नकली शादी कर 50 से ज्यादा परिवारों को लूटने वाली 9 दुल्हनें गिरफ्तार

पुणेः पुणे क्राइम ब्रांच ने एक ऐसे अंतरराज्यीय गिरोह का खुलासा किया है, जिसमें शामिल महिलाएं नकली शादी करके लोगों को लूटती थीं। इस गिरोह की नौ महिलाओं और दो पुरुषों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। कुछ अन्य की तलाश जारी है। इन्होंने महाराष्ट्र, गुजरात और कर्नाटक में 50 से अधिक परिवारों में शादी की और उनके गहने, पैसे, कीमती सामान लूटकर फरार हो गईं। क्राइम ब्रांच की टीम ने जिन महिलाओं को पकड़ा है उनकी उम्र 22 से 35 साल के बीच है। पुलिस का मानना है कि गिरोह की 12 से ज्यादा महिलाएं अभी फरार हैं। इस गिरोह ने शादी के नाम पर नासिक, पुणे, सोलापुर, गुलबर्गा, वापी और कोल्हापुर में लोगों को लूटा है।

लूट के एक मामले की जांच के दौरान रैकेट का खुलासा हुआ
पुणे ग्रामीण पुलिस की स्थानीय अपराध शाखा एक व्यक्ति (पहचान उजागर न हो इसलिए नाम नहीं दे रहे) से ढाई लाख रुपए लूटे जाने के मामले की जांच कर रही थी। पीड़ित ने बताया कि ज्योति पाटिल (35) करीब एक महीने पहले उनसे मिली थी। खुद को बेसहारा और गरीब बताकर शादी की पेशकश की। उन्होंने जनवरी के तीसरे हफ्ते में शादी कर ली। पिछले हफ्ते पीड़ित परिवार ने लूट की शिकायत दर्ज कराई।

क्राइम ब्रांच की टीम ने पड़ताल शुरू की तो ज्योति के एक दोस्त का पता चला। उसने बताया कि ज्योति पहले से शादीशुदा है और उसके दो बच्चे भी हैं। पुलिस का कहना है कि ज्योति ही इस गिरोह की सरगना है।

पुलिस ने लोगों से आगे आने को कहा
पुलिस ने अब तक ज्योति पाटिल समेत नौ महिलाओं और दो पुरुषों को गिरफ्तार किया है। ज्योति ने माना है कि उसने अब तक पांच पुरुषों से शादी की है। हालांकि, इसमें से सिर्फ एक ने पुलिस में शिकायत दर्ज करवाई। इस मामले को लेकर पुणे ग्रामीण पुलिस के एसपी अभिनव देशमुख ने कहा, ‘हम लोगों से अपील करना चाहते हैं कि जिन के साथ भी इस तरह की लूट हुई है वे सामने आएं और हमें बताएं, ताकि ऐसे और केस का खुलासा हो सके’।

शेयर करें

मुख्य समाचार

ब्रिगेड की सभा में शामिल होंगे अब्बास सिद्दीकी

कोलकाताः इंडियन सेक्युलर फ्रंट इस बार किसी पार्टी के लिए सत्ता बना सकती है और किसी की बिगाड़ भी सकती है। माकपा के साथ बातचीत आगे पढ़ें »

घुसुड़ी में दिन दहाड़े युवक को मारी गयी गोली, मौत

साल 2012 में युवक के पिता विजय महतो की भी हत्या हुई थीआपसी विवाद बताया जा रहा है मुख्य कारणहावड़ा : शीतना मां के स्नान आगे पढ़ें »

ऊपर