‍ट में उनका नंबर दूसरा होगा।

तीसरे ग्रुप में 50 साल से ज्‍यादा उम्र वाले लोग
पहले चरण में हेल्‍थकेयर और फ्रंटलाइन वर्कर्स के बाद, ऐसे लोगों को टीका दिया जाएगा जिनकी उम्र 50 साल से ज्‍यादा है। कोविड-19 का प्रभाव इससे ज्‍यादा उम्र वाले लोगों पर अधिक देखने को मिला है। मौतों के आंकड़े भी 50 साल से ज्‍यादा उम्र वाले मरीजों में ज्‍यादा हैं। ऐसे में जरूरी हो जाता है कि वैक्‍सीन उन्‍हें पहले मिले। सरकार ने बुजुर्ग लोगों को प्रॉयरिटी लिस्‍ट में तीसरे नंबर पर रखा है। यानी अगर आपकी उम्र 50 साल से ज्‍यादा है तो आपको पहले चरण में ही टीका लग जाएगा।

50 से कम उम्र व गंभीर बीमारी पीड़ितों को लगेगा टीका
चौथा प्रॉयरिटी ग्रुप ऐसे लोगों का होगा जो 50 साल से कम उम्र के होंगे मगर उन्‍हें पहले से गंभीर बीमारियां हैं। यह पहले चरण का दूसरा सबसे बड़ा प्रॉयरिटी ग्रुप होगा। दो या उससे ज्‍यादा बीमारियों वाले लोगों को ‘हल्‍के, मॉडरेट और गंभीर’ में क्‍लासिफाइड किया जा सकता है ताकि उसी हिसाब से टीकाकरण के लिए बुलाया जाए। पहले चरण से किडनी की हल्‍की बीमारी या मॉडरेट हाई ब्‍लड प्रेशर वाले मरीजों को बाहर रखे जाने की संभावना है।

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

मार्च तक सभी ट्रेनें चलने की उम्मीद

अभी 1100 स्पेशल गाड़ियां चल रहीं, इनमें दोगुना किराया वसूला जा रहा नई दिल्ली : देश में कोरोना की स्थिति में सुधार के बावजूद बड़ी संख्या आगे पढ़ें »

रिलीज के साथ ही छा गया खेसारी का नया गाना

कोलकाता : अपनी आवाज और अदाकारी से लाखों लोगों को दीवाना बना चुके भोजपुरी फिल्म इंडस्ट्री के सुपरस्टार एक्टर खेसारी लाल यादव का नया वीडियो आगे पढ़ें »

ऊपर